Question and Answer forum for K12 Students

Hindi Essay (Hindi Nibandh) 100 विषयों पर हिंदी निबंध लेखन

Hindi Essay (Hindi Nibandh) | 100 विषयों पर हिंदी निबंध लेखन – Essays in Hindi on 100 Topics

हिंदी निबंध: हिंदी हमारी राष्ट्रीय भाषा है। हमारे हिंदी भाषा कौशल को सीखना और सुधारना भारत के अधिकांश स्थानों में सेवा करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। स्कूली दिनों से ही हम हिंदी भाषा सीखते थे। कुछ स्कूल और कॉलेज हिंदी के अतिरिक्त बोर्ड और निबंध बोर्ड में निबंध लेखन का आयोजन करते हैं, छात्रों को बोर्ड परीक्षा में हिंदी निबंध लिखने की आवश्यकता होती है।

निबंध – Nibandh In Hindi – Hindi Essay Topics

  • सच्चा धर्म पर निबंध – (True Religion Essay)
  • राष्ट्र निर्माण में युवाओं का योगदान निबंध – (Role Of Youth In Nation Building Essay)
  • अतिवृष्टि पर निबंध – (Flood Essay)
  • राष्ट्र निर्माण में शिक्षक की भूमिका पर निबंध – (Role Of Teacher In Nation Building Essay)
  • नक्सलवाद पर निबंध – (Naxalism In India Essay)
  • साहित्य समाज का दर्पण है हिंदी निबंध – (Literature And Society Essay)
  • नशे की दुष्प्रवृत्ति निबंध – (Drug Abuse Essay)
  • मन के हारे हार है मन के जीते जीत पर निबंध – (It is the Mind which Wins and Defeats Essay)
  • एक राष्ट्र एक कर : जी०एस०टी० ”जी० एस०टी० निबंध – (Gst One Nation One Tax Essay)
  • युवा पर निबंध – (Youth Essay)
  • अक्षय ऊर्जा : सम्भावनाएँ और नीतियाँ निबंध – (Renewable Sources Of Energy Essay)
  • मूल्य-वृदधि की समस्या निबंध – (Price Rise Essay)
  • परहित सरिस धर्म नहिं भाई निबंध – (Philanthropy Essay)
  • पर्वतीय यात्रा पर निबंध – (Parvatiya Yatra Essay)
  • असंतुलित लिंगानुपात निबंध – (Sex Ratio Essay)
  • मनोरंजन के आधुनिक साधन पर निबंध – (Means Of Entertainment Essay)
  • मेट्रो रेल पर निबंध – (Metro Rail Essay)
  • दूरदर्शन पर निबंध – (Importance Of Doordarshan Essay)
  • दूरदर्शन और युवावर्ग पर निबंध – (Doordarshan Essay)
  • बस्ते का बढ़ता बोझ पर निबंध – (Baste Ka Badhta Bojh Essay)
  • महानगरीय जीवन पर निबंध – (Metropolitan Life Essay)
  • दहेज नारी शक्ति का अपमान है पे निबंध – (Dowry Problem Essay)
  • सुरीला राजस्थान निबंध – (Folklore Of Rajasthan Essay)
  • राजस्थान में जल संकट पर निबंध – (Water Scarcity In Rajasthan Essay)
  • खुला शौच मुक्त गाँव पर निबंध – (Khule Me Soch Mukt Gaon Par Essay)
  • रंगीला राजस्थान पर निबंध – (Rangila Rajasthan Essay)
  • राजस्थान के लोकगीत पर निबंध – (Competition Of Rajasthani Folk Essay)
  • मानसिक सुख और सन्तोष निबंध – (Happiness Essay)
  • मेरे जीवन का लक्ष्य पर निबंध नंबर – (My Aim In Life Essay)
  • राजस्थान में पर्यटन पर निबंध – (Tourist Places Of Rajasthan Essay)
  • नर हो न निराश करो मन को पर निबंध – (Nar Ho Na Nirash Karo Man Ko Essay)
  • राजस्थान के प्रमुख लोक देवता पर निबंध – (The Major Folk Deities Of Rajasthan Essay)
  • देशप्रेम पर निबंध – (Patriotism Essay)
  • पढ़ें बेटियाँ, बढ़ें बेटियाँ योजना यूपी में लागू निबंध – (Read Daughters, Grow Daughters Essay)
  • सत्संगति का महत्व पर निबंध – (Satsangati Ka Mahatva Nibandh)
  • सिनेमा और समाज पर निबंध – (Cinema And Society Essay)
  • विपत्ति कसौटी जे कसे ते ही साँचे मीत पर निबंध – (Vipatti Kasauti Je Kase Soi Sache Meet Essay)
  • लड़का लड़की एक समान पर निबंध – (Ladka Ladki Ek Saman Essay)
  • विज्ञापन के प्रभाव – (Paragraph Speech On Vigyapan Ke Prabhav Essay)
  • रेलवे प्लेटफार्म का दृश्य पर निबंध – (Railway Platform Ka Drishya Essay)
  • समाचार-पत्र का महत्त्व पर निबंध – (Importance Of Newspaper Essay)
  • समाचार-पत्रों से लाभ पर निबंध – (Samachar Patr Ke Labh Essay)
  • समाचार पत्र पर निबंध (Newspaper Essay in Hindi)
  • व्यायाम का महत्व निबंध – (Importance Of Exercise Essay)
  • विद्यार्थी जीवन पर निबंध – (Student Life Essay)
  • विद्यार्थी और राजनीति पर निबंध – (Students And Politics Essay)
  • विद्यार्थी और अनुशासन पर निबंध – (Vidyarthi Aur Anushasan Essay)
  • मेरा प्रिय त्यौहार निबंध – (My Favorite Festival Essay)
  • मेरा प्रिय पुस्तक पर निबंध – (My Favourite Book Essay)
  • पुस्तक मेला पर निबंध – (Book Fair Essay)
  • मेरा प्रिय खिलाड़ी निबंध हिंदी में – (My Favorite Player Essay)
  • सर्वधर्म समभाव निबंध – (All Religions Are Equal Essay)
  • शिक्षा में खेलकूद का स्थान निबंध – (Shiksha Mein Khel Ka Mahatva Essay)a
  • खेल का महत्व पर निबंध – (Importance Of Sports Essay)
  • क्रिकेट पर निबंध – (Cricket Essay)
  • ट्वेन्टी-20 क्रिकेट पर निबंध – (T20 Cricket Essay)
  • मेरा प्रिय खेल-क्रिकेट पर निबंध – (My Favorite Game Cricket Essay)
  • पुस्तकालय पर निबंध – (Library Essay)
  • सूचना प्रौद्योगिकी और मानव कल्याण निबंध – (Information Technology Essay)
  • कंप्यूटर और टी.वी. का प्रभाव निबंध – (Computer Aur Tv Essay)
  • कंप्यूटर की उपयोगिता पर निबंध – (Computer Ki Upyogita Essay)
  • कंप्यूटर शिक्षा पर निबंध – (Computer Education Essay)
  • कंप्यूटर के लाभ पर निबंध – (Computer Ke Labh Essay)
  • इंटरनेट पर निबंध – (Internet Essay)
  • विज्ञान: वरदान या अभिशाप पर निबंध – (Science Essay)
  • शिक्षा का गिरता स्तर पर निबंध – (Falling Price Level Of Education Essay)
  • विज्ञान के गुण और दोष पर निबंध – (Advantages And Disadvantages Of Science Essay)
  • विद्यालय में स्वास्थ्य शिक्षा निबंध – (Health Education Essay)
  • विद्यालय का वार्षिकोत्सव पर निबंध – (Anniversary Of The School Essay)
  • विज्ञान के वरदान पर निबंध – (The Gift Of Science Essays)
  • विज्ञान के चमत्कार पर निबंध (Wonder Of Science Essay in Hindi)
  • विकास पथ पर भारत निबंध – (Development Of India Essay)
  • कम्प्यूटर : आधुनिक यन्त्र–पुरुष – (Computer Essay)
  • मोबाइल फोन पर निबंध (Mobile Phone Essay)
  • मेरी अविस्मरणीय यात्रा पर निबंध – (My Unforgettable Trip Essay)
  • मंगल मिशन (मॉम) पर निबंध – (Mars Mission Essay)
  • विज्ञान की अद्भुत खोज कंप्यूटर पर निबंध – (Vigyan Ki Khoj Kampyootar Essay)
  • भारत का उज्जवल भविष्य पर निबंध – (Freedom Is Our Birthright Essay)
  • सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा निबंध इन हिंदी – (Sare Jahan Se Achha Hindustan Hamara Essay)
  • डिजिटल इंडिया पर निबंध (Essay on Digital India)
  • भारतीय संस्कृति पर निबंध – (India Culture Essay)
  • राष्ट्रभाषा हिन्दी निबंध – (National Language Hindi Essay)
  • भारत में जल संकट निबंध – (Water Crisis In India Essay)
  • कौशल विकास योजना पर निबंध – (Skill India Essay)
  • हमारा प्यारा भारत वर्ष पर निबंध – (Mera Pyara Bharat Varsh Essay)
  • अनेकता में एकता : भारत की विशेषता – (Unity In Diversity Essay)
  • महंगाई की समस्या पर निबन्ध – (Problem Of Inflation Essay)
  • महंगाई पर निबंध – (Mehangai Par Nibandh)
  • आरक्षण : देश के लिए वरदान या अभिशाप निबंध – (Reservation System Essay)
  • मेक इन इंडिया पर निबंध (Make In India Essay In Hindi)
  • ग्रामीण समाज की समस्याएं पर निबंध – (Problems Of Rural Society Essay)
  • मेरे सपनों का भारत पर निबंध – (India Of My Dreams Essay)
  • भारतीय राजनीति में जातिवाद पर निबंध – (Caste And Politics In India Essay)
  • भारतीय नारी पर निबंध – (Indian Woman Essay)
  • आधुनिक नारी पर निबंध – (Modern Women Essay)
  • भारतीय समाज में नारी का स्थान निबंध – (Women’s Role In Modern Society Essay)
  • चुनाव पर निबंध – (Election Essay)
  • चुनाव स्थल के दृश्य का वर्णन निबन्ध – (An Election Booth Essay)
  • पराधीन सपनेहुँ सुख नाहीं पर निबंध – (Dependence Essay)
  • परमाणु शक्ति और भारत हिंदी निंबध – (Nuclear Energy Essay)
  • यदि मैं प्रधानमंत्री होता तो हिंदी निबंध – (If I were the Prime Minister Essay)
  • आजादी के 70 साल निबंध – (India ofter 70 Years Of Independence Essay)
  • भारतीय कृषि पर निबंध – (Indian Farmer Essay)
  • संचार के साधन पर निबंध – (Means Of Communication Essay)
  • भारत में दूरसंचार क्रांति हिंदी में निबंध – (Telecom Revolution In India Essay)
  • दूरसंचार में क्रांति निबंध – (Revolution In Telecommunication Essay)
  • राष्ट्रीय एकता का महत्व पर निबंध (Importance Of National Integration)
  • भारत की ऋतुएँ पर निबंध – (Seasons In India Essay)
  • भारत में खेलों का भविष्य पर निबंध – (Future Of Sports Essay)
  • किसी खेल (मैच) का आँखों देखा वर्णन पर निबंध – (Kisi Match Ka Aankhon Dekha Varnan Essay)
  • राजनीति में अपराधीकरण पर निबंध – (Criminalization Of Indian Politics Essay)
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हिन्दी निबंध – (Narendra Modi Essay)
  • बाल मजदूरी पर निबंध – (Child Labour Essay)
  • भ्रष्टाचार पर निबंध (Corruption Essay in Hindi)
  • महिला सशक्तिकरण पर निबंध – (Women Empowerment Essay)
  • बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध (Beti Bachao Beti Padhao)
  • गरीबी पर निबंध (Poverty Essay in Hindi)
  • स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay)
  • बाल विवाह एक अभिशाप पर निबंध – (Child Marriage Essay)
  • राष्ट्रीय एकीकरण पर निबंध – (Importance of National Integration Essay)
  • आतंकवाद पर निबंध (Terrorism Essay in hindi)
  • सड़क सुरक्षा पर निबंध (Road Safety Essay in Hindi)
  • बढ़ती भौतिकता घटते मानवीय मूल्य पर निबंध – (Increasing Materialism Reducing Human Values Essay)
  • गंगा की सफाई देश की भलाई पर निबंध – (The Good Of The Country: Cleaning The Ganges Essay)
  • सत्संगति पर निबंध – (Satsangati Essay)
  • महिलाओं की समाज में भूमिका पर निबंध – (Women’s Role In Society Today Essay)
  • यातायात के नियम पर निबंध – (Traffic Safety Essay)
  • बेटी बचाओ पर निबंध – (Beti Bachao Essay)
  • सिनेमा या चलचित्र पर निबंध – (Cinema Essay In Hindi)
  • परहित सरिस धरम नहिं भाई पर निबंध – (Parhit Saris Dharam Nahi Bhai Essay)
  • पेड़-पौधे का महत्व निबंध – (The Importance Of Trees Essay)
  • वर्तमान शिक्षा प्रणाली – (Modern Education System Essay)
  • महिला शिक्षा पर निबंध (Women Education Essay In Hindi)
  • महिलाओं की समाज में भूमिका पर निबंध (Women’s Role In Society Essay In Hindi)
  • यदि मैं प्रधानाचार्य होता पर निबंध – (If I Was The Principal Essay)
  • बेरोजगारी पर निबंध (Unemployment Essay)
  • शिक्षित बेरोजगारी की समस्या निबंध – (Problem Of Educated Unemployment Essay)
  • बेरोजगारी समस्या और समाधान पर निबंध – (Unemployment Problem And Solution Essay)
  • दहेज़ प्रथा पर निबंध (Dowry System Essay in Hindi)
  • जनसँख्या पर निबंध – (Population Essay)
  • श्रम का महत्त्व निबंध – (Importance Of Labour Essay)
  • जनसंख्या वृद्धि के दुष्परिणाम पर निबंध – (Problem Of Increasing Population Essay)
  • भ्रष्टाचार : समस्या और निवारण निबंध – (Corruption Problem And Solution Essay)
  • मीडिया और सामाजिक उत्तरदायित्व निबंध – (Social Responsibility Of Media Essay)
  • हमारे जीवन में मोबाइल फोन का महत्व पर निबंध – (Importance Of Mobile Phones Essay In Our Life)
  • विश्व में अत्याधिक जनसंख्या पर निबंध – (Overpopulation in World Essay)
  • भारत में बेरोजगारी की समस्या पर निबंध – (Problem Of Unemployment In India Essay)
  • गणतंत्र दिवस पर निबंध – (Republic Day Essay)
  • भारत के गाँव पर निबंध – (Indian Village Essay)
  • गणतंत्र दिवस परेड पर निबंध – (Republic Day of India Essay)
  • गणतंत्र दिवस के महत्व पर निबंध – (2020 – Republic Day Essay)
  • महात्मा गांधी पर निबंध (Mahatma Gandhi Essay)
  • ए.पी.जे. अब्दुल कलाम पर निबंध – (Dr. A.P.J. Abdul Kalam Essay)
  • परिवार नियोजन पर निबंध – (Family Planning In India Essay)
  • मेरा सच्चा मित्र पर निबंध – (My Best Friend Essay)
  • अनुशासन पर निबंध (Discipline Essay)
  • देश के प्रति मेरे कर्त्तव्य पर निबंध – (My Duty Towards My Country Essay)
  • समय का सदुपयोग पर निबंध – (Samay Ka Sadupyog Essay)
  • नागरिकों के अधिकारों और कर्तव्यों पर निबंध (Rights And Responsibilities Of Citizens Essay In Hindi)
  • ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध – (Global Warming Essay)
  • जल जीवन का आधार निबंध – (Jal Jeevan Ka Aadhar Essay)
  • जल ही जीवन है निबंध – (Water Is Life Essay)
  • प्रदूषण की समस्या और समाधान पर लघु निबंध – (Pollution Problem And Solution Essay)
  • प्रकृति संरक्षण पर निबंध (Conservation of Nature Essay In Hindi)
  • वन जीवन का आधार निबंध – (Forest Essay)
  • पर्यावरण बचाओ पर निबंध (Environment Essay)
  • पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध (Environmental Pollution Essay in Hindi)
  • पर्यावरण सुरक्षा पर निबंध (Environment Protection Essay In Hindi)
  • बढ़ते वाहन घटता जीवन पर निबंध – (Vehicle Pollution Essay)
  • योग पर निबंध (Yoga Essay)
  • मिलावटी खाद्य पदार्थ और स्वास्थ्य पर निबंध – (Adulterated Foods And Health Essay)
  • प्रकृति निबंध – (Nature Essay In Hindi)
  • वर्षा ऋतु पर निबंध – (Rainy Season Essay)
  • वसंत ऋतु पर निबंध – (Spring Season Essay)
  • बरसात का एक दिन पर निबंध – (Barsat Ka Din Essay)
  • अभ्यास का महत्व पर निबंध – (Importance Of Practice Essay)
  • स्वास्थ्य ही धन है पर निबंध – (Health Is Wealth Essay)
  • महाकवि तुलसीदास का जीवन परिचय निबंध – (Tulsidas Essay)
  • मेरा प्रिय कवि निबंध – (My Favourite Poet Essay)
  • मेरी प्रिय पुस्तक पर निबंध – (My Favorite Book Essay)
  • कबीरदास पर निबन्ध – (Kabirdas Essay)

इसलिए, यह जानना और समझना बहुत महत्वपूर्ण है कि विषय के बारे में संक्षिप्त और कुरकुरा लाइनों के साथ एक आदर्श हिंदी निबन्ध कैसे लिखें। साथ ही, कक्षा 1 से 10 तक के छात्र उदाहरणों के साथ इस पृष्ठ से विभिन्न हिंदी निबंध विषय पा सकते हैं। तो, छात्र आसानी से स्कूल और प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए हिंदी में निबन्ध कैसे लिखें, इसकी तैयारी कर सकते हैं। इसके अलावा, आप हिंदी निबंध लेखन की संरचना, हिंदी में एक प्रभावी निबंध लिखने के लिए टिप्स आदि के बारे में कुछ विस्तृत जानकारी भी प्राप्त कर सकते हैं। ठीक है, आइए हिंदी निबन्ध के विवरण में गोता लगाएँ।

हिंदी निबंध लेखन – स्कूल और प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए हिंदी में निबन्ध कैसे लिखें?

प्रभावी निबंध लिखने के लिए उस विषय के बारे में बहुत अभ्यास और गहन ज्ञान की आवश्यकता होती है जिसे आपने निबंध लेखन प्रतियोगिता या बोर्ड परीक्षा के लिए चुना है। छात्रों को वर्तमान में हो रही स्थितियों और हिंदी में निबंध लिखने से पहले विषय के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं के बारे में जानना चाहिए। हिंदी में पावरफुल निबन्ध लिखने के लिए सभी को कुछ प्रमुख नियमों और युक्तियों का पालन करना होगा।

हिंदी निबन्ध लिखने के लिए आप सभी को जो प्राथमिक कदम उठाने चाहिए उनमें से एक सही विषय का चयन करना है। इस स्थिति में आपकी सहायता करने के लिए, हमने सभी प्रकार के हिंदी निबंध विषयों पर शोध किया है और नीचे सूचीबद्ध किया है। एक बार जब हम सही विषय चुन लेते हैं तो विषय के बारे में सभी सामान्य और तथ्यों को एकत्र करते हैं और अपने पाठकों को संलग्न करने के लिए उन्हें अपने निबंध में लिखते हैं।

तथ्य आपके पाठकों को अंत तक आपके निबंध से चिपके रहेंगे। इसलिए, हिंदी में एक निबंध लिखते समय मुख्य बिंदुओं पर ध्यान केंद्रित करें और किसी प्रतियोगिता या बोर्ड या प्रतिस्पर्धी जैसी परीक्षाओं में अच्छा स्कोर करें। ये हिंदी निबंध विषय पहली कक्षा से 10 वीं कक्षा तक के सभी कक्षा के छात्रों के लिए उपयोगी हैं। तो, उनका सही ढंग से उपयोग करें और हिंदी भाषा में एक परिपूर्ण निबंध बनाएं।

हिंदी भाषा में दीर्घ और लघु निबंध विषयों की सूची

हिंदी निबन्ध विषयों और उदाहरणों की निम्न सूची को विभिन्न श्रेणियों में विभाजित किया गया है जैसे कि प्रौद्योगिकी, पर्यावरण, सामान्य चीजें, अवसर, खेल, खेल, स्कूली शिक्षा, और बहुत कुछ। बस अपने पसंदीदा हिंदी निबंध विषयों पर क्लिक करें और विषय पर निबंध के लघु और लंबे रूपों के साथ विषय के बारे में पूरी जानकारी आसानी से प्राप्त करें।

विषय के बारे में समग्र जानकारी एकत्रित करने के बाद, अपनी लाइनें लागू करने का समय और हिंदी में एक प्रभावी निबन्ध लिखने के लिए। यहाँ प्रचलित सभी विषयों की जाँच करें और किसी भी प्रकार की प्रतियोगिताओं या परीक्षाओं का प्रयास करने से पहले जितना संभव हो उतना अभ्यास करें।

हिंदी निबंधों की संरचना

Hindi Essay Parts

उपरोक्त छवि आपको हिंदी निबन्ध की संरचना के बारे में प्रदर्शित करती है और आपको निबन्ध को हिन्दी में प्रभावी ढंग से रचने के बारे में कुछ विचार देती है। यदि आप स्कूल या कॉलेजों में निबंध लेखन प्रतियोगिता में किसी भी विषय को लिखते समय निबंध के इन हिस्सों का पालन करते हैं तो आप निश्चित रूप से इसमें पुरस्कार जीतेंगे।

इस संरचना को बनाए रखने से निबंध विषयों का अभ्यास करने से छात्रों को विषय पर ध्यान केंद्रित करने और विषय के बारे में छोटी और कुरकुरी लाइनें लिखने में मदद मिलती है। इसलिए, यहां संकलित सूची में से अपने पसंदीदा या दिलचस्प निबंध विषय को हिंदी में चुनें और निबंध की इस मूल संरचना का अनुसरण करके एक निबंध लिखें।

हिंदी में एक सही निबंध लिखने के लिए याद रखने वाले मुख्य बिंदु

अपने पाठकों को अपने हिंदी निबंधों के साथ संलग्न करने के लिए, आपको हिंदी में एक प्रभावी निबंध लिखते समय कुछ सामान्य नियमों का पालन करना चाहिए। कुछ युक्तियाँ और नियम इस प्रकार हैं:

  • अपना हिंदी निबंध विषय / विषय दिए गए विकल्पों में से समझदारी से चुनें।
  • अब उन सभी बिंदुओं को याद करें, जो निबंध लिखने शुरू करने से पहले विषय के बारे में एक विचार रखते हैं।
  • पहला भाग: परिचय
  • दूसरा भाग: विषय का शारीरिक / विस्तार विवरण
  • तीसरा भाग: निष्कर्ष / अंतिम शब्द
  • एक निबंध लिखते समय सुनिश्चित करें कि आप एक सरल भाषा और शब्दों का उपयोग करते हैं जो विषय के अनुकूल हैं और एक बात याद रखें, वाक्यों को जटिल न बनाएं,
  • जानकारी के हर नए टुकड़े के लिए निबंध लेखन के दौरान एक नए पैराग्राफ के साथ इसे शुरू करें।
  • अपने पाठकों को आकर्षित करने या उत्साहित करने के लिए जहाँ कहीं भी संभव हो, कुछ मुहावरे या कविताएँ जोड़ें और अपने हिंदी निबंध के साथ संलग्न रहें।
  • विषय या विषय को बीच में या निबंध में जारी रखने से न चूकें।
  • यदि आप संक्षेप में हिंदी निबंध लिख रहे हैं तो इसे 200-250 शब्दों में समाप्त किया जाना चाहिए। यदि यह लंबा है, तो इसे 400-500 शब्दों में समाप्त करें।
  • महत्वपूर्ण हिंदी निबंध विषयों का अभ्यास करते समय इन सभी युक्तियों और बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए, आप निश्चित रूप से किसी भी प्रतियोगी परीक्षाओं में कुरकुरा और सही निबंध लिख सकते हैं या फिर सीबीएसई, आईसीएसई जैसी बोर्ड परीक्षाओं में।

हिंदी निबंध लेखन पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

1. मैं अपने हिंदी निबंध लेखन कौशल में सुधार कैसे कर सकता हूं? अपने हिंदी निबंध लेखन कौशल में सुधार करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक किताबों और समाचार पत्रों को पढ़ना और हिंदी में कुछ जानकारीपूर्ण श्रृंखलाओं को देखना है। ये चीजें आपकी हिंदी शब्दावली में वृद्धि करेंगी और आपको हिंदी में एक प्रेरक निबंध लिखने में मदद करेंगी।

2. CBSE, ICSE बोर्ड परीक्षा के लिए हिंदी निबंध लिखने में कितना समय देना चाहिए? हिंदी बोर्ड परीक्षा में एक प्रभावी निबंध लिखने पर 20-30 का खर्च पर्याप्त है। क्योंकि परीक्षा हॉल में हर मिनट बहुत महत्वपूर्ण है। इसलिए, सभी वर्गों के लिए समय बनाए रखना महत्वपूर्ण है। परीक्षा से पहले सभी हिंदी निबन्ध विषयों से पहले अभ्यास करें और परीक्षा में निबंध लेखन पर खर्च करने का समय निर्धारित करें।

3. हिंदी में निबंध के लिए 200-250 शब्द पर्याप्त हैं? 200-250 शब्दों वाले हिंदी निबंध किसी भी स्थिति के लिए बहुत अधिक हैं। इसके अलावा, पाठक केवल आसानी से पढ़ने और उनसे जुड़ने के लिए लघु निबंधों में अधिक रुचि दिखाते हैं।

4. मुझे छात्रों के लिए सर्वश्रेष्ठ औपचारिक और अनौपचारिक हिंदी निबंध विषय कहां मिल सकते हैं? आप हमारे पेज से कक्षा 1 से 10 तक के छात्रों के लिए हिंदी में विभिन्न सामान्य और विशिष्ट प्रकार के निबंध विषय प्राप्त कर सकते हैं। आप स्कूलों और कॉलेजों में प्रतियोगिताओं, परीक्षाओं और भाषणों के लिए हिंदी में इन छोटे और लंबे निबंधों का उपयोग कर सकते हैं।

5. हिंदी परीक्षाओं में प्रभावशाली निबंध लिखने के कुछ तरीके क्या हैं? हिंदी में प्रभावी और प्रभावशाली निबंध लिखने के लिए, किसी को इसमें शानदार तरीके से काम करना चाहिए। उसके लिए, आपको इन बिंदुओं का पालन करना चाहिए और सभी प्रकार की परीक्षाओं में एक परिपूर्ण हिंदी निबंध की रचना करनी चाहिए:

  • एक पंच-लाइन की शुरुआत।
  • बहुत सारे विशेषणों का उपयोग करें।
  • रचनात्मक सोचें।
  • कठिन शब्दों के प्रयोग से बचें।
  • आंकड़े, वास्तविक समय के उदाहरण, प्रलेखित जानकारी दें।
  • सिफारिशों के साथ निष्कर्ष निकालें।
  • निष्कर्ष के साथ पंचलाइन को जोड़ना।

निष्कर्ष हमने एक टीम के रूप में हिंदी निबन्ध विषय पर पूरी तरह से शोध किया और इस पृष्ठ पर कुछ मुख्य महत्वपूर्ण विषयों को सूचीबद्ध किया। हमने इन हिंदी निबंध लेखन विषयों को उन छात्रों के लिए एकत्र किया है जो निबंध प्रतियोगिता या प्रतियोगी या बोर्ड परीक्षाओं में भाग ले रहे हैं। तो, हम आशा करते हैं कि आपको यहाँ पर सूची से हिंदी में अपना आवश्यक निबंध विषय मिल गया होगा।

यदि आपको हिंदी भाषा पर निबंध के बारे में अधिक जानकारी की आवश्यकता है, तो संरचना, हिंदी में निबन्ध लेखन के लिए टिप्स, हमारी साइट LearnCram.com पर जाएँ। इसके अलावा, आप हमारी वेबसाइट से अंग्रेजी में एक प्रभावी निबंध लेखन विषय प्राप्त कर सकते हैं, इसलिए इसे अंग्रेजी और हिंदी निबंध विषयों पर अपडेट प्राप्त करने के लिए बुकमार्क करें।

500+ विषयों पर हिंदी निबंध

Hindi Essay Writing: विद्यार्थी जीवन में निबंध लेखन एक अहम हिस्सा है। विद्यार्थी के जीवन में हर बार ऐसे अवसर आते हैं, जहाँ पर निबन्ध लिखने को दिए जाते हैं। निबंध लेखन का कार्य हर तरह की परीक्षा में भी विशेष रूप से पूछा जाता है।

Hindi Essay Writing

यहां पर हमने अलग-अलग विषयों पर क्रमबद्ध हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखे है। यह निबन्ध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार साबित होंगे। यहां पर वर्तमान विषयों पर हिंदी में निबंध (current essay topics in hindi) उपलब्ध किये है।

हिंदी निबंध (Essay Writing in Hindi)

भारत देश से जुड़े निबन्ध, पर्यावरण और पर्यावरण मुद्दों से जुड़े निबंध, महान हस्तियों पर निबन्ध, सामाजिक मुद्दों पर निबन्ध, नैतिक मूल्य पर निबंध, तकनीकी से जुड़े निबंध, शिक्षा से जुड़े निबन्ध, पशु पक्षियों पर निबंध, त्योहारों पर निबंध, विभिन्न उत्सवों पर निबंध, स्वास्थ्य से जुड़े निबंध, प्रकृति पर निबंध, खेल पर निबंध, महत्त्व वाले निबन्ध, शहरों और राज्यों पर निबन्ध, संरक्षण पर निबन्ध, नारी शक्ति पर निबंध, रिश्तों पर निबंध, फल और सब्जियों पर निबंध, फूलों, पौधों और पेड़ों पर निबन्ध, प्रदूषण पर निबंध, लोकोक्ति पर निबन्ध, धरोहर पर निबन्ध, निबंध क्या है.

निबंध एक प्रकार की गद्य रचना होती है, जिसमें किसी विशेष विषय के बारे में विस्तार से वर्णन किया जाता है। निबंध के जरिये निबंध लिखने वाला व्यक्ति या लेखक अपने भावों और विचारों को बहुत ही प्रभावशाली तरीके से व्यक्त करने की कोशिश करता है।

निबंध लिखने वाले व्यक्ति को उस विषय के बारे में पूर्ण रूप से जानकारी होने के साथ ही उसकी उस भाषा पर अच्छी पकड़ भी होना बहुत जरूरी है। सभी व्यक्तियों की अपनी अलग-अलग अभिव्यक्ति होती है। इस कारण ही हमें एक विषय पर बहुत से तरीकों में लिखे निबंध मिल जायेंगे।

निबंध की परिभाषा को आसान से शब्दों में बताये तो “किसी विशेष विषय पर भावों और विचारों को क्रमबद्ध तरीके से सुगठित, सुंदर और सुबोध भाषा में लिखी रचना को निबंध कहते हैं।”

निबन्ध लिखते समय इन बातों का रखे विशेष ध्यान

  • लिखा गया निबंध बहुत ही आसान शब्दों में लिखा हो, जिससे कि पढ़ने वाले को कोई मुश्किल नहीं हो।
  • निबंध में भाव और विचार की पुनरावृत्ति नहीं करें।
  • निबंध लिखते समय उसे विभिन भागों में बाँट देना चाहिए, जिससे पढ़ने आसानी हो जाये।
  • वर्तनी शुद्ध रखे और विराम चिन्हों को सही से प्रयोग करें।
  • जिस विषय पर निबंध लिखा जा रहा है, उस विषय के बारे में विस्तार से चर्चा लिखे।

इन बातों को ध्यान में रखकर आप एक बहुत ही सुंदर और अच्छा निबंध लिख सकते हैं। जब आप निबंध पूरी तरह से लिख ले तो उसके बाद आप पुनः एक बार पूरे निबंध को जरूर पढ़ लें और त्रुटी की जांच कर लें, जिससे निबंध और भी अच्छा हो जाएगा।

निबंध के अंग

निबन्ध को विशेष रूप से तीन भागों में विभाजित किया गया है:

भूमिका/प्रस्तावना

उपसंहार/निष्कर्ष.

यह निबंध का सबसे पहला भाग होता है। इससे ही निबंध की शुरुआत होती है। इसमें जिस विषय पर निबन्ध लिख रहे हैं उसके बारे में सामान्य और संक्षिप्त जानकारी दी जाती है।

इसे लिखते समय यह विशेष ध्यान रखें कि यह बहुत छोटा होने के साथ ही सारगर्भित भी हो, जिससे पाठक को पढ़ते समय आनंद की अनुभूति हो और उस निबंध को पूरा पढ़े।

यह निबंध का अगला भाग है जिसमें विषय के बारे में विस्तार से चर्चा की जाती है। इस भाग को लिखते समय आपके पास जितनी भी जानकारी उपलब्ध है, उसे क्रमबद्ध करके अलग-अलग अनुच्छेद में प्रस्तुत करना होता है।

इसमें आपका क्रम पूरी तरह से व्यवस्थित होना चाहिए। हर दूसरा अनुच्छेद पहले अनुच्छेद से सम्बंधित होना चाहिए।

यह निबंध का सबसे अंतिम भाग होता है। इस भाग तक पहुँचने से पहले पूरी चर्चा पहले के अनुच्छेदों में कर ली जाती है। यहां पर पूरी चर्चा का सारांश छोटे से रूप में प्रस्तुत किया जाता है।

निबंध लिखते समय लिखा गया निबंध बहुत ही आसान शब्दों में लिखा हो, जिससे कि पढ़ने वाले को कोई मुश्किल नहीं हो। निबंध में भाव और विचार की पुनरावृत्ति नहीं करें। निबंध लिखते समय उसे विभिन भागों में बाँट देना चाहिए, जिससे पढ़ने आसानी हो जाये आदि बातों का ध्यान रखा जाता है।

एक अच्छा निबन्ध लिखने के लिए उस निबंध में लेखक वैचारिक स्तर, चिन्तन, जिस विषय पर निबंध है। उसकी अच्छी विचारधारा आदि का स्पष्ट होना जरूरी है। इसके अलावा लेखक को किसी और के मत से बिना प्रभावित हुए निबन्ध लिखना चाहिए।

उपसंहार में निबंध का सार, अभिप्राय, स्पष्टीकरण आदि विवरण लिखा जाता है।

निबंध की शुरुआत स्पष्ट, संक्षिप्त और आकर्षक शब्दों से करनी चाहिए, जिससे पाठक के ध्यान के साथ ही जिज्ञासा बढ़ती रहे।

हमने यहां पर हिंदी निबंध संग्रह (essay writing in hindi) शेयर किया है। यहां पर सभी महत्वपूर्ण हिंदी में निबंध उपलब्ध किये है।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको यह hindi essay का संग्रह पसंद आएगा, इसे आगे शेयर जरुर करें। यदि इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं।

अन्य महत्वपूर्ण जानकारी

500+ प्रेरणादायक लोगों की जीवनियाँ

सम्पूर्ण हिंदी व्याकरण

संस्‍कृत निबंध संग्रहण

1000+ हिंदी मुहावरे (अर्थ और वाक्य प्रयोग सहित)

Rahul Singh Tanwar

Related Posts

Leave a comment cancel reply.

The best Hindi Blog for Quotes,Inspirational stories, Whatsapp Status and Personal Development Articles

10 मोटिवेशनल किताबें जो आपको ज़रूर पढ़नी चाहिएं

एक उत्तम निबंध कैसे लिखें.

Last Updated: May 9, 2017 By Gopal Mishra 11 Comments

निबंध कैसे लिखें?

How to write an essay in hindi.

निबंध लिखने का तरीका समझने से पहले यह जानना आवश्यक है कि “निबंध क्या है?” और उसके तत्त्व कौन से हैं व सफल निबन्ध की कसौटी क्या है? तत्पश्चात ही उच्च गुणवत्ता का निबन्ध लेखन किया जा सकता है।

rummy gold

निबंध क्या है?

हिंदी के प्रमुख साहित्यकार आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने निबन्ध को परिभाषित करते हुए कहा है-

निबन्ध लेखक अपने मन की प्रवृत्ति के अनुसार स्वच्छंद गति से इधर-उधर फूटी हुई सूत्र शाखाओं पर विचरता चलता है।

उपरोक्त परिभाषा से दो तथ्य तो स्पष्ट हो जाते हैं कि निबन्ध लेखक के मन की प्रवृत्ति के अनुरूप  ही होना चाहिए और निबन्ध का लेखन स्वच्छन्द गति पर आधारित हो अर्थात निबन्ध लेखक के व्यक्तित्त्व को, उसके मानसिक चिन्तन को शत-प्रतिशत उजागर करता हो। यानी निबंध ऐसा लिखना चाहिए कि लेखक का चिंतन, वैचारिक स्तर, विषय पर उसकी स्वयं की विचारधारा स्पष्ट हो जानी चाहिए।

यानि हम कह सकते हैं कि-

application of essay in hindi

निबंध, लेखक के व्यक्तित्व को प्रकाशित करने वाली ललित गद्य-रचना है।

इसके अतिरिक्त लेखक को नदी की धारा सम स्वच्छन्दता से बहना चाहिए, किसी अन्य के मत से प्रभावित हुए बिना। लेखक का व्यक्तिगत परिचय या स्वार्थ विषय-वस्तु को प्रभावित न करे- यह अत्यन्त आवश्यक है। ज़रूरी नहीं कि आप जो भी लिखें वो सभी को स्वीकार्य हो, ज़रूरी ये है कि आप निष्पक्ष हो कर लिखें क्योंकि निष्पक्षता ही किसी निबंध की प्रथम और अंतिम कसौटी है।

कुछ अन्य बातों की ओर भी निबन्ध लेखक का ध्यान हो, जैसे-

  • पाठक को निबन्ध पढ़ते हुए सहभागिता का अनुभव हो
  • लेखक के विचार पाठक को सरलता से समझ आने चाहियें
  • जहाँ तक संभव हो लेखक के अनुभव पाठक को आप-बीते अनुभव हों

वस्तुतः किसी भी निबन्ध की सफलता इसी तथ्य पर निर्भर करती है कि पाठक उससे कितनी आत्मीयता अनुभव करते हैं।

निबन्ध कैसे लिखें?

मूलतः हमारा विषय यह था कि “ निबन्ध कैसे लिखें “। एक आप-बीती बताती हूँ -शिक्षण जगत में प्रवेश किया ही था कि एक निराश कर देने वाला अनुभव हुआ। परीक्षा के पश्चात एक विद्यार्थी से परीक्षा संबंधित वार्तालाप करते हुए कहा,” निबन्ध छोड़ आया क्योंकि याद किया हुआ नहीं आया।” मैं अचंभित होते हुए उससे पूछ बैठी,” निबन्ध को भी याद करना होता है क्या?” उसने कोई उत्तर नही दिया।

काफी विचार-मंथन के पश्चात मुझे सम्पूर्ण शिक्षण-प्रक्रिया में यह खामी नज़र आयी कि हम शायद यह समझ ही नहीं पाए थे कि पाठ्यक्रम में निबन्ध-लेखन क्यों जोड़ा गया है। कक्षा में छात्रों का वाद-विवाद होने पर प्रायः यह कहा करती थी कि अगर अपने विचारों को स्पष्ट नहीं कर पा रहे और विवाद का हल हिंसा में खोजते हो तो सारी शिक्षण – व्यवस्था ही  असफल है।विचारों को उचित तरीके से स्पष्ट कर पाने की कला को सीखना  ही निबन्ध-लेखन का मूल मंतव्य है।

मित्रों, निबंध कैसे लिखें  समझने के लिए यह जानना ज़रूरी है कि-

पाठ्यक्रम में निबन्ध – लेखन को क्यों समाहित किया गया :

1.  विद्यार्थी अपने विचारों को एकत्र करना सीख पाए। 2. विचारों को संतुलित तरीके से व्यक्त कर पाएं। 3. भाषा को उपयुक्त रूप से प्रयोग करना सीख पाएं। 4. किसी भी विषय पर छात्रों के स्वयं के विचार हों। 5. उनका वैचारिक स्तर निश्चित हो सके। 6. संवेदनात्मक व वैचारिक स्तर पर परिपक्व हो सके। 7. वे अपने विचारों को सकारात्मक दिशा दे पाए। 8.  अपने विचारों को दृढ़ता से रखना सीख सके। 9. आलोचनात्मक दृष्टिकोण विकसित हो सके। 10.रटन्तू तोता न बन विचारशील प्राणी बन सके।

अब प्रश्न यह उठता है कि निबन्ध किस प्रकार लिखे जाने चाहियें।

निबन्ध लिखते हुए छात्रों को इन बातों पर ध्यान देना चाहिए-

1) निबंध के विषय पर अधिक से अधिक जानकारी एकत्र करें, इसके लिए आप इन्टरनेट और पुस्कालयों की मदद ले सकते हैं। आप अपने शिक्षक से भी विषय सम्बंधित किताबों या लेखों के बारे में जानकारी ले सकते हैं। यदि आप किसी परिभाषा या वक्तव्य को प्रयोग करना चाहते हैं तो उसे लिख लें और उसका स्रोत भी नोट कर लें। विशेषकर आपकी सोच को बल देती महापुरुषों की उक्तियाँ अवश्य लिख  कर याद कर लें।

ध्यान रहे कि अध्यन करने के पीछे का उद्देश्य चीजों को रटना नहीं बल्कि अपने ज्ञान को बढ़ाना और अपनी एक सोच विकसित करना है।

2) पहले से लिखे उत्कृष्ट निबंधों का अध्यन करें। ऐसा करते हुए आपको एक अच्छे निबन्ध के प्रारूप को समझना है। यहाँ यह भी ज़रूरी नहीं कि आप उसी विषय पर निबंध पढ़ें जिसपर आपको खुद लिखना है, आप किसी भी विषय पर लिखा अच्छा निबंध पढ़कर अपना लेखन सुधार सकते हैं।

3) अपने विषय को लेकर आपने जो विचार बनाए हैं उसकी अपने मित्रों या परिवारजनों से चर्चा करें। चर्चा से निकले प्रमुख बिन्दुओं को नोट कर लें और सही हो तो उनका निबंध में प्रयोग करें।

4) निबन्ध लिखने से पहले उसकी एक रूपरेखा बना लें: आरम्भ, मध्य व अंत मे क्या-क्या लिखना है सोच लें और किसी अन्य पेज पर बुलेट पॉइंट्स में लिख लें।

5) निबंध की भाषा सरल व स्पष्ट हो।

6) लेखन शुद्ध , त्रुटि रहित हो।

7) रटा-रटाया न होकर मौलिक विषय-वस्तु हो।

8) अपने अनुभवों पर आधारित हो।

9) हर तथ्य क्रम में हो मसलन समस्या का अर्थ, कारण, दूर करने के उपाय ओर अंत मे उपसंहार-सभी बातें उचित क्रम में हों।

10) अनावश्यक विस्तार से बचें।

11) तथ्यों की पुनरावृत्ति न करें .

12) शीर्षक व उपशीर्षक को रेखांकित करें।

13) विषय से संबंधित किसी प्रसिद्ध कवि या महा-पुरुष की कोई उक्ति स्मृति में हो तो उसे अवश्य लिखें।

14) अंत मे दोबारा पढ़ कर उसमें आवश्यक सुधार करें और वर्तनी पर विशेष ध्यान दें।

इन तथ्यों को ध्यान में रखकर विद्यार्थी निबन्ध-लेखन में शत-प्रतिशत अंक ला सकता है। निबन्ध- लेखन सागर के समान गहरा अवश्य है पर उसमे उतरेंगे तो सफलता रूपी मोती अवश्य ही पाएंगे।

application of essay in hindi

लेखिका हिंदी प्रवक्ता

निबंध लेखन की कला सिखाते इस लेख के लिए हम  नीरू ‘शिवम’ जी के आभारी हैं। धन्यवाद!

AchhiKhabar.Com पर प्रकाशित निबंधों की सूची यहाँ देखें 

Did you like article on “ निबंध कैसे लिखें? /  How to write an essay in Hindi ?” यदि निबंध लेखन को लेकर आपके कुछ विचार हों तो कृपया कमेन्ट के माध्यम से हमसे शेयर करें.

यदि आपके पास Hindi में कोई article, business idea, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: [email protected] .पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

Related Posts

  • 10 मिनट में कैसे बनाएं एक परफेक्ट Resume या CV
  • कैसे बनें एक सफल प्रॉपर्टी डीलर? 5 Tips
  • गुरु पूर्णिमा पर निबंध
  • कैसे बनें एक खुश रहने वाला इंसान ? Just a simple idea by Robin Sharma
  • हर एक शिक्षक को नमन हर एक शिष्य को आभार

application of essay in hindi

November 27, 2022 at 8:30 pm

Didi thank you so much ?

August 3, 2021 at 4:51 pm

दीदी आपका बहुत बहुत धन्यवाद आपके लेख को पढ़कर काफी प्रेरणा मिली कल मेरा शिक्षाशास्त्र परास्नातक द्वितीय वर्ष पंचम प्रश्नपत्र है आशीर्वाद दीजिएगा

application of essay in hindi

November 14, 2018 at 11:50 pm

Kya nibandh mE subject related diagram (chitra) banaya ja sakta h

application of essay in hindi

November 15, 2018 at 8:49 am

नहीं. लेकिन आप इन्फोग्रफिक या टेबल जैसा कुछ बना सकते हैं जिसमे निबंध से सम्बंधित बातें शोर्ट में बतायी गयी हों.

application of essay in hindi

March 8, 2018 at 10:36 pm

Aapne jo bhi baatein kahin hai wo hum jarur dhayan me rakhenge and thanks for your tips ma’am.

application of essay in hindi

February 25, 2018 at 12:00 am

Thanks for the tips ma’am…but I request to you ki hum log 3rd class k bacchho ko nibandh dikhana kaise sikhaye samay ki kami k Karan unless pass school books k bad time nahi hota…. please help

application of essay in hindi

December 28, 2017 at 7:49 pm

Very very thankful sir….

application of essay in hindi

May 18, 2017 at 10:06 pm

बहुत बढ़िया आर्टिकल स्टूडेंट के लिए बहुत ही फायदेमंद, निबंध से परीक्षा में अच्छे मार्क्स पाने का अवसर होता हैं.

application of essay in hindi

May 11, 2017 at 3:10 pm

Thanks for this Post sir….

application of essay in hindi

May 10, 2017 at 6:29 pm

Nice article… Sahi kaha aapne apne vicharon ko sahi tarah se spasht karne ki kala ko sikhna hi nibandh hai. Is article se sabhi students ko nibandh likhne me zarur laabh milega.

application of essay in hindi

May 10, 2017 at 2:46 am

परीक्षा में अच्छे अंक पाने में निबंध का अहम योगदान होता है और इसके लिए सभी students मेहनत भी करते है लेकिन फिर भी सबका रिजल्ट भिन्न होता है । नीरू जी आपके द्वारा बताएं गए टिप्स से यकीनन Students को बहुत मदद मिलेगी ।

Join the Discussion! Cancel reply

Watch Inspirational Videos: AchhiKhabar.Com

Copyright © 2010 - 2024 to AchhiKhabar.com

Listrovert

Application in Hindi with 12+ examples – हर मौके के लिए एप्लीकेशन लेटर

Tomy Jackson

रोजमर्रा के जीवन में हमें न जाने कितनी बार आवेदन यानि एप्लीकेशन लिखने की जरूरत पड़ती है । जीवन के हर क्षेत्र में इसकी जरूरत है और रहेगी भी । आप चाहे एक छात्र हों या नौकरी कर रहे हों , विभिन्न मौकों पर एप्लीकेशन लिखना ही होता है । इसलिए Application in Hindi का यह पोस्ट आज उनके लिए dedicated है जिन्हें कभी न कभी एप्लीकेशन लिखने की जरूरत पड़ती है या वे लिखना सीखना चाहते हैं ।

अगर मैं कहूं कि यह पोस्ट application in Hindi for students है तो भी यह बिल्कुल सही होगा । ज्यादातर छात्रों को ही परीक्षाओं व दैनिक जीवन में आवेदन पत्र लिखने की जरूरत पड़ती है । इस पोस्ट में आपको आवेदन पत्र के format, examples, types, tips इत्यादि चीजें बताई जायेंगी ।

अगर आप ध्यान से आवेदन पत्र पर लिखी इस जानकारी को पढ़ें और जरूरी चीजों को नोट करते जाएं तो आप एप्लीकेशन लिखना अच्छे से समझ जायेंगे । तो चलिए विस्तार से इसके बारे में हम बात करते हैं ।

Application या आवेदन पत्र क्या होता है ?

आवेदन या एप्लीकेशन एक प्रकार का अनुरोध पत्र होता है जिसे विभिन्न मौकों पर लिखा जाता है । उदाहरण के तौर पर प्रधानाध्यापक से छुट्टी लेने के लिए अनुरोध पत्र लिखा जाता है तो वहीं किसी नौकरी के लिए जॉब एप्लीकेशन लिखा जाता है । इसे सरकारी या निजी कार्यालयों में अधिकतर प्रयोग में लाया जाता है ।

हम एक एप्लीकेशन विभिन्न मौकों पर विभिन्न कारणों से लिखते हैं । प्रधानाध्यापक को अवकाश प्रदान करने हेतु तो कभी सामाजिक जीवन में समस्या आने पर पुलिस या स्थान विशेष के पदाधिकारी को , हम जीवन में कई बार आवेदन पत्र लिखते हैं । ऐसा कहा जाता है कि जीवन में कुछ सीखो या नहीं , कम से कम application letter लिखना सीख जाओ क्योंकि इसकी जरूरत जीवन के हर मोड़ पर पड़ती है ।

अगर आपने Graduation / post graduation कर लिया है और आपको अपने गांव के प्रधान को सड़क निर्माण हेतु आवेदन लिखने नहीं आ रहा है तो यकीन मानिए सब व्यर्थ है । इसलिए जरूरी है कि आप सभी types of application को लिखना जानें ।

Importance of writing application

अब जबकि आपने आवेदन पत्र का overview पढ़ लिया है तो यह जरूरी है कि आप इसके महत्व को समझें । इसलिए मैंने नीचे आवेदन पत्र लिखने के महत्व को summarise किया है जिसे आप पढ़ सकते हैं :

  • यह आपकी समस्या को बेहतर ढंग से प्रदर्शित करता है
  • इसकी मदद से आप आसानी से अपने skills, abilities और achievements को प्रेजेंट कर पाते हैं
  • किसी समस्या के समाधान के लिए यह एक अच्छा माध्यम है
  • इसका format और writing style आसान है जिससे अपनी बात समझाने में आसानी रहती है
  • यह formal और informal communication को बेहतर बनाता है
  • आज के डिजिटल युग में application letters को एक जगह से दूसरे जगह भेजना सेकंडों का काम रह गया है

Types of application letter in Hindi

अगर बात करें Types of application letter in Hindi की तो इसके कुल 2 प्रकार हैं :

1. Formal letter

Formal letter या औपचारिक पत्र एक प्रकार का पत्र होता है जिसे आप मुख्य रूप से अधिकारियों, गणमान्य व्यक्तियों, सहकर्मियों, वरिष्ठों आदि के लिए लिखते हैं । इसे लिखते समय एक विशेष प्रारूप का ध्यान रखना होता है । इसे मित्रों , परिवारजनों इत्यादि के लिए नहीं लिखा जाता है ।

इसमें मुख्य रूप से निम्नलिखित प्रकार शामिल होते हैं :

  • Letter of inquiry ( पूछताछ पत्र )
  • Order letter ( आदेश पत्र )
  • Letter of Complaint ( शिकायत हेतु पत्र )
  • Reply to a Letter of Complaint ( शिकायत पत्र के उत्तर हेतु पत्र )
  • Promotion Letter ( पदोन्नति पत्र )
  • Sales Letters ( बिक्री पत्र )
  • Recovery Letters ( वसूली पत्र )
  • Job Letters ( नौकरी के आवेदन हेतु पत्र )

2. Informal letter

Informal letter या अनौपचारिक पत्र एक प्रकार के पत्र होते हैं जिसे आप मुख्य रूप से अपने सगे संबंधियों , रिश्तेदारों या दोस्तों को लिखते हैं । अनौपचारिक पत्र लिखने के लिए जरूरी नहीं कि आप एक विशेष प्रारूप यानि फॉर्मेट का ध्यान रखें हीं । अनौपचारिक पत्र कभी भी आधिकारिक कार्यों या व्यक्तियों हेतु नहीं लिखा जाता है ।

  • Thank You letter ( धन्यवाद पत्र )
  • Invitation letter ( निमंत्रण पत्र )
  • A letter of acceptance ( स्वीकृति पत्र )
  • A letter of regret ( खेद का पत्र )
  • A letter of apology ( माफ़ी पत्र )
  • Congratulation letter ( बधाई पत्र )

आवेदन पत्र लेखन के लिए जरूरी बातें

अगर आप application in Hindi लिखना चाहते हैं तो यह जरूरी है कि इसे लिखते समय कुछ बेहद जरूरी बातों का ध्यान रखें । एक एप्लीकेशन को विभिन्न मौकों पर लिखा जाता है इसलिए परिस्थिति के हिसाब से आपको आवेदन पत्र लिखना चाहिए । आवेदन लिखते समय निम्नलिखित बातें ध्यान रखें :

1. कोशिश करें कि यह सिर्फ एक पृष्ठ यानि पेज का हो ।

2. आवेदन लिखते समय आपको आत्मविश्वास बनाए रखना चाहिए और सीधे और सधे शब्दों में अपनी बात कहनी चाहिए ।

3. आवदेन पत्र में व्याकरण या लेखन संबंधित अशुद्धियां नहीं रहनी चाहिए ।

4. आप जिस व्यक्ति को एप्लीकेशन लिख रहे हैं , उसके प्रति सम्मान दिखाएं और सभ्य भाषा का प्रयोग करें ।

5. अपनी समस्या या एप्लीकेशन को लिखने के कारण को विस्तारपूर्वक लिखिए ।

6. कभी भी गलत जानकारी लिखने का प्रयास न करें ।

7. एप्लीकेशन के शुरुआत में अभिवादन करना न भूलें ।

Application format in Hindi

एक application लिखने से पहले आपको इसे लिखने का format यानि प्रारूप पता होना चाहिए । एप्लीकेशन को आप किसी भी तरह से नहीं लिख सकते क्योंकि इसे ज्यादातर आधिकारिक तौर पर लिखा और इस्तेमाल किया जाता है । तो चलिए जानते हैं कि आवेदन पत्र कैसे लिखें :

Simple application format

श्रीमती , श्रीमान , सुश्री ( पदाधिकारी का नाम )

कार्यालय का नाम : (विद्यालय , पुलिस स्टेशन , बिजली / सिंचाई / खाद्य विभाग , इत्यादि का नाम)

कार्यालय का पता : (3 से 4 शब्दों में कार्यालय का पता)

विषय : (आप जिस कारणवश आवेदन लिख रहे हैं , उसे संक्षेप में लिखें)

अभिवादन : (महोदय , महोदया , श्रीमान , माननीय)

आवेदन लिखने का कारण विस्तारपूर्वक : (इसमें आप अपनी समस्या / मुद्दे को विस्तारपूर्वक बताते हुए पत्र लिख सकते हैं । ध्यान रखना है कि यह 1 या अधिकतम 2 पैराग्राफ से ज्यादा बड़ा न हो)

समापन : (इसमें आपको यह लिखना है कि आप पदाधिकारी से क्या चाहते हैं, क्या उम्मीदें हैं और क्या समाधान किया जा सकता है । इसके साथ ही आप पदाधिकारी के प्रति आभार भी प्रकट करें)

अपना हस्ताक्षर

संलग्न : (अगर आपने अपने आवेदन पत्र के साथ अन्य दस्तावेजों को भी जोड़ा है तो आप उन्हें संलग्न की श्रेणी में रख सकते हैं । उदाहरण के तौर पर प्रिंसिपल को अगर आप बीमारी की वजह से अवकाश हेतु application लिखते हैं तो साथ ही medical documents भी लगा सकते हैं)

अब आपने विस्तारपूर्वक आवेदन पत्र को हिंदी में लिखने के बारे में जानकारी प्राप्त कर ली है । ऊपर मैंने application in Hindi के बारे में हर जानकारी दी है ताकि आपको अच्छे से इसके बारे में पता चल सके । अब बारी है उदाहरणों की । नीचे आवेदन पत्र के उदाहरण दिए गए हैं जिन्हें आप देख सकते हैं और अपनी कॉपी में लिख भी सकते हैं ताकि भविष्य में अगर आपको ऐसे आवेदन पत्र लिखने की जरूरत पड़े तो आप लिख सकें ।

1. Application in Hindi to prinicipal for leave

श्रीमान प्रधानाध्यापक / प्रधानाध्यापिका महोदय

डी.ए.वी. पब्लिक स्कूल , सिंगरौली

मध्य प्रदेश

विषय : बुखार से पीड़ित होने के कारण 3 दिनों की छुट्टी ।

महोदय/महोदया,

मैं ऋषभ कुमार आपके स्कूल में कक्षा दसवीं ‘ब’ का छात्र हूं । आदरपूर्वक , मैं यह कहना चाहता हूं कि बुखार से पीड़ित होने के कारण स्कूल आने में असमर्थ हूं । मुझे डॉक्टर द्वारा सलाह दी गई है कि मैं कम से कम 3 दिन तक आराम करूं । मुझे 23/07/2021 से 25/07/2021 तक अवकाश प्रदान करने की कृपा करें । इस अवधि के दौरान , मैं विद्यालय में अनुपस्थित रहूंगा जिसके लिए मैं क्षमाप्रार्थी हूं ।

चिकित्सा प्रमाण पत्र आवेदन के साथ संलग्न है । इस कार्य के लिए मैं सदैव आपका आभारी रहूंगा ।

आपका आज्ञाकारी छात्र

नाम : ऋषभ कुमार

अनुक्रमांक – 17

दिनांक – 23/07/2021

2. Application in Hindi to principal for fee concession

श्रीमान प्रधानाध्यापक महोदय

केंद्रीय विद्यालय , रामगढ़

विषय : फीस माफी के लिए आवेदन पत्र ।

मैं राजीव शुक्ला आपके विद्यालय में कक्षा सातवीं ‘अ’ का छात्र हूं । मैं एक निर्धन परिवार से संबंध रखता हूं और मेरे पिता की वार्षिक आय ₹ 34,000 से भी कम है । घर में आय का मुख्य श्रोत कृषि है जिसकी वजह से परिवार का भरण पोषण बड़ी मुश्किल से हो पाता है । इन सब परिस्थितियों की वजह से मैं विद्यालय का शुल्क जमा करने में असमर्थ हूं । मैंने पिछली कक्षाओं में हमेशा प्रथम किया है जिसके अंकपत्र और पिता का आय प्रमाणपत्र आवेदन पत्र के साथ संलग्न हैं ।

मैं आपसे सविनय निवेदन करता हूं कि कृपया करके आप मेरा विद्यालय शुल्क माफ करें ताकि मैं आगे की पढ़ाई जारी रख सकूं । मैं आपसे वादा करता हूं कि भविष्य में भी मैं इसी तरह कक्षा में बढ़िया अंक प्राप्त करने की कोशिश करूंगा और आपको कभी शिकायत का मौका नहीं दूंगा ।

आपका आज्ञाकारी शिष्य

नाम : राजीव शुक्ला

अनुक्रमांक : 11

दिनांक : 28/07/2021

3. Application to principal for T.C. ( transfer certificate )

डीएवी पब्लिक स्कूल

रांची, झारखंड

विषय : स्थानांतरण प्रमाणपत्र ( टीसी ) प्राप्त करने के संबंध में

सविनय निवेदन है कि मेरे पिताजी का रांची से पटना स्थानांतरण हो गया है । परिवार की अनुपस्थिति में मैं रांची अकेले रहकर पढ़ाई करने में असमर्थ हूं जिसकी वजह से मुझे भी पटना रहकर ही अध्ययन करना होगा । इस वजह से मैं आपके विद्यालय में आगे की पढ़ाई करने में असमर्थ हूं ।

अतः आपसे विनती है कि मुझे विद्यालय स्थानांतरण पत्र अनुग्रहित करें जिसका शुल्क जमा कर दिया गया है । स्थानांतरण पत्र के लिए शुल्क की एक प्रति और पिताजी के स्थानांतरण पत्र की प्रतिलिपि आवेदन के साथ ही संलग्न है । मैं आशा करता हूं कि आप मेरी सहायता करेंगे ।

नाम : अन्वेष चतुर्वेदी

अनुक्रमांक : 02

कक्षा : दसवीं ‘ अ ‘

4. Application in Hindi to police station

श्रीमान थानाध्यक्ष

रायपुर पुलिस स्टेशन , छत्तीसगढ़

विषय : बाइक चोरी होने के संबंध में

मैं श्रीजेश कुमार , उम्र 24 वर्ष , लेक रोड अपार्टमेंट , वसुंधरा मैदान , रूम नंबर 125 का निवासी हूं । आज शाम लगभग 04:45 बजे मैं लेक रोड सुपरमार्केट खरीददारी करने गया था । वहां बने पार्किंग जोन में गाड़ी खड़ा करने की जगह नहीं थी इसलिए मुझे गाड़ी पार्किंग जोन के बाहर सड़क के किनारे ही खड़ी करनी पड़ी । जब मैं खरीददारी करके लगभग 05:30 बजे आया तो मेरी गाड़ी अपने स्थान से गायब थी ।

मैंने आसपास काफी लोगों से पूछताछ की और खोजने की कोशिश भी की परंतु निराशा ही हाथ लगी । बाइक 3 महीने पुरानी है और यह नीले रंग की है । बाइक का अन्य विवरण है :

नाम और मॉडल : Royal Enfield Meteor 350

पंजीकरण संख्या : CG 11AD 1992

आवेदन पत्र के साथ गाड़ी की तस्वीर और पंजीकरण दस्तावेज की छायाप्रति संलग्न है । अतः आपसे निवेदन है कि मेरे द्वारा दी गई सूचना के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर उचित कार्रवाई करने की कृपा करें ।

श्रीजेश कुमार

5. Application to bank manager in Hindi

श्रीमान बैंक मैनेजर महोदय

बैंक ऑफ बड़ौदा

रिहंद नगर , बिजपुर

विषय : बैंक में नया खाता खुलवाने के संबंध में ।

मैं अंकिता सिंह आपके बैंक ऑफ बड़ौदा में एक नया खाता खुलवाना चाहती हूं । दरअसल मैंने डीएवी पब्लिक स्कूल , रिहंद नगर से अपनी बारहवीं की पढ़ाई पूरी कर ली है और स्नातक की पढ़ाई के लिए मेरा प्रवेश मध्य प्रदेश के एक कॉलेज में हो गया है । वहां मुझे अकेले रहकर पढ़ाई करनी होगी जिसके लिए मुझे रुपयों की जरूरत होगी । मेरे अभिभावक हर महीने वहां जाकर रुपए पहुंचाने में असमर्थ हैं ।

इसलिए आपसे सविनय निवेदन है कि आप बैंक में मेरा नया खाता खुलवाएं ताकि मेरे अभिभावक आसनिंसे मेरे बैंक अकाउंट में रुपए भेज सकें और मैं बिना किसी बाधा के अपनी आगे की पढ़ाई जारी रख सकूं । खाता खुलवाने के लिए जरूरी सभी दस्तावेजों को मैंने संलग्न कर दिया है ।

आशा है कि आप जल्द ही अपने व्यस्त दिनचर्या से समय निकाल कर मेरी इस कार्य में मदद करेंगे । मैं आपकी सदा आभारी रहूंगी ।

नाम : अंकिता सिंह

स्थाई पता : रिहंद नगर , बिजपुर , सोनभद्र , 231223

मोबाइल नंबर : 1221344356

दिनांक : ( आवेदन पत्र लिखने की तिथि डालें )

हस्ताक्षर : ( अपना हस्ताक्षर करें जिसका उपयोग भविष्य में खाते से रुपए निकालने के लिए होगा )

6. पासबुक जारी करने के लिए बैंक मैनेजर को आवेदन पत्र

बैंक मैनेजर महोदय

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया

लहरतारा रोड , वाराणसी

विषय : नया पासबुक जारी करने के संबंध में

मैं आपसे सविनय निवेदन करता हूं कि मेरा नाम मिथिलेश कुमार है और मैं वर्ष 2017 से ही आपके बैंक का एक खाताधारक हूं । 10 दिन पहले वाराणसी से प्रयागराज ट्रेन से सफर करते हुए मेरा बैग चोरी हो गया जिसमें मेरे कपड़ों के साथ ही पासबुक और अन्य जरूरी कागजात भी थे । मैंने पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज कराई थी परंतु अभी तक मेरा सामान मुझे वापस नहीं मिला है । प्राथमिकी की एक प्रतिछाया आवेदन के साथ संलग्न है ।

पासबुक खो जाने की वजह से मैं बैंक संबंधित लेन देन और अन्य जरूरी सेवाओं का लाभ नहीं ले पा रहा हूं । इसलिए आपसे सविनय निवेदन है कि मुझे एक नया पासबुक जारी करने की कृपा करें । मैं आपका सदा आभारी रहूंगा ।

नाम : मिथिलेश कुमार

खाता संख्या : XXXX 2345 23

पता : विजयपथ मार्ग , लहरतारा , वाराणसी

दिनांक : 11/06/2021

हस्ताक्षर : ( अपना पुराना हस्ताक्षर करें )

7. Write application for electricity meter change in Hindi

मुख्य अभियंता

उत्तर प्रदेश बिजली विभाग

ब्रह्मनगर, रॉबर्ट्सगंज, सोनभद्र

मैं अवनीश तिवारी ब्रह्मनगर, रॉबर्ट्सगंज का निवासी हूं और आपको सूचित करना चाहता हूं कि मेरे विद्युत मीटर का नंबर 132334 है और यह पिछले एक महीने से काम नहीं कर रहा है जिसकी वजह से मीटर रीडिंग और और बिजली बिल भुगतान में समस्या आ रही है । इस विद्युत मीटर को वर्ष 2017 में उत्तर प्रदेश बिजली विभाग द्वारा लगाया गया था । इस महीने मुझे औसत बिजली बिल भेजा गया है परंतु यह कब तक चलेगा ?

अतः महोदय से अनुरोध है कि आप तुरंत खराब मीटर की जगह नए विद्युत मीटर को लगवाने की कृपा करें । मुझे आशा है कि आप अवश्य मेरे अनुरोध पर ध्यान देंगे ।

अवनीश तिवारी

ब्रह्मनगर, रॉबर्ट्सगंज

8. बैंक में मोबाइल नंबर बदलवाने के लिए आवेदन पत्र

श्रीमान शाखा प्रबंधक

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ( गोरखपुर )

8 अक्टूबर, 2020

विषय : खाते का मोबाइल नंबर बदलवाने हेतु

सविनय निवेदन है कि मेरा नाम अजय कुमार है और मैं आपके बैंक में खाताधारक हूं । पुराने मोबाइल सिम के खो जाने की वजह से मैंने नया मोबाइल नंबर लिया है जिसे मैं अपने खाते में जोड़ना चाहता हूं । इससे मुझे खाते में लेन देन इत्यादि कार्यों में सहूलियत होगी ।

अतः महोदय से निवेदन है कि मेरे नए नंबर को खाते में जोड़ने की कृपा करें । मैं इसके लिए आपका आभारी रहूंगा ।

नाम : अजय कुमार

नया मोबाइल नंबर : 1234567890

खाता संख्या : 0987654321

हस्ताक्षर : ( अपना हस्ताक्षर करें )

9. Application for teacher job in Hindi

श्रीमान प्रधानाचार्य महोदय

लिटिल फ्लावर किंडरगार्टन स्कूल

विषय : विज्ञान शिक्षक पद हेतु प्रार्थना पत्र

सविनय निवेदन है कि मेरा नाम अंकिता जयसवाल है और वर्तमान में मैं ग्वालियर में सन शाइन कोचिंग संस्थान में शिक्षक पद पर कार्यरत हूं । विगत सप्ताह दिनांक 10 अक्टूबर, 2021 को दैनिक जागरण समाचार पत्र में विज्ञान के शिक्षक पद के लिए विज्ञापन की मदद से विज्ञान शिक्षक पद के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए थे ।

मुझे विज्ञान पढ़ाने का 4 साल वर्ष का अनुभव है और मैंने विज्ञान विषय से बीएड भी किया है । मैं व्यवहारिक और सरल तरीके से विद्यार्थियों को पढ़ाती हूं जिसकी वजह से कोचिंग संस्थान में विज्ञान पढ़ रहे बच्चों के अंक हमेशा बेहतरीन होते हैं । इसलिए मैं आशा करती हूं कि आप मुझे अपने विद्यालय में पढ़ाने का मौका अवश्य देंगे जिसके लिए मैं जीवनपर्यंत आपका आभारी रहूंगी ।

आवेदन पत्र के साथ ही बायोडाटा, बीएड अंक और प्रमाणपत्र संकलित हैं ।

नाम : अंकिता जायसवाल

मोबाइल नंबर : 1234567890

दिनांक : 18 अक्टूबर, 2021

10. cheque book issue application in Hindi

शाखा प्रबंधक

बैंक ऑफ इंडिया, मिर्जापुर

विषय : चेकबुक जारी करने के संबंध में

सविनय निवेदन है कि मेरा नाम प्रिया शर्मा है और मैं पिछले 1 वर्ष से आपके बैंक में सक्रिय खाताधारक हूं । जो चेकबुक मुझे अकाउंट खुलवाते समय प्रदान किया गया था वह पूरी तरह इस्तेमाल किया जा चुका है जिसकी वजह से मुझे एक नए चेकबुक की आवश्यकता है । इसलिए मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि जल्द से जल्द मुझे नया चेकबुक प्रदान करने की कृपा करें ।

मुझे पूर्ण आशा है कि आप मेरे खाते से संबंधित चेकबुक मेरे पते पर भिजवा देंगे । इसके लिए मैं आपकी आभारी रहूंगी ।

नाम : प्रिया शर्मा

खाता संख्या : 123445566509

पता : अशरफाबाद, मिर्जापुर

फोन नंबर : 1234567890

हस्ताक्षर :

11. Request for internship application in Hindi

64, जनपथ, नई दिल्ली

[email protected]

श्रीमान मुकेश पाण्डेय

सनशाइन फ्यूचर कंपनी

जनपथ, नई दिल्ली

विषय: इंटर्नशिप के लिए अनुरोध- डिजिटल मार्केटिंग इंटर्न

आपके संगठन सनशाइन फ्यूचर कंपनी में डिजिटल मार्केटिंग इंटर्न की भूमिका के बारे में आपकी पोस्टिंग के बारे में मैंने बहुत दिलचस्पी के साथ पढ़ा । मुझे पूरा विश्वास है कि मैं इस पद के लिए निर्धारित योग्यताओं और कौशल को पूरा करता हूं ।

मैने अपनी BCA कोर्स को दिल्ली यूनिवर्सिटी से पूरा किया है और साथ ही मैंने UpGrad की मदद से डिजिटल मार्केटिंग का पूरा कोर्स किया है । इसके अलावा मैं स्वयं एक वेबसाइट चलाता हूं जिसकी जानकारी मैंने अपने रिज्यूमे में दिया है । मेरा पूरा विश्वास है कि मैं आपके कंपनी के इंटर्न के तौर पर एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाऊंगा ।

मैंने पत्र के साथ ही रिज्यूमे को भी संलग्न किया है जिसमें मेरी शिक्षण और व्यक्तिगत संबंधी सभी जानकारियां मौजूद हैं । इसके साथ ही UpGrad कौर BCA के सर्टिफिकेट को भी साथ में संलग्न किया गया है । मुझे उम्मीद है कि मेरी शिक्षण और अनुभव संबंधी योग्यताएं कंपनी के इंटर्नशिप पोस्ट के अनुकूल होंगी ।

12.ऑनलाइन कक्षा में अनुपस्थिति पर अनुरोध पत्र

श्रीमान प्रधानाध्यापक महोदया

सिटी पब्लिक स्कूल, रांची

विषय: ऑनलाइन कक्षा में अनुपस्थित होने पर अनुरोध पत्र

मैं प्रज्ञा मौर्या कक्षा दसवीं ‘ब’ की छात्रा हूं । वर्तमान में विद्यालय प्रबंधन द्वारा ऑनलाइन कक्षाएं ली जा रही हैं जिसमें मैं हमेशा उपस्थित रही हूं । लेकिन दिनांक 07/04/2022 को अचानक सुबह मेरी तबियत बिगड़ने की वजह से मैं 09/04/2022 तक ऑनलाइन कक्षाओं में अनुपस्थित रही । इस वजह से मुझे 1 सप्ताह बाद होने वाले परीक्षा को देने से मुझे रोका जा रहा है ।

अतः निवेदन है कि कॉलेज प्रबंधन मेरी अनुपस्थिति के कारण को समझते हुए साप्ताहिक परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाए । मैंने अपने सहपाठियों की मदद से 3 दिन का पाठ्यक्रम पूरा कर लिया है । मैंने अनुरोध पत्र के साथ ही मेडिकल प्रमाणपत्र को भी संलग्न किया है ।

प्रज्ञा मौर्या

1. एप्लीकेशन का हिंदी शब्द क्या है ?

एप्लीकेशन का हिंदी शब्द आवेदन होता है । हालांकि कई बार एप्लीकेशन को अनुरोध शब्द के साथ भी जोड़कर देखा जाता है ।

2. छुट्टी लेने के लिए एप्लीकेशन कैसे लिखा जाता है ?

अगर आप छुट्टी लेने के लिए एप्लीकेशन लिखना चाहते हैं तो कुछ जरूरी बातों का आपको ध्यान रखना चाहिए । आप जिस दिन से छुट्टी चाहते हैं उसके एक दिन पहले ही एप्लीकेशन लिखें, छुट्टी का उचित कारण अवश्य दें ।

3. आवेदन और प्रार्थना पत्र में क्या अंतर है ?

आवेदन पत्र मुख्य रूप से नौकरी के संबंध में इस्तेमाल किया जाता है तो वहीं प्रार्थना पत्र आमतौर पर स्कूलों/कॉलेजों के संबंध में इस्तेमाल किया जाता है । हालांकि कई बार इन दोनों शब्दों को एक ही समझा जाता है लेकिन ऐसा है नहीं ।

4. नौकरी पाने के लिए कौनसा पत्र लिखते हैं ?

नौकरी पाने के लिए आवेदन पत्र लिखते हैं जिसमें आपको नौकरी से संबंधित योग्यताओं, कौशल और अनुभवों का जिक्र करना होता है । ध्यान रखें कि नौकरी पाने के लिए हमेशा आवेदन पत्र शब्द का इस्तेमाल करें न कि प्रार्थना पत्र का ।

Conclusion on application in Hindi

ऊपर आपने विस्तार से आपने application in Hindi के बारे में जाना । आवेदन क्या है , आवेदन कैसे लिखें , आवेदन के प्रकार , आवेदन का प्रारूप , प्रधानाध्यापक को बीमारी के लिए पत्र , थानाध्यक्ष को चोरी के लिए आवेदन पत्र के साथ ही बैंक मैनेजर को खाता खुलवाने और पासबुक जारी करने के लिए पत्र लिखना आपने सीखा । यह बहुत सारे मायनों में letter writing जैसा ही होता है ।

  • Top best Hindi grammar books in Hindi
  • Best books for CTET in Hindi
  • Best word meaning in Hindi
  • Best GK books in Hindi
  • Letter writing in Hindi

मैंने पूरी कोशिश की है कि आपको application writing in Hindi के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी दे सकूं । अगर आपको पोस्ट में कोई त्रुटी नजर आए या आपको लगता है कि कुछ जानकारियां छूट गईं हैं तो कॉमेंट बॉक्स के माध्यम से मुझे अवश्य अवगत कराएं । अगर आप दूसरों की मदद करना चाहते हैं तो पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ।

' src=

I have always had a passion for writing and hence I ventured into blogging. In addition to writing, I enjoy reading and watching movies. I am inactive on social media so if you like the content then share it as much as possible .

Related Posts

What is literary sources in hindi – साहित्यिक स्रोत, 15+ letter writing in hindi examples – पत्र लेखन उदाहरण, assistant professor in hindi – असिस्टेंट प्रोफेसर कैसे बनें.

' src=

Nice to meet u sir I m education blogger Language : hindi I need your help Contact

' src=

You can contact on WhatsApp if you need any help.

Leave A Reply Cancel Reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

Type above and press Enter to search. Press Esc to cancel.

HindiKiDuniyacom

करियर पर निबंध (Career Essay in Hindi)

करियर किसी भी व्यक्ति के जीवन का एक महत्वपूर्ण पहलू है। यह किसी भी इंसान की जीवनशैली का नेतृत्व करता है जिससे समाज में उसकी स्थिति निर्धारित होती है। जहाँ हर कोई एक अच्छी जीवन के सपने देखता है वहीँ हर कोई मजबूत कैरियर बनाने में सक्षम नहीं होता जो अच्छी जीवन शैली को सुनिश्चित करता है। करियर आमतौर पर किसी व्यक्ति के जीवन के पेशेवर पहलू से जुड़ा होता है। करियर का चयन करना एक बड़ा निर्णय है और विडंबना यह है कि जब हमें ऐसे निर्णय लेने की आवश्यकता होती है तो हम इस तरह के बड़े निर्णय लेने के लिए तैयार नहीं होते। हम अभी हमारे स्कूली जीवन में हैं जहाँ हमें विज्ञान, वाणिज्य और मानविकी स्ट्रीम के बीच चयन करना पड़ता है जो मुख्य रूप से हमारे बाद के करियर के रास्ते को प्रभावित करता है।

करियर पर छोटे तथा बड़े निबंध (Short and Long Essay on Career in Hindi, Career par Nibandh Hindi mein)

करियर पर निबंध – 1 (300 शब्द).

शुरुआत से ही हमें अध्ययन करने और परीक्षाओं में अच्छे अंक हासिल करने के लिए कहा जाता है। ऐसा करने का मकसद एक मजबूत आधार बनाने और अच्छे ग्रेड लाना है जो आपको एक आकर्षक कैरियर बनाने में मदद करेगा।

मेरी कैरियर योजना

मैं अपनी परीक्षाओं में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा हूं और आसानी से विज्ञान विषय ले सकता हूं। मेरे सभी रिश्तेदारों, मित्रों और परिवार के सदस्यों को भी यही लगता है कि मैं विज्ञान विषय का चयन कर रहा हूं लेकिन मेरी योजना थोड़ी अलग है। मैं इंटीरियर डिजाइनर बनना चाहता हूं। मेरा झुकाव इस क्षेत्र में थोड़ा ज्यादा है। यह मुझे बेहद दिलचस्प लगता है और मुझे लगता है कि मैं वास्तव में इसमें अच्छा काम कर सकता हूं।

मेरे करियर का उद्देश्य

मै इंटीरियर डिजाइनिंग के द्वारा लोगो के आवास को इस तरह डिज़ाइन करना चाहता हुँ की लोग चकित हो जाये। मैं अपने कमरे को बार-बार सजाना पसंद करता हूं और मेरी अद्वितीय सजावट से जुड़े विचारों की सराहना भी की जाती है। मुझे पता है कि यह मेरी ख़ूबी है तथा यह और ज्यादा विकसित होगी। मुझे यकीन है कि मेरा परिवार मेरे निर्णय का सम्मान करेगा और मुझे अपनी पसंद के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित करेगा।

कैरियर चुनना एक चुनौतीपूर्ण कार्य हो सकता है। आपको अंतिम निर्णय लेने से पहले अपने कौशल और दिलचस्पी का मूल्यांकन करना चाहिए, बाजार की स्थिति का अध्ययन करना चाहिए और एक अनुभवी व्यक्ति से परामर्श करना चाहिए।

Career par Nibandh – निबंध 2 (400 शब्द)

आपके द्वारा चुना गया करियर आपके जीवन के विभिन्न पहलुओं पर बहुत प्रभाव डालता है। यह समाज में आपकी स्थिति, आपकी जीवनशैली, आपके सामाजिक चक्र और आपके रिश्तेदारों के साथ आपके संबंधों को भी निर्धारित करता है। इसलिए आपके करियर को बुद्धिमानी से चुनना महत्वपूर्ण है।

करियर का चयन करते समय विचार करने के लिए कारक

करियर चुनने के दौरान कई कारक हैं जिन्हें आपको ध्यान में रखना चाहिए। इन पर एक संक्षिप्त नजर इस प्रकार हैं:

  • आपकी दिलचस्पी और क्षमता

करियर चुनते समय आपको पहली चीज करना चाहिए वह है अपने आप का आकलन। यह समझने कि कोशिश करें कि आपकी रुचि किसमें है। हालांकि केवल किसी विशेष क्षेत्र में रुचि रखना काफी नहीं है। इसके अलावा आपको यह भी देखना चाहिए कि क्या आप उस विशेष व्यवसाय के लिए अच्छी तरह अनुकूल हैं। यह कहना सही होगा कि यदि आपके हित के क्षेत्र में अच्छी तरह प्रदर्शन करने के लिए आपके पास आवश्यक कौशल और क्षमता है तो आपको ऐसा करने कि कोशिश करनी चाहिए।

  • उपलब्ध अवसर

आपकी शैक्षणिक योग्यता और अनुभव से मेल खाने वाले विभिन्न प्रकार के व्यवसाय हो सकते हैं। इन सभी व्यवसायों की सूची बनाना अच्छा विचार है।

सभी उपलब्ध अवसरों को बेहतर समझने के लिए अपनी सूची बनाए और उस सूची में से उस चीज़ को छांटे जो आपके लिए सबसे उपयुक्त है। ऐसा करते समय आपको अपने वरिष्ठ और साथ ही उन साथियों से सलाह लेनी चाहिए जो पहले से ही ऐसे पेशे में हैं। ऐसे कार्य करने के लिए इंटरनेट एक वरदान है। अंतिम निर्णय लेने से पहले इंटरनेट से उसी के बारे में जानकारी इकट्ठा करें।

  • अच्छा बायोडाटा बनाएं

एक बार जब आप यह स्पष्ट कर लें कि आप किस तरह के कैरियर के रास्ते पर चलना चाहते हैं तो अपनी योजना को सफल बनाने के लिए आपको एक अच्छा बायोडाटा लिखना आवश्यक है। अपनी पसंद की नौकरी को पाने में आपका बायोडाटा एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसलिए आपको एक अच्छी तैयारी करनी चाहिए।

  • हुनर पैदा करें

कई बार आपकी शैक्षणिक योग्यता आपकी पसंद का व्यवसाय करने के लिए पर्याप्त नहीं हो सकती है। आपको व्यावसायिक प्रशिक्षण से गुजरने वाले कुछ अतिरिक्त कौशल की आवश्यकता हो सकती है। ऐसे अल्पकालिक प्रशिक्षण और कार्यशालाओं में जाने से संकोच न करें।

आपको अपना करियर सावधानी से चुनना चाहिए क्योंकि यह आपके जीवन के विभिन्न पहलुओं से जुड़ा हुआ है। अपना समय लीजिए, सभी विकल्पों का अन्वेषण करें, उन लोगों की सलाह लें जो आपसे अनुभवी हैं और फिर निर्णय लीजिए। एक बार जब आपने अपना करियर चुन लिया तो कड़ी मेहनत करें ताकि आप अपनी पसंद के क्षेत्र में जा सकें।

निबंध 3 (500 शब्द)

करियर का निर्माण करने के लिए शिक्षा, कौशल, दृढ़ संकल्प के साथ-साथ अच्छे अवसर की आवश्यकता होती है। एक आकर्षक करियर बनाने के लिए हार नहीं मानने और लगातार अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आगे बढ़ना शामिल है।

भारत में करियर के अवसर

भारत हर साल लाखों प्रतिभाशाली युवाओं का उत्पादन करने के लिए जाना जाता है। हालांकि हमारे देश की शिक्षा प्रणाली की बार-बार आलोचना की गई है फिर भी हम इस तथ्य से इनकार नहीं कर सकते हैं कि हमारे स्नातकों और स्नातकोत्तर पूरे विश्व के बड़े ब्रांडों में नौकरियां करने के जरिए मील का पत्थर स्थापित कर रहे हैं। हालांकि देश इन योग्य और कुशल व्यक्तियों को अच्छे रोजगार के अवसर प्रदान करता है लेकिन वास्तव में उन्हें एक नौकरी प्राप्त करने के लिए बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ता हैं।

पहली बाधा यह है कि बाजार में नौकरियां देश के योग्य व्यक्तियों के समान नहीं हैं। भारत की बढ़ती आबादी इसके लिए जिम्मेदार है। दूसरा यहां दिए गए वेतन पैकेज अक्सर इन युवाओं को विदेशों में मिलने वाले पैकेजों की तुलना में कम है। आरक्षण या कोटा प्रणाली एक और कारण है कि क्यों योग्य उम्मीदवारों को देश में अच्छी नौकरी नहीं मिलती। ये सब कारण है कि कई योग्य डॉक्टर, इंजीनियर और अन्य पेशेवर देश से बाहर चले जाते हैं।

विदेशों में करियर के अवसर

भारत में मिलने वाली सैलरी की तुलना में विकसित देश अच्छा वेतन और एक बेहतर जीवन शैली प्रदान करते हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, कनाडा, सिंगापुर और ऑस्ट्रेलिया जैसे देश हमेशा अपने व्यवसायों को बढ़ाने के लिए प्रतिभाशाली युवाओं की तलाश करते हैं और अपने देश की अर्थव्यवस्था को नई ऊंचाइयों पर ले जाते हैं। विज्ञान, प्रौद्योगिकी, प्रबंधन और कई अन्य क्षेत्रों में कई अवसर उपलब्ध हैं। भारत जैसे विकासशील देश के लोग अच्छे रोजगार के अवसर, बेहतर पैकेज और एक अच्छी जीवन शैली की तलाश कर रहे हैं और इस तरह विकसित देशों द्वारा प्रदान किए गए अवसरों को प्राप्त कर सकते हैं।

हर साल कई पेशेवर अपने मूल देश को छोड़कर विकसित विश्व देशों की ओर स्थानांतरित हो जाते हैं जिससे ब्रेन ड्रेन की समस्या उत्पन्न होती है।

करियर के लक्ष्य कैसे प्राप्त करें ?

जहाँ बहुत से लोग अच्छे रोजगार के अवसरों की तलाश में विदेशों में जाते हैं वहीँ अन्य कम वेतन देने वाली नौकरियों या जो उनकी योग्यता के अनुरूप नहीं हैं उसके लिए विदेशों का रुख करते हैं। उन सभी लोगों के लिए जिनका सपना बड़ा करियर बनाना था लेकिन कम से संतोष करना पड़ा उनके लिए अभी भी आशा है। अपने करियर के लक्ष्यों को हासिल करने में आपकी सहायता करने के लिए यहां कुछ युक्तियां दी गई हैं:

  • अपने लिंक्डइन प्रोफाइल को अपडेट रखें

नौकरी देने वाली कंपनियों का ध्यान आकर्षित करने के लिए अपनी लिंक्डइन प्रोफाइल को बनाए रखना आवश्यक है। इसके अलावा इस मंच के साथ-साथ अन्य जॉब पोर्टल्स पर भी सक्रिय रहें जिससे कि किसी भी नए अवसर की तलाश में मदद मिला सके। इस मंच पर एक अच्छी प्रोफ़ाइल आपको अच्छे अवसरों को प्राप्त करने में मदद दे सकता है।

  • नेटवर्क बनाएँ

एक ही क्षेत्र के पेशेवरों के साथ पब्लिक रिलेशन और नेटवर्किंग बनाए रखना नवीनतम जानकारी के साथ उद्योग क्षेत्र में अद्यतित रहने के लिए आवश्यक है।

  • उद्योग संगोष्ठियों और घटनाओं में हिस्सा लें

इन दिनों कई सेमिनार और उद्योग महोत्सव आयोजित किए जाते हैं। उद्योगों में अधिक अंतर्दृष्टि प्राप्त करने और प्रभावशाली लोगों से मिलने के लिए इस तरह के सेमिनारों में भाग लेने का सुझाव दिया जाता है।

इसके अलावा समय-समय पर अपने कैरियर के लक्ष्यों की समीक्षा करना और सीखना बंद न करें।

भारत सरकार को ऐसे मुद्दों को रोकने चाहिए जो देश के व्यक्तियों को अच्छे करियर के अवसर प्रदान करने में बाधा पैदा कर रहे हैं। एक देश जो अपने नागरिकों की प्रतिभा और कौशल को महत्व देता है और इसे एक सही गति से सही दिशा में आगे बढ़ाता है।

Essay on Career

निबंध 4 (600 शब्द)

जहाँ एक तरफ प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उन्नति ने मजदूर वर्ग से नौकरियां छीन ली हैं वहीँ दूसरी तरफ इसने अच्छी तरह से शिक्षित लोगों के लिए कई आकर्षक नौकरियों के अवसरों का मौका दिया है। तकनीकी ज्ञान से लैस लोगों के लिए अधिक अवसर हैं।

करियर के अवसर

इससे पहले यह माना जाता था कि जो लोग 10वीं कक्षा के बाद विज्ञान के विषयों को चुनते हैं उनका आकर्षक करियर बनने की संभावना ज्यादा है और जो वाणिज्य विषयों को चुनते हैं उनके अच्छे करियर की संभावना कम है और उन लोगों के लिए अच्छे करियर की ना के बराबर संभावना है जो कला/आर्ट्स क्षेत्र के विषयों को चुनते हैं। ऐसा कुछ दशक पहले तक सही था लेकिन अब नहीं हैं। इन दिनों हर विषयों में विशाल संभावनाएं हैं। आपके द्वारा चुने गये विषयों के आधार पर यहां विभिन्न करियर के अवसरों पर एक नज़र डाली गई हैं:-

विज्ञान विषय

यहां उन छात्रों के लिए करियर के अवसरों के बारे में बताया गया है जो विज्ञान विषय का चयन करते हैं:

आप 12वीं कक्षा के बाद इंजीनियरिंग में डिग्री हासिल कर सकते हैं। इंजीनियरिंग के बारे में जानने के लिए कई क्षेत्रों के विशेषज्ञ पाठ्यक्रम मौजूद हैं उनमें से कुछ हैं: इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग, केमिकल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, पेट्रोलियम इंजीनियरिंग, एयरोस्पेस इंजीनियरिंग, जैव प्रौद्योगिकी इंजीनियरिंग, खनन इंजीनियरिंग, कपड़ा इंजीनियरिंग, कृषि इंजीनियरिंग, उत्पादन इंजीनियरिंग, विद्युत अभियांत्रिकी और मरीन इंजीनियरिंग। इनमें से किसी भी क्षेत्र में योग्य इंजीनियर एक सलाहकार, सहायक अभियंता, मुख्य अभियंता या पर्यवेक्षक के रूप में काम कर सकता है।

इसके अलावा कोई भी बी.एस.सी की डिग्री जैसे भौतिकी में बी.एस.सी, रसायन विज्ञान में बी.एस.सी, गणित में बी.एस.सी, जैव प्रौद्योगिकी में बी.एस.सी, वानिकी में बी.एस.सी, आईटी और कंप्यूटर विज्ञान में बी.एस.सी, विमान और इलेक्ट्रॉनिक्स में में बी.एस.सी आदि। इन पाठ्यक्रमों में से किसी को भी पूरा करने के बाद आप शिक्षण या अनुसंधान और विकास में करियर का निर्माण कर सकते हैं।

यदि आपके मन में तकनीक की ओर झुकाव अधिक है तो बीसीए एक अच्छा विकल्प है। आईटी कंपनियां बीसीए स्नातकों की तलाश में रहती हैं। इसके बाद एमसीए की डिग्री हासिल करना अच्छे रोज़गार के अवसर प्रदान करता है। बैचलर ऑफ़ आर्किटेक्चर, बैचलर ऑफ फार्मेसी और कमर्शियल पायलट ट्रेनिंग आदि ऐसे क्षेत्र हैं जहाँ  आप जा सकते हैं।

वाणिज्य विषय

जो लोग 10वीं कक्षा के बाद वाणिज्य विषय का चुनाव करते हैं उनके पास आगे भी आगे बढ़ने के कई अवसर हैं। यहां इनमें से कुछ पर नज़र डाली गई हैं:

चार्टर्ड अकाउंटेंसी (सीए), कंपनी सेक्रेटीशिप (सीएस), कॉस्ट और वर्क अकाउंटेंट (सीडब्ल्यूए), बैचलर्स ऑफ कॉमर्स (बीकॉम), बैचलर्स ऑफ बिज़नस एडमिनिस्ट्रेशन (बीबीए), बैचलर ऑफ बिज़नस मैनेजमेंट, बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, होटल प्रबंधन, कानून (एलएलबी) और खुदरा प्रबंधन। इनमें से किसी भी क्षेत्र में करियर बनाना सम्मानजनक और आकर्षक है।

आर्ट्स/कला विषय

कक्षा 10वीं के बाद आर्ट्स विषय चुनने वाले छात्रों के लिए भी एक व्यापक गुंजाइश है। यहां विभिन्न उपलब्ध विकल्पों पर एक नज़र डाली गई है:

कोई भी 12वीं कक्षा को पूरा करने के बाद अपनी रुचि के क्षेत्र में विशेषज्ञ बैचलर ऑफ आर्ट्स के लिए जा सकता है। अंग्रेजी, समाजशास्त्र, राजनीति विज्ञान, दर्शनशास्त्र, सामाजिक कार्य, इतिहास, मनोविज्ञान, ललित कला, पुस्तकालय विज्ञान और पत्रकारिता में कला आदि स्नातक के कुछ विकल्पों में से हैं। विभिन्न क्षेत्रों में व्यावसायिक ज्ञान और प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए डिप्लोमा पाठ्यक्रम भी किया जा सकता है। डिप्लोमा इन ट्रैवल एंड टूरिज्म, डिप्लोमा इन इंटीरियर डिज़ाईनिंग, डिप्लोमा इन फॉरेन लैंग्वेज, डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट, डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट, टीचर ट्रेनिंग (टीटीसी), डिप्लोमा इन एयर होस्टेस एंड फ्लाईट स्टीवर्ड इन पाठ्यक्रमों में से कुछ हैं। कुछ डिग्री कोर्स की अवधि 3 से 5 साल हो सकती है। डिप्लोमा पाठ्यक्रम ज्यादातर 6 महीने से 2 साल के समय में पूरा हो सकते हैं। जो लोग इन पाठ्यक्रमों में से कोई विकल्प चुनते हैं तो उनके लिए भविष्य में बहुत अच्छे अवसर हैं।

भारत और साथ ही विदेश में योग्य और कुशल उम्मीदवारों के लिए अच्छे करियर के अवसर मौजूद हैं। हालांकि प्रतियोगिता कठिन है तो सिर्फ एक अच्छे कोर्स में दाखिला लेना काफी नहीं है। एक मजबूत करियर बनाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी चाहिए और परीक्षाओं को भी अच्छे ग्रेड के साथ पास करना ज़रूरी है।

संबंधित पोस्ट

मेरी रुचि

मेरी रुचि पर निबंध (My Hobby Essay in Hindi)

धन

धन पर निबंध (Money Essay in Hindi)

समाचार पत्र

समाचार पत्र पर निबंध (Newspaper Essay in Hindi)

मेरा स्कूल

मेरा स्कूल पर निबंध (My School Essay in Hindi)

शिक्षा का महत्व

शिक्षा का महत्व पर निबंध (Importance of Education Essay in Hindi)

बाघ

बाघ पर निबंध (Tiger Essay in Hindi)

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CollegeDekho

Frequently Search

Couldn’t find the answer? Post your query here

  • अन्य आर्टिकल्स

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध (Essay on Dr. APJ Abdul Kalam in Hindi) - सभी क्लास के लिए हिंदी में 100, 200 और 500 शब्दों में निबंध लिखें

  • एपीजे अब्दुल कलाम पर हिंदी में निबंध (Essay on APJ …
  • एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध (Essay on APJ Abdul Kalam) …

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध (Essay on Dr. APJ Abdul Kalam in Hindi)

Confused about your exam or college applications?

सबसे पहले जाने.

लेटेस्ट अपडेट प्राप्त करें

एपीजे अब्दुल कलाम पर हिंदी में निबंध (Essay on APJ Abdul Kalam in Hindi) - ऐसे तैयार करें 

एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध (essay on apj abdul kalam) - 100 से 500 शब्दों में , एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध (essay on apj abdul kalam) - देश के प्रति योगदान , क्या आपके कोई सवाल हैं हमसे पूछें..

24-48 घंटों के बीच सामान्य प्रतिक्रिया

व्यक्तिगत प्रतिक्रिया प्राप्त करें

बिना किसी मूल्य के

समुदाय तक पहुंचे

समरूप आर्टिकल्स

  • सीटीईटी रिजल्ट 2024 स्टेटिस्टिक्स जारी (CTET Result 2024 Statistics Out): पंजीकृत वर्सेस उपस्थित वर्सेस योग्य उम्मीदवारों का विश्लेषण
  • सीटेट 2024 में अच्छा स्कोर (Good Score in CTET Exam 2024) क्या है?
  • सीटेट रिजल्ट 2024 कैसे चेक करें? (How to Check CTET Result 2024) - सीटीईटी स्कोर कार्ड @ctet.nic.in से डाउनलोड करें
  • होली पर निबंध (Essay on Holi in Hindi): इतिहास, महत्व, 200 से 500 शब्दों में होली पर हिंदी में निबंध लिखना सीखें
  • अब्राहम लिंकन पर हिंदी में निबंध (Essay on Abraham Lincoln in Hindi): 250 शब्दों से 500 में निबंध लिखना सीखें
  • बसंत पंचमी 2024: सरस्वती पूजा पर हिंदी में निबंध

नवीनतम आर्टिकल्स

  • एचबीएसई कक्षा 12वीं प्रैक्टिकल एग्जाम डेट शीट 2024 (HBSE Class 12 Practical Exam Date Sheet 2024): हरियाणा बोर्ड 12वीं प्रैक्टिकल तारीख
  • गार्गी पुरस्कार छात्रवृत्ति 2024 योजना (Gargi Puraskar Scholarship 2024 Scheme)
  • एसएससी सीजीएल पासिंग मार्क्स 2024 (SSC CGL Passing Marks 2024): टियर 1 और टियर 2
  • 12वीं और ग्रेजुएशन के बाद भारत में टॉप प्रोफेशनल कोर्सेस की लिस्ट (List of Top Professional Courses in India after 12th and Graduation in Hindi)
  • यूपी टेट नोटिफिकेशन 2024 (UPTET Notification 2024 in Hindi) जल्द - यूपीटीईटी अधिसूचना पीडीएफ हिंदी में डाउनलोड करें
  • यूपी पुलिस सिलेबस 2024 (UP Police Syllabus 2024 in Hindi) - सिपाही, हेड कांस्टेबल भर्ती पाठ्यक्रम हिंदी में देखें
  • राजस्थान बोर्ड 12वीं एडमिट कार्ड 2024 कैसे डाउनलोड करें? (How to Download RBSE 12th Admit Card 2024?) - आरबीएसई इंटर प्रवेश पत्र डाउनलोड करें

ट्रेंडिंग न्यूज़

सीटेट पासिंग मार्क्स 2024 (CTET Passing marks 2024): जनरल, ओबीसी, एससी, एसटी क्वालीफाइंग मार्क्स चेक करें

Subscribe to CollegeDekho News

  • Select Stream Engineering Management Medical Commerce and Banking Information Technology Arts and Humanities Design Hotel Management Physical Education Science Media and Mass Communication Vocational Law Others Education Paramedical Agriculture Nursing Pharmacy Dental Performing Arts

कॉलेजदेखो के विशेषज्ञ आपकी सभी शंकाओं में आपकी मदद कर सकते हैं

  • Enter a Valid Name
  • Enter a Valid Mobile
  • Enter a Valid Email
  • By proceeding ahead you expressly agree to the CollegeDekho terms of use and privacy policy

शामिल हों और विशेष शिक्षा अपडेट प्राप्त करें !

Details Saved

application of essay in hindi

Your College Admissions journey has just begun !

Try our AI-powered College Finder. Feed in your preferences, let the AI match them against millions of data points & voila! you get what you are looking for, saving you hours of research & also earn rewards

For every question answered, you get a REWARD POINT that can be used as a DISCOUNT in your CAF fee. Isn’t that great?

1 Reward Point = 1 Rupee

Basis your Preference we have build your recommendation.

  • School & Boards
  • College Admission
  • Govt Jobs Alert & Prep
  • Current Affairs
  • GK & Aptitude

CBSE Class 12 Hindi Question Paper 2024, All SETs Download PDF

Cbse class 12 hindi question paper 2024: in this article, students will get the cbse 12th hindi question paper 2024 along with pdf download link of the same. check the authentic cbse class 12 hindi question paper 2024 here..

Tanisha Agarwal

CBSE Class 12 Hindi Question Paper 2024

Cbse class 12 hindi core question paper 2024.

Find the CBSE Class 12 Hindi Core Question Paper 2024 (Set 2)

application of essay in hindi

Find the CBSE Class 12 Hindi Core Question Paper 2024 (Set 3)

application of essay in hindi

CBSE 12th Hindi Core question paper 2024 pdf download link

Cbse class 12 hindi elective question paper 2024.

application of essay in hindi

CBSE 12th Hindi question paper 2024 pdf download link

CBSE Class 12 Hindi Answer Key 2024

By clicking on the link above, students can get an opportunity to check the CBSE 12th Hindi answer key 2024 along with a PDF download link of the same. The answer key will help students in checking their estimated results. 

CBSE Class 12 Hindi Exam Analysis 2024

It is important to know how have other students performed in the exam, to get an idea of how we have performed in the exam. For all curious minds, check the link above to get a detailed exam analysis of the CBSE 12th Hindi question paper 2024. 

Also Check: 

CBSE Class 12 Syllabus 2023-2024 (All Subjects)

CBSE Class 12 Sample Paper 2023-2024 (All Subjects)

CBSE Class 12 Practice Papers 2023-2024

NCERT Solutions for Class 12 (All Subjects and Chapters)

Important Questions for Class 12 Board Exam 2024 (All Subjects)

CBSE Class 12 Study Material 2024

Get here latest School , CBSE and Govt Jobs notification in English and Hindi for Sarkari Naukari and Sarkari Result . Download the Jagran Josh Sarkari Naukri App .

  • CBSE Date Sheet 2024
  • CBSE 10th Date Sheet 2024
  • CBSE 12th Date Sheet 2024
  • CBSE Class 12 English Sample Paper 2024
  • CBSE 12th English Syllabus 2024
  • SSC CPO Notification 2024
  • SSC GD Constable Analysis 2024
  • TN TRB Answer Key 2024
  • SSC GD Constable Memory Based Questions
  • ICG AC Recruitment 2023

Related Stories

CBSE Class 10 Hindi Top 50 MCQs for Board Exam 2024 with Answers (PDF)

CBSE 12th English Paper 2024: Check Tips and Tricks to Secure Good Marks

CBSE Class 12 Hindi Last 7 Days Preparation Tips and Strategies for Board Exam 2024

Trending Categories

  • CBSE Class 12

Latest Education News

Picture Puzzle IQ Test: Find the mistake in the picture in 5 seconds!

Mother Teresa University Result 2024 OUT at motherteresawomenuniv.ac.in; Download PG Marksheet

Rajju Bhaiya University Result 2024 OUT; Direct Link to Download UG PG Result PDF at prsuniv.ac.in

Two Huntsman and Four Dogs! You Have 3 Seconds To Find The FOX Hidden In This Optical Illusion. Try Your Luck!

AFCAT Expected Cut off 2024, Previous Year Minimum Qualifying Marks

HBSE Result 2024: Haryana Board Class 10, 12 Result Date And Time at bseh.org.in

HBSE 10th Result 2024: Haryana Board Class 10 Result Date And Time at bseh.org.in

HBSE 12th Result 2024: Haryana Board Class 12 Result Date And Time at bseh.org.in

Put your investigating skills to the test and spot the mistake in couple standing in the park picture within 6 seconds.

TBSE Result 2024: Tripura Board Class 10th, 12th Result Date And Time at tbse.tripura.gov.in

Tripura Board 10 Result 2024: TBSE Class 10th Result Date And Time at tbse.tripura.gov.in

Tripura Board 12th Result 2024: TBSE Class 12th Result Date And Time at tbse.tripura.gov.in

TBSE 12th Science Result 2024 : Tripura Board Class 12th Science Result Date And Time at tbse.tripura.gov.in

TBSE 12th Commerce Result 2024 : Tripura Board Class 12th Commerce Result Date And Time at tbse.tripura.gov.in

TBSE 12th Arts Result 2024 : Tripura Board Class 12th Arts Result Date And Time at tbse.tripura.gov.in

Optical Illusion: Find the hidden cat in the picture in 7 seconds!

AAI JE Recruitment 2024: Apply Online for 490 Jr Executive Posts at aai.aero

TS Inter Hall Ticket 2024 LIVE: TSBIE Intermediate 1st, 2nd Year Admit Card to be Released at tsbie.cgg.gov.in, Get Direct Link

क्रिकेट के मैदान से हटकर शुबमन गिल को मिली यह बड़ी जिम्मेदारी, पढ़ें

application of essay in hindi

25,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today

Here’s your new year gift, one app for all your, study abroad needs, start your journey, track your progress, grow with the community and so much more.

application of essay in hindi

Verification Code

An OTP has been sent to your registered mobile no. Please verify

application of essay in hindi

Thanks for your comment !

Our team will review it before it's shown to our readers.

application of essay in hindi

  • Essays in Hindi /

Essay on Digital India in Hindi : डिजिटल इंडिया पर निबंध 100, 200 और 600 शब्दों में 

' src=

  • Updated on  
  • सितम्बर 11, 2023

Essay on Digital India in Hindi

डिजिटल इंडिया ग्रामीण क्षेत्रों में हाई-स्पीड इंटरनेट नेटवर्क प्रदान करने के लिए भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक पहल थी। डिजिटल इंडिया मिशन को 1 जुलाई 2015 को मेक इन इंडिया, भारतमाला, सागरमाला, स्टार्टअप इंडिया, भारतनेट और स्टैंडअप इंडिया सहित अन्य सरकारी योजनाओं के लाभार्थी के रूप लॉन्च किया गया था। डिजिटाइज़ेशन समय की मांग है। आईये जानें कुछ डिजिटल इंडिया पर निबंध (Essay on Digital India in Hindi) के कुछ सैंपल निबंध।  

This Blog Includes:

Essay on digital india in hindi 100 शब्दों में  , essay on digital india in hindi 200 शब्दों में, प्रस्तावना , डिजिटल इंडिया कार्यक्रम का विस्तार, डिजिटल इंडिया लक्ष्य , निष्कर्ष , डिजिटल इंडिया पर 10 लाइन्स , डिजिटल इंडिया स्लोगन .

100 शब्दों में डिजिटल इंडिया पर निबंध कुछ इस प्रकार है –

“डिजिटल इंडिया” एक महत्वपूर्ण नेतृत्वकारी पहल है, जिसका उद्देश्य भारत को डिजिटल प्लेटफार्म पर ले जाना है। इस पहल के तहत, सरकार ने डिजिटल सुविधाएँ प्रदान करने, डिजिटल शिक्षा को प्रोत्साहित करने और डिजिटल सर्विसेज को पहुंचाने के लिए अनेक कदम उठाए हैं। इससे नागरिकों को आसानी से विभिन्न सरकारी सेवाओं और जानकारी का उपयोग करने का मौका मिलता है। यह भारत को एक डिजिटल युग में आगे बढ़ने में मदद कर रहा है और साथ ही देश के विकास को गति दे रहा है। “डिजिटल इंडिया” का महत्व आज की तकनीकी दुनिया में बढ़ता जा रहा है और हमारे देश के साथ ही हम सभी के लिए भी एक मजबूत भविष्य बना रहा है। 

200 शब्दों में डिजिटल इंडिया पर निबंध कुछ इस प्रकार है –

“डिजिटल इंडिया” एक महत्वपूर्ण सरकारी पहल है जो भारत को डिजिटल युग में लाने का प्रयास कर रही है। भारत सरकार द्वारा डिजिटल इंडिया अभियान 1 जुलाई 2015 को शुरू किया गया था। इसका उद्देश्य भारतीय नागरिकों को इंटरनेट और डिजिटल प्रौद्योगिकी के जरिए सरकारी सेवाओं तक पहुंचना है।

“डिजिटल इंडिया” के तहत बड़े ही परिश्रम से डिजिटल सुविधाएँ प्रदान की जा रही हैं, जैसे कि जनधन योजना, आधार, डिजिटल रोजगार और डिजिटल विद्या। इससे गांवों और शहरों के लोग आसानी से सरकारी सेवाओं का उपयोग कर सकते हैं, जो समृद्धि और सुविधा की दिशा में महत्वपूर्ण है।

“डिजिटल इंडिया” के माध्यम से भारत में डिजिटल शिक्षा को भी प्रोत्साहित किया जा रहा है, जिससे तकनीकी ज्ञान और कौशलों का संवर्धन हो रहा है। इससे देश का विकास और सामाजिक न्याय में सुधार हो रहा है।

समापक रूप से, “डिजिटल इंडिया” भारत को ग्लोबल तकनीकी नागरिक बनाने की दिशा में कदम बढ़ा रहा है और देश के विकास को सुनिश्चित रूप से गति दे रहा है। इसका महत्व आजकल की तकनीकी दुनिया में और भी बढ़ रहा है और हमारे देश के लिए एक सशक्त भविष्य बनाने में मदद कर रहा है।

Essay on Digital India in Hindi 600 शब्दों में 

600 शब्दों में डिजिटल इंडिया पर निबंध कुछ इस प्रकार है –

भारत 2047 तक विकसित राष्ट्र बनने के लक्ष्य को लेकर आगे बढ़ रहा है। किसी भी देश के लिए डिजिटल अर्थव्यवस्था की मजबूती आज के वक्त में प्राथमिकता वाला मुद्दा है. डिजिटल अर्थव्यवस्था को मजबूत करके ही भारत विकसित राष्ट्र के लक्ष्य को हासिल कर सकता है। 

डिजिटल अर्थव्यवस्था की दिशा में भारत ने 8 साल पहले एक ऐसा फैसला लिया था, जिसकी बदौलत हम आज वैश्विक अर्थव्यवस्था के चमकते सितारे बन चुके हैं। एक जुलाई 2015 को देश में डिजिटल इंडिया कार्यक्रम की शुरुआत की गई थी। इस अभियान को और भी मजबूती देने की जरूरत है। इसी पहलू को ध्यान में रखकर भारत सरकार ने डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार का फैसला किया है। 

केंद्रीय कैबिनेट ने 16 अगस्त को डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार मंजूरी दे दी। इस पर 14, 903 करोड़ रुपये खर्च होंगे. डिजिटल इंडिया विस्तार के तहत पहले से जारी कार्यों को आगे बढ़ाया जाएगा। कुछ नए पहल भी होंगे।  बजट खर्च को वित्त वर्ष 2021-22 से 2025-26 तक पांच साल के लिए स्वीकार किया गया है। 

डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार का फैसला कुछ लाभ को रखकर किया गया है.  डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार के तहत कुछ लक्ष्य तय किए गए हैं. ये इस प्रकार हैं:

  • फ्यूचर स्किल प्राइम कार्यक्रम के तहत 6.25 लाख आईटी पेशेवरों को आधुनिक टेक्नोलॉजी के हिसाब से प्रशिक्षित कर उनके स्किल को बेहतर किया जाएगा। 
  • सूचना सुरक्षा और शिक्षा जागरूकता चरण (ISEA) कार्यक्रम के तहत 2.65 लाख लोगों को सूचना सुरक्षा के क्षेत्र में ट्रेनिंग दी जाएगी। 
  • राष्ट्रीय ज्ञान नेटवर्क (NKN) के आधुनिकीकरण के तहत इसमें 1,787 शिक्षण संस्थानों को जोड़ा जाएगा। 
  • डिजीलॉकर के तहत डिजिटल दस्तावेज सत्यापन की सुविधा अब  सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के साथ दूसरे संगठनों के लिए भी होगी। 
  • यूनिफाइड मोबाइल एप्लिकेशन फॉर न्यू एज गवर्नेंस (UMANG) ऐप पर फिलहाल 1,700 से ज्यादा सेवाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं।  अब इस निःशुल्क मोबाइल ऐप उमंग पर इनके अलावा 540 अतिरिक्त सेवाएं भी मुहैया कराई जाएंगी। 
  • डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार के तहत  टियर 2/3 शहरों में 1,200 स्टार्टअप्स को  वित्तीय मदद दी जाएगी। 
  • तीन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस उत्कृष्टता केंद्र बनाए जाएंगे, जो स्वास्थ्य, कृषि और टिकाऊ शहरों की ज़रूरतों पर आधारित होंगे। 
  • साइबर-जागरूकता पाठ्यक्रम चलाकर 12 करोड़ कॉलेज छात्रों को साइबर सुरक्षा को लेकर जागरूक किया जाएगा। 
  • साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में नई पहल शुरू की जाएगी. इसके तहत उपकरणों के विकास और राष्ट्रीय साइबर समन्वय केंद्र के साथ 200 से अधिक साइटों का एकीकरण किया जाएगा। 
  • राष्ट्रीय सुपर कंप्यूटर मिशन के तहत फिलहाल 18 सुपर कम्प्यूटर काम कर रहे हैं। डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार के तहत अब इस मिशन में 9 और सुपर कंप्यूटर जुड़ जाएंगे. भारत सरकार ने मार्च, 2015 में राष्ट्रीय सुपर कंप्यूटर मिशन के तहत 4,500 करोड़ रुपये की लागत से 2022 तक 70 सुपर कंप्यूटर स्थापित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। 
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए बहु-भाषा अनुवाद उपकरण ‘भाषिणी’  को सभी 22 अनुसूची और 8 भाषाओं में शुरू किया जाएगा। फिलहाल ये 10 भाषाओं में उपलब्ध है। 

भारत में फ्यूचर डिजिटल टेक का विस्तार हो, इसमें स्पेस, मैपिंग, ड्रोन, गेमिंग और एनिमेशन की भूमिका काफी ज्यादा रहने वाली है। यही कारण है कि केंद्र सरकार इन क्षेत्रों में इनोवेशन को लगातार बढ़ावा दे रही है. इसके लिए नीतिगत कदम के साथ आर्थिक सहायता भी मुहैया कराया जा रहा है। IN-SPACe और नई ड्रोन पॉलिसी जैसे कदमों से अगले 10 साल में भारत के टेक पोटेंशियल को नई ऊर्जा मिलने की भरपूर संभावना है। डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार में इन बातों का भी ख्याल रखा गया है। 

Essay on Digital India in Hindi

  • “डिजिटल इंडिया” भारत सरकार की महत्वपूर्ण पहल है। 
  • यह भारत को तकनीकी विकास की ओर अग्रसर करने का प्रयास कर रही है। 
  • इसका उद्देश्य भारत को डिजिटल और तकनीकी युग में ले जाना है।
  • डिजिटल इंडिया के अंतर्गत, सरकार ने इंटरनेट कनेक्टिविटी को बढ़ावा दिया है। 
  • इस पहल से गांवों और शहरों के लोग डिजिटल सेवाओं और जानकारी का आसानी से उपयोग कर सकते हैं।
  • इस पहल के तहत, आधार, जनधन योजना, डिजिटल बैंकिंग, और डिजिटल पेमेंट्स जैसी डिजिटल सेवाएँ भी प्रदान की जा रही हैं।
  • डिजिटल इंडिया ने भारतीय शिक्षा प्रणाली में भी तकनीकी सुधार किया है और डिजिटल शिक्षा को प्रोत्साहित किया है। 
  • इस पहल से भारत के नागरिकों को आर्थिक सुरक्षा में सुधार हुआ है और उन्हें अधिक सुविधाएँ मिल रही हैं।
  • “डिजिटल इंडिया” भारत को तकनीकी दुनिया में गर्वित स्थिति दिलाने का माध्यम बन चुका है और देश के विकास को सुदृढ़ करने में महत्वपूर्ण योगदान कर रहा है।
  • डिजिटल इंडिया का महत्त्व आजकल की तकनीकी दुनिया में और भी बढ़ रहा है और हमारे देश के लिए एक सशक्त भविष्य बनाने में मदद कर रहा है।
  • “डिजिटल इंडिया, डिजिटल भविष्य!”
  • “डिजिटल इंडिया: तकनीकी सुविधा सभी के लिए!”
  • “बदल रहा है भारत, डिजिटल इंडिया के साथ!”
  • “डिजिटल इंडिया, समृद्धि की ओर कदम बढ़ाता है!”
  • “स्मार्ट इंडिया, डिजिटल इंडिया!”
  • “डिजिटल इंडिया: तकनीकी क्रांति का प्रतीक!”
  • “जुड़ो और बढ़ो, डिजिटल इंडिया के साथ!”
  • “आओ, हम सभी बनाएं डिजिटल इंडिया!”
  • “डिजिटल इंडिया, हमारी पहचान!”
  • “तकनीक का जादू, डिजिटल इंडिया के साथ है!”

डिजिटल इंडिया भारत सरकार का एक पहल है जिसका मुख्य उद्देश्य डिजिटल सूचना प्रौद्योगिकी का प्रयोग करके भारत को आगे बढ़ाना है। इसका उद्देश्य डिजिटल अद्यतन तकनीकी और सभी नागरिकों को डिजिटल जीवन के साथ मिलाने का है।

डिजिटल इंडिया के तहत कई मुख्य योजनाएँ हैं, जैसे कि Digital India Platform, BharatNet, e-Governance, Digital Locker, e-Hospital, e-Sign, और अन्य। ये योजनाएँ इलेक्ट्रॉनिक सरकार की दिशा में कई उपायों के साथ सरकार की सेवाओं को डिजिटल रूप से पहुँचाने का काम करती हैं।

BharatNet भारत सरकार की एक योजना है जिसका उद्देश्य गांवों और शहरों को उच्च गति वाले इंटरनेट कनेक्टिविटी से जोड़ना है। इसके तहत फाइबर ऑप्टिक केबल और वायरलेस तकनीक का प्रयोग किया जाता है ताकि अधिक लोग डिजिटल जीवन का आनंद ले सकें।

Digital Locker एक डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म है जो नागरिकों को उनके महत्वपूर्ण दस्तावेज़ (जैसे कि पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी, आदि) को डिजिटल रूप में सुरक्षित रखने की सुविधा प्रदान करता है।

e-Governance सरकारी सेवाओं को इलेक्ट्रॉनिक तरीके से प्रदान करने की प्रक्रिया को संदर्भित करता है। इसका मुख्य उद्देश्य सरकारी सेवाओं को नागरिकों के लिए अधिक पहुँचने और ट्रांसपैरेंट बनाना है।

आप डिजिटल इंडिया के अधिकारी वेबसाइट पर जा कर अपना आवेदन जमा कर सकते हैं और वहां से इसके विभिन्न योजनाओं और सेवाओं का उपयोग कर सकते हैं। आप अपने स्थानीय सरकारी निकायों से भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

यह था डिजिटल इंडिया पर निबंध, Essay on Digital India in Hindi पर हमारा ब्लॉग। इसी तरह के अन्य निबंध से सम्बंधित ब्लॉग्स पढ़ने के लिए Leverage Edu के साथ बनें रहें।

' src=

विशाखा सिंह

A voracious reader with degrees in literature and journalism. Always learning something new and adopting the personalities of the protagonist of the recently watched movies.

प्रातिक्रिया दे जवाब रद्द करें

अगली बार जब मैं टिप्पणी करूँ, तो इस ब्राउज़र में मेरा नाम, ईमेल और वेबसाइट सहेजें।

Contact no. *

browse success stories

Leaving already?

8 Universities with higher ROI than IITs and IIMs

Grab this one-time opportunity to download this ebook

Connect With Us

25,000+ students realised their study abroad dream with us. take the first step today..

application of essay in hindi

Resend OTP in

application of essay in hindi

Need help with?

Study abroad.

UK, Canada, US & More

IELTS, GRE, GMAT & More

Scholarship, Loans & Forex

Country Preference

New Zealand

Which English test are you planning to take?

Which academic test are you planning to take.

Not Sure yet

When are you planning to take the exam?

Already booked my exam slot

Within 2 Months

Want to learn about the test

Which Degree do you wish to pursue?

When do you want to start studying abroad.

September 2024

January 2025

What is your budget to study abroad?

application of essay in hindi

How would you describe this article ?

Please rate this article

We would like to hear more.

Chandrayaan 3 Essay in Hindi

Chandrayaan 3 Essay in Hindi: चंद्रयान 3 पर निबंध 100, 150, 200, 250, 300, 500 Words

क्या आप भी “Chandrayaan 3 Essay in Hindi” की तलाश कर रहे हैं? यदि हां, तो आप इंटरनेट की दुनिया की सबसे बेस्ट वेबसाइट essayduniya.com पर टपके हो. यदि आप Chandrayaan 3 Essay in Hindi यही सब सर्च कर रहे हैं तो आपका इंतजार यही पूरा होता है.

Chandrayaan 3 Essay in Hindi

यहां हम आपको “Chandrayaan 3 Essay in Hindi” उपलब्ध करा रहे हैं. इस निबंध/ स्पीच को अपने स्कूल या कॉलेज के लिए या अपने किसी प्रोजेक्ट के लिए उपयोग कर सकते हैं. इसके साथ ही यदि आपको किसी प्रतियोगिता के लिए भी Essay on Chandrayaan 3 in Hindi तैयार करना है तो आपको यह आर्टिकल पूरा बिल्कुल ध्यान से पढ़ना चाहिए. 

Chandrayaan 3 Essay in Hindi 100 Words 

भारत द्वारा 14 जुलाई 2023 को chandrayaan-3 लॉन्च किया गया। भारत की इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (ISRO) द्वारा कई सालों की मेहनत के बाद तीसरी बार चांद पर जाने की कोशिश की गई है।।इस मिशन को chandrayaan-3 के नाम से जाना जाता है। इससे पहले भी इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन द्वारा 2019 में chandrayaan-2 मिशन के तहत सैटेलाइट को चांद पर भेजा गया था।

लेकिन कुछ खराबी के कारण वह चांद तक नहीं पहुंच पाया था। जिसके बाद i sro ने एक बार फिर चांद पर अपने देश का झंडा फहराने का सपना देखते हुए दोबारा भारत सरकार ने चांद पर अपना यान भेजने की कोशिश की है। वही यदि chandrayaan-3 मिशन सफल होता है तो चांद पर यान उतारने वाले देशों की सूची में भारत चौथे स्थान पर होगा।

Chandrayaan 3 Landing Essay in Hindi 2 Minute Speech on Chandrayaan 3 in Hindi Chandrayaan-3 Par 10 Lines in Hindi

Chandrayaan 3 Essay 200 Words in Hindi 

वर्तमान में भारत सरकार द्वारा जारी किया गया chandrayaan-3 मिशन बाकी सभी चंद्र मिशन से पूरी तरह अलग माना जा रहा है। चंद्रयान 3 मिशन को पूरा करने में लगभग 15 सालों की मेहनत लगी है। 15 सालों की लगातार मेहनत और रिसर्च के बाद आज भारत सरकार अपना यान चांद पर भेजने में सक्षम हुआ है। भारत के अंतरिक्ष विभाग इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन द्वारा 14 जुलाई 2023 को चंद्रयान लांच किया गया है। Chandrayaan-3 पृथ्वी से चंद्रमा की ओर बढ़ेगा।

यह यान चंद्रमा पर पहुंचकर वहां की सभी जानकारी इसरो (ISRO) के साथ साझा करेगा। Chandrayaan-3 हमें चांद से जुड़ी जानकारी जैसे कि चंद्रमा की सतह की जानकारी, चंद्रमा के वायुमंडल की जानकारी, चंद्रमा पर मौजूद प्राकृतिक खनिजों की जानकारी आदि महत्वपूर्ण सूचनाएं प्रदान करेगा। Chandrayaan-3 इन सभी चीजों की जानकारी हमारे साथ साझा करेगा, जिन चीजों की जानकारी चंद्रयान-1 द्वारा हमारे साथ साझा की गई थी।

चंद्रयान-1 द्वारा भेजी गई सभी जानकारियों का विश्लेषण chandrayaan-3 के माध्यम से किया जाएगा। Chandrayaan-3 को भारत के वैज्ञानिकों द्वारा बनाया गया है। यह पूरी तरह भारतीय तकनीक के साथ बनाया गया है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ( I SRO) द्वारा chandrayaan-3 को इस तरह से बनाया गया है, कि यह यान जल्द से जल्द चांद की सतह पर लैंड करेगा। चांद पर जाकर झंडा फहराने का यह मिशन तीसरी बार भारत द्वारा चलाया जा रहा है। वही यदि chandrayaan-3 मिशन सफल होता है तो चांद पर यान उतारने वाले देशों की सूची में भारत चौथे स्थान पर होगा।  इस बार हम चांद पर जाकर सारे विश्व में अपना नाम अवश्य रोशन करेंगे।

Chandrayaan 3 Essay in Hindi 300 Words 

chandrayaan-3 भारत की ओर से चलाया गया एक महत्वपूर्ण अंतरिक्ष मिशन है। इस मिशन के माध्यम से भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) चंद्रमा की सतह से जुड़ी सारी जानकारी प्राप्त करेगी। Chandrayaan-3 में भारत अपना वैज्ञानिक अध्ययन और खोज अभियांत्रिकी को मजबूत करने के लिए इस बार विक्रम लैंडर और रोवर चांद पर भेजेगा। इस यान मे एक ऑर्बिट भी शामिल किया गया है, जो चंद्रमा की सतह की पूरी तरह से निगरानी करेगा। इस मिशन में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा यह कोशिश की गई है, कि विक्रम लैंडर सफलतापूर्वक चंद्रमा की सतह पर लैंड करें और चंद्रमा से जुड़ी वैज्ञानिक सूचना केंद्र पर भेजें।

चंद्रयान 3 मिशन क्या है? (What is Chandrayaan-3 Mission?)

चंद्रयान 3 भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) द्वारा चलाया गया एक मिशन है। इस मिशन के माध्यम से भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने 14 जुलाई 2023 को चंद्रयान 3 लॉन्च किया है। यह chandrayaan-3 चंद्रमा की दक्षिणी ध्रुव सतह पर उतरेगा एवं चंद्रमा से जुड़ी जानकारी अंतरिक्ष केंद्र के साथ साझा करेगा। Chandrayaan-3 को भारत के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र श्रीहरिकोटा से लांच किया गया है। यह लगभग 40 दिनों के बाद चंद्रमा की सतह पर लैंड होगा। यह निम्न तरह की जानकारी साझा करेगा।

  • चंद्रमा की दक्षिणी ध्रुव पर पानी एवं बर्फ की मौजूदगी की जानकारी।
  • चंद्रमा की सतह एवं उसकी संरचना की जानकारी।
  • चंद्रमा के गुरुत्वाकर्षण बल की जानकारी।
  • चंद्रमा में मौजूद वायुमंडल की जानकारी।
  • चंद्रमा में मौजूद प्राकृतिक खनिज एवं विशेष खनिजों की जानकारी।

निष्कर्ष (Conclusion of Chandrayaan-3 )

भारत सरकार द्वारा इससे पहले भी दो बार चांद पर यान भेजा गया है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा chandrayaan-1 2008 में चांद पर भेजा गया था। यह मिशन पूरी तरह सफल रहा था। इसके बाद दोबारा से चांद पर 2019 में चंद्रयान भेजने की कोशिश की गई थी। लेकिन यह मिशन किसी तकनीकी समस्या के कारण असफल रहा था।

अब तीसरी बार भारत सरकार ने चांद पर यान भेजने का निर्णय लिया है, अगर यह यान चंद्रमा पर सफलतापूर्वक पहुंच जाता है। तो इससे हमे चांद से संबंधित कई सारी जानकारी प्राप्त हो सकती है। इसके अलावा वैज्ञानिकों द्वारा यहां पता लगाया जा सकता है, कि चांद पर मानव जीवन संभव है, या नही और चांद पर मौजूद खनिज हमारे लिए कितने लाभदायक होंगे या नहीं। वही यदि chandrayaan-3 मिशन सफल होता है तो चांद पर यान उतारने वाले देशों की सूची में भारत चौथे स्थान पर होगा।

Essay on Chandrayaan 3 in Hindi 500 Words

chandrayaan-3 एक महत्वपूर्ण अंतरिक्ष मिशन है, जिसके माध्यम से भारत अपना दूसरा कदम चांद की ओर बढ़ने जा रहा है। भारत द्वारा इससे पहले भी चांद पर अपना झंडा या फहराया गया है, लेकिन अब दोबारा चांद से जुड़ी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए एवं अपने देश का झंडा दोबारा से चांद पर फहराने के लिए chandrayaan-3 को लांच किया गया है। इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाइजेशन (ISRO) यहां चंद्रयान 3 पूरी तरह इंडियन टेक्नोलॉजी पर बनाया गया है। वैज्ञानिकों द्वारा यह अनुमान लगाया जा रहा है, कि 40 दिनों के भीतर chandrayaan-3 चंद्रमा की सतह पर सुरक्षित प्रवेश करेगा।

Chandrayaan-3 की शुरुआत

10 से 15 वर्षों की लगातार मेहनत के बाद दोबारा इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन द्वारा चंद्रयान मिशन जारी किया गया है। इस मिशन के माध्यम से इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन द्वारा चंद्रमा की दक्षिणी ध्रुव भाग पर chandrayaan-3 को उतारने की कोशिश की जाएगी। यह chandrayaan-3 14 जुलाई को दोपहर 2:51 पर श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से लॉन्च किया गया है। Chandrayaan-3 पूरी तरह भारतीय तकनीक पर बना हुआ है।

यह एक multi-part मिशन है। इस बार chandrayaan-3 में एक आर्बिटर शामिल किया गया है, जोकि चंद्रमा की सतह की निगरानी और चंद्रमा के वातावरण का अध्ययन करेगा। इसके अलावा chandrayaan-3 में एक लैंडर भी शामिल किया गया है, जो कि यान को सुरक्षित तरीके से चांद पर उतारेगा। चांद की सतह पर वैज्ञानिक प्रयोग करने के लिए इसमें एक रोवर लगाया गया है, जो चांद की सतह एवं वहां मौजूद सभी चीजों पर वैज्ञानिक प्रयोग करेगा।

Chandrayaan-3  की विशेषता (Features of Chandrayaan-3)

Chandrayaan-3 चांद की सतह पर जाने की कोशिश करने वाला भारत का यह तीसरा मिशन है। इस मिशन के अंतर्गत chandrayaan-3 चांद की सतह पर उतरकर वैज्ञानिक प्रयोगों को पूरा करेगा। Chandrayaan-3 में इस बार वे सभी यंत्र शामिल किए गए हैं, जो चंद्रमा से जुड़ी हर छोटी से छोटी जानकारी ISRO के साथ साझा करेंगे।

Chandrayaan-3 की विशेषताएं कुछ इस प्रकार है:

  • Chandrayaan-3 को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव भाग पर उतारा जाएगा।
  • यह यान चंद्रमा पर मौजूद पानी और बर्फ की उपस्थिति के बारे में हमें बताएगा।
  • यह चंद्रमा पर मौजूद प्राकृतिक तत्व एवं खनिजों की जानकारी प्रदान करेगा।
  • यह चंद्रमा की सतह की बनावट की जानकारी प्रदान करेगा।
  • अगर चंद्रमा पर किसी प्रकार के जीव जंतु मौजूद होंगे तो उनकी भी जानकारी साझा करेगा।
  • यह चंद्रमा के वायुमंडल की जांच कर वहां मौजूद प्राकृतिक गैसों की जानकारी साझा करेगा।
  • इस यान को पूरी तरह भारतीय तकनीक पर तैयार किया गया है।

Chandrayaan-3 को बनाने का उद्देश्य (Objectives of Chandrayaan-3)

chandrayaan-3 यदि सफल होता है तो, यह भारत को अंतरिक्ष विज्ञान में एक अलग पहचान प्रदान करेगा। Chandrayaan-3 भारत के लिए एक महत्वपूर्ण मिशन है,और इसे बनाने के उद्देश्य कुछ इस प्रकार है।

  • Chandrayaan-3 भारत को चंद्र की ओर आगे बढ़ने में मदद कर सकता है।
  • चंद्रयान 3 के सफल होने के बाद भारत चांद पर जाने वाले एक नए देश के रूप में जाना जाएगा।
  • Chandrayaan-3 से जुड़े सभी वैज्ञानिकों एवं इंजीनियरों के लिए चांद पर जाना चुनौती की बात हुआ करती थी। उन्होंने अपनी तकनीक विकसित कर चुनौती को पूरा कर दिखाया है।

Chandrayaan-3 के सफल होने से भारत को लाभ (Benefits of Chandrayaan-3)

इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाइजेशन द्वारा 2008 में पहला चंद्र मिशन शुरू किया गया था। 2008 में पहली बार चंद्रयान चांद पर भेजा गया था। चंद्रयान-1 सफल रहा फिर 10 सालों की मेहनत के बाद 2019 में chandrayaan-2 को चांद पर भेजने की कोशिश की गई, लेकिन वह असफल रहा अब तीसरी बार chandrayaan-3 को भेजा गया है। अगर यह सफल होता है, तो भारत को निम्न प्रकार के फायदे होंगे

  • Chandrayaan-3 से देश के युवाओं को अंतरिक्ष से जुड़ी जानकारियां प्राप्त होंगी।
  • देश के सभी लोगों को चंद्रमा की बनावट एवं चंद्रमा से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त होगी।
  • इस मिशन के सफल होने के बाद अंतरिक्ष क्षेत्र में भारत को एक नई पहचान मिलेगी।
  • चांद पर यान उतारने वाले देशों की सूची में भारत चौथे स्थान पर होगा।
  • Chandrayaan-3 भारत के लिए राष्ट्रीय गौरव की बात होगी।
  • Chandrayaan-3 से भारत के वैज्ञानिकों को चंद्रमा की सतह , चंद्रमा के गुरुत्वाकर्षण बल ,चंद्रमा के वायुमंडल की जानकारी प्राप्त होगी।

Chandrayaan-3 से जुड़े कुछ रोचक तथ्य (Intersting Facts About Chandrayaan-3)

चंद्रयान-1 जब भारत द्वारा विकसित किया गया था, तो उसे बनाने में विदेशी तकनीकों का सहारा लिया गया था। Chandrayaan-2 और chandrayaan-3 को भारत के वैज्ञानिकों ने स्वयं की तकनीक विकसित कर बनाया है ,इसे पूरी तरह भारत में निर्मित यान कह सकते हैं। Chandrayaan-3 से जुड़े कुछ रोचक तथ्य इस प्रकार हैं:

  • चांद पर यान भेजने का यह भारत का तीसरा मिशन है।
  • Chandrayaan-3 भारत का पहला मिशन होगा जिसके अंतर्गत भारत चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव में यान उतारेगा।
  • चंद्रमा में शामिल लैंडर एवं रोवर भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा विकसित किया गया है।
  • Chandrayaan-3 में शामिल सभी यंत्र भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा स्वयं की तकनीक से बनाए गए हैं।
  • इस अंतरिक्ष यान को बनाने में लगभग 615 करोड रुपए की लागत लगी है।

इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाइजेशन द्वारा तीसरी बार चांद पर जाने की कोशिश की गई है। पहली बार चांद पर जाने की की गई कोशिश सफल रही लेकिन 2019 में जब दोबारा कोशिश की गई , तो chandrayaan-2 किसी तकनीकी खराबी के कारण चांद की सतह से भटक गया। अब 4 सालों के बाद दोबारा चंद्रयान 3 मिशन चालू किया गया है। यदि chandrayaan-3 सफलतापूर्वक चंद्रमा की सतह पर लैंड हो जाता है, तो यह भारत के लोगों के लिए और भारत के लिए काफी गर्व की बात होगी। चांद पर जाने वाले देशों में भारत का नाम चौथे स्थान पर होगा एवं भारत के वैज्ञानिकों को देश दुनिया में एक अलग पहचान मिलेगी।

Chandrayaan 3 in Hindi

हमारे सभी प्रिय विद्यार्थियों को इस “Chandrayaan 3 Essay in Hindi” जरूर मदद हुई होगी यदि आपको यह Chandrayaan 3 in Hindi अच्छा लगा है तो कमेंट करके जरूर बताएं कि आपको यह Essay on Chandrayaan 3 in Hindi कैसा लगा? हमें आपके कमेंट का इंतजार रहेगा और आपको अगला Essay या Speech कौन से टॉपिक पर चाहिए. इस बारे में भी आप कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं ताकि हम आपके अनुसार ही अगले टॉपिक पर आपके लिए निबंध ला सकें.

कंप्यूटर पर निबंध मेरा प्रिय कवि सूरदास पर निबंध पुस्तकों का महत्व पर निबंध पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध वृक्षारोपण पर निबंध 

3 thoughts on “Chandrayaan 3 Essay in Hindi: चंद्रयान 3 पर निबंध 100, 150, 200, 250, 300, 500 Words”

It’s so helpful for high school children..thank a lot 🙏🙏🙏

Hi I am harshit piyush mishra

🚀🚀🚀🚀🚀🚀🚀🚀🚀🚀🚀🚀🚀🚀🚀🚀🚀🚀

Leave a Comment Cancel reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

  • Hindi English Names
  • Hindi Me Shabd
  • interesting Facts
  • Hindi Read Duniya – Dictionary

महिला सशक्तिकरण पर निबंध 500 शब्दों में | Essay on Women Empowerment in Hindi

  • by Rohit Soni
  • 14 min read

इस लेख में महिला सशक्तिकरण पर निबंध शेयर किया गया है। जो कि आपके परीक्षा के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है। Essay on Women Empowerment in Hindi प्रतियोगी परीक्षाओं में लिखने के लिए आता है। इसलिए महिला सशक्तिकरण पर निबंध बहुत जरूरी है आपके लिए। इसके साथ ही देश की संमृद्धि के लिए भी महिला सशक्तिकरण अति आवश्यक है।

महिला सशक्तिकरण पर निबंध 500 शब्दों में | Essay on Women Empowerment in Hindi

Table of Contents

महिला सशक्तिकरण पर निबंध 300 शब्दों में – Short Essay On Mahila Sashaktikaran in Hindi

महिला सशक्तिकरण क्या है.

महिला सशक्तिकरण से आशय यह है कि महिलाओं के सामाजिक और आर्थिक स्थिति में सुधार लाना है। इससे महिलाएं शक्तिशाली बनती है। जिससे वह अपने जीवन से जुड़े सभी फैसले स्वयं ले सकती हैं, और परिवार व समाज में अच्छे से रह सकती हैं। पुरुषों की तरह ही समाज में उनके वास्तविक अधिकार को प्राप्त करने के लिए उन्हें सक्षम बनाना ही महिला सशक्तिकरण कहलाता है।

महिला सशक्तिकरण जरुरी क्यों है?

महिला सशक्तिकरण आवश्यकता का मुख्य कारण महिलाओं की आर्थिक तथा सामाजिक स्थित में सुधार लाना है। क्योंकि आज भी भारत में पुरुष प्रधान समाज की व्यवस्था है जिसमें महिलाओं को पुरुषों की तुलना में बहुत कम महत्व दिया जाता है। उन्हें घर तक ही सीमित करके रखा जाता है। कम उम्र में विवाह और शिक्षा के अभाव से महिलाओं का विकाश नहीं हो पाता है। जिससे वे समाज में स्वयं को असुरक्षित और लाचार महसूस करती है। इसी वजह से महिलाओं का शोषण हो रहा है। महिला सशक्तिकरण जरूरी है, ताकि महिलाओं को भी रोजगार, शिक्षा , और आर्थिक तरक्की में बराबरी के मौके मिल सके, जिससे वह सामाजिक स्वतंत्रता और तरक्की प्राप्त कर सके। और महिलाएँ भी पुरुषों की तरह अपनी हर आकांक्षाओं को पूरा कर सके और स्वयं को सुरक्षित महसूस कर सकें।

जहाँ वैदिक काल में नारी को देवी का स्वरूप माना जाता था। वहीं वर्तमान के कुछ शतकों में समाज में नारी की स्थित बहुत ज्यादा दयनीय रही है। और महिलाओं को काफी प्रताड़ना झेलना पड़ा है। यहां तक की आज भी कई गांवों में कुरीतियों के चलते महिलाओं के केवल मनोरंजन समझा जाता है। और पुरुषों द्वारा उनके अधिकारों का हनन कर उनका शोषण किया जाता है। इसलिए आज वर्तमान के समय में महिला सशक्तिकरण एक अहम चर्चा का विषय बन चुका है। हालाँकि पिछले कुछ दशकों में सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण पर जोर दिया गया है। लेकिन अभी भी पिछड़े हुए गांवों में सरकार को पहुंचकर लोगों को महिला सशक्तिकरण के बारे में जागरूकता लाने के लिए ठोस कदम उठाने जरूरत है।

>यह भी पढ़ें Essay Environment in Hindi

महिला सशक्तिकरण पर निबंध 500 शब्दों में (Essay on Women Empowerment in Hindi)

महिला सशक्तिकरण में बहुत बड़ी ताकत है जिससे देश और समाज को सकारात्मक तरीके से बदला जा सकता है। महिलाओं को समाज में किसी समस्या को पुरुषों से बेहतर ढंग से निपटना आता है। सही मायने में किसी देश या समाज का तभी विकाश होता है जब वहां की नारी जाति को प्रतिष्ठा व सम्मान दिया जाता है।

महिला सशक्तिकरण का अर्थ – Meaning of women empowerment

नारी को सृजन की शक्ति माना जाता है। अर्थात स्त्री से ही मानव जाति का अस्तित्व संभव हुआ है। फिर भी वर्तमान युग में एक नारी इस पुरुष समाज में स्वयं को असुरक्षित और असहाय महसूस करती है। अतः महिला सशक्तिकरण का अर्थ महिलाओं के सामाजिक और आर्थिक स्थिति में सुधार लाना है। ताकि उन्हें शिक्षा, रोजगार, आर्थिक विकाश के समान अधिकार मिल सके, जिससे वह सामाजिक व आर्थिक स्वतंत्रता और खुद को सुरक्षित प्राप्त कर सके।

महिला सशक्तिकरण का मुख्य उद्देश्य

महिला सशक्तिकरण का मुख्य उद्देश्य महिलाओं की प्रगति और उनमें आत्मविश्वास को बढ़ाना हैं। महिला सशक्तिकरण देश के विकास के लिए अति महत्वपूर्ण है। महिलाओं का सशक्तिकरण सबसे महत्वपूर्ण पहलू है क्योंकि वे सृजन कर्ता होती हैं। अगर उन्हें सशक्त कर दिया जाए, उन्हें शक्तिशाली बनाएं और प्रोत्साहित करें, तो इससे राष्ट्र का विकाश सुनिश्चित होता है। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना और उनके अधिकारों को उनसे अवगत कराना तथा सभी क्षेत्र में समानता प्रदान करना ही महिला सशक्तिकरण का प्रमुख उद्देश्य है।

महिला सशक्तिकरण में शिक्षा की भूमिका क्या है?

महिला सशक्तिकरण में शिक्षा का महत्वपूर्ण स्थान हैं। क्योंकि बिना शिक्षा के महिलाओं की प्रगति में सकारात्मक परिवर्तन सम्भव नही है। शिक्षा के माध्यम से महिलाओं में जागरूकता लाना आसान है और आयी भी है, वे अपने बारे में सोचने की क्षमता रखने लगी है, उन्होंने अब महसूस किया है कि घर से बाहर भी उनका जीवन है। महिलाओं में आत्मविश्वास का संचार हुआ तथा उनके व्यक्तित्व में निखार आया है। इसीलिए सरकार द्वारा बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ योजना चलाई गई है। ताकि घर-घर बेटियों को शिक्षा दी जा सके।

महिला सशक्तिकरण के उपाय

महिला सशक्तिकरण के लिए कई योजनाएं शासन की तरफ से चलाई गई हैं जिससे नारी जाति के उत्थान में मदद मिली है। और भारत में महिलाओं को एक अलग पहचान प्रदान करती है। महिला सशक्तिकरण के उपाय के लिए चल रही योजनाओं के नाम निम्नलिखित हैं –

  • सुकन्या समृध्दि योजना
  • बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं योजना
  • प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना
  • प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना
  • प्रधानमंत्री महिला शक्ति केंद्र योजना
  • वन स्टॉप सेंटर
  • लाड़ली लक्ष्मी योजना
  • फ्री सिलाई मशीन योजना

एक स्त्री पुरुष की जननी होकर भी एक पुरुष से कमजोर महसूस करती है। क्योंकि उसका पिछले कई सदियों से शोषण किया जा रहा है। जिस कारण से एक नारी अपनी शक्ति और अधिकारों को भूल चुकी है। और अपने साथ हो रहे दुराचार को बर्दाश्त करती चली आ रही है। परन्तु वर्तमान युग महिला का युग है। अब उन्हें अपने अधिकारों को प्राप्त करने से कोई नहीं रोक सकता है। इसके लिए कई महिला सशक्तिकरण के उपाय भी किए जा रहे है। किन्तु अभी भी कुछ आदिवासी पिछड़े गांवों में कई सारी कुरीतियां या शिक्षा की कमी के कारण महिलाओं को उनके अधिकारों से वंचित रखा गया है। अतः वहां तक पहुँच कर उन महिलाओं को भी महिला सशक्तिकरण के बारे में जागरूक करना होगा।

>यह भी पढ़ें दीपावली पर निबंध 500 शब्दों में

महिला सशक्तिकरण पर निबंध 1000 शब्दों में (Mahila Sashaktikaran Essay in Hindi)

[ विस्तृत रूपरेखा – (1) प्रस्तावना, (2) महिलाओं का अतीत, (3) भारत में महिलाओं का सम्मान, (4) वर्तमान में महिलाओं के प्रति अनुदार व्यवहार, (5) महिला सशक्तिकरण की आवश्यकता, (6) शासन तथा समाज का दायित्व, (7) नारी जागरण की आवश्यकता, (8) उपसंहार ।]

“अबला जीवन हाय तुम्हारी यही कहानी आंचल में है दूध और आंखों में पानी ।”

प्राचीन काल से ही महिलाओं के साथ बड़ा अन्याय होता आ रहा है। उन्हें शिक्षा और उनके अधिकारों से वंचित किया गया जिससे महिलाओं का जो सामाजिक और आर्थिक विकाश होना चाहिए वह नहीं हो सका। समाज में आज भी पुरुषों की तुलना में महिलाओं को कम आका जाता है। और वे ज्यादातर अपने जीवन-यापन के लिए पुरुषों पर ही निर्भर रह गयी जिससे उन्हें न चाहते हुए भी पुरुषों का अत्याचार सहना पड़ रहा है। इसलिए महिलाओं के आर्थिक व सामाजिक विकाश के लिए महिला सशक्तिकरण की आवश्यकता है।

महिलाओं का अतीत

वैदिक काल में महिलाओं को गरिमामय स्थान प्राप्त था। उन्हें देवी,  अर्द्धांगिनी,  लक्ष्मी माना जाता था। स्मृति काल में भी ” यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता”   यह सम्मानित स्थान प्रदान किया गया था। तथा पौराणिक काल में नारी को शक्ति का स्वरूप मानकर उसकी आराधना की जाती थी। परन्तु 11 वीं शताब्दी से 19 वीं शताब्दी के बीच भारत में महिलाओं की स्थिति बहुत ज्यादा दयनीय होती गई। यह महिलाओं के लिए अंधकार युग था। पुरुष प्रधान समाज में महिलाओं को अपनी इच्छाओं के अनुसार उपयोग में लिए जाने तक ही सीमित रखा जाता था। विदेशी आक्रमण और शासकों की विलासिता पूर्ण प्रवृत्ति ने महिलाओं को उपभोग की वस्तु बना दिया था। और उसके कारण भारत के कुछ समुदायों में सती प्रथा, बाल विवाह और विधवा पुनर्विवाह पर रोक, अशिक्षा आदि सामाजिक कुरीतियां जिंदगी का एक हिस्सा बन चुकी थी।जिसने महिलाओं की स्थिति को बदतर बना दिया और उनके अधिकारों व स्वतंत्रता को उनसे छीन लिया।

भारत में महिलाओं का सम्मान

भारत में महिलाओं को सम्मान दिलाने के लिए सरकार द्वारा समय-समय पर योजनाएं निकाली गई हैं जिनका मुख्य उद्देश्य महिलाओं के सामाजिक और आर्थिक रूप से मजबूत बनाना है। जिसका असर यह है कि आज महिलाएं भी पुरुषों से कदम से कदम मिलाकर चलने में सक्षम हो रही हैं। महिलाओं को बराबर की शिक्षा, रोजगार और उनके अधिकार को दिलाकर भारत में महिलाओं को सम्मानित किया गया है। अब महिलाएं घर की दीवारों तक ही सीमित नहीं रहीं हैं। हालांकि कुछ शतकों पहले भारत में महिलाओं की स्थित काफी दयनीय रही हैं किन्तु 21 वीं सदी महिला सदी है। अब महिलाएं भी हर क्षेत्र में अपनी कुशलता का परिचय दे रही हैं।

वर्तमान में महिलाओं के प्रति अनुदार व्यवहार

महिलाओं के उत्थान के लिए भारत में कई प्रकार से प्रयास किए जा रहे हैं इसके बावजूद भी अभी तक महिलाओं का उतना विकाश नहीं हो पा रहा है। भारत में 50 प्रतिशत की आबादी महिलाओं की है और कही न कहीं महिलाएं स्वयं को कमजोर और असहाय मानती है जिसके कारण से पुरुषों द्वारा उनके प्रति अनुदार व्यवहार किया जाता है। शिक्षा और जागरूकता की कमी के कारण महिलाएं अपने अधिकारों और शक्ति का इस्तेमाल नहीं कर पाती हैं। परिणाम स्वरूप उनका शारीरिक और मानसिक रूप से शोषण किया जाता है। कई ऐसे गांव कस्बे हैं जहाँ अभी भी महिलाओं को शिक्षा और उनके अधिकारों से वंचित कर दिया जाता है और कई प्रकार की कुरीतियों के चलते उन्हें प्रताड़ित किया जाता है। और उन्हें देह-व्यापार करने के लिए मजबूर किया जाता है। ऐसे में सरकार और समाज दोनों को इसके प्रति विचार करना चाहिए।

महिला सशक्तिकरण की आवश्यकता

जैसा कि भारत में 50 फीसदी की आबादी महिलाओं की है और जब तक इनका विकास नहीं होगा तो भारत कभी भी विकसित देश नहीं बन सकता है। देश के विकाश के लिए महिलाओं का विकाश होना जरूरी है। भारत में महिला सशक्तिकरण की आवश्यकता इसलिए है क्योंकि प्राचीन काल के अपेक्षा मध्य काल में भारतीय महिलाओं के सम्मान स्तर में काफी कमी आयी है। और जितना सम्मान उन्हें प्राचीन काल में दिया जाता था, मध्य काल में वह सम्मान बहुत कम हो गया था। वर्तमान समय में कई भारतीय महिलाएँ कई सारे महत्वपूर्ण राजनैतिक तथा प्रशासनिक पदों पर पदस्थ हैं, फिर भी सामान्य ग्रामीण महिलाएँ आज भी अपने घरों में रहने के लिए बाध्य हैं और उन्हें सामान्य स्वास्थ्य सुविधा और शिक्षा जैसी सुविधाएँ भी उपलब्ध नहीं हो रही है।

शासन तथा समाज का दायित्व

महिलाओं के विकाश के लिए शासन तथा समाज का दायित्व है कि इसके लिए विभिन्न प्रकार से प्रयास किए जाएं ताकि वह अपने जीवन से जुड़े सभी फैसले स्वयं ले सके, और परिवार व समाज में सुरक्षित तरीके से रह सकें। तथा पुरुषों की तरह ही महिलाएं भी समाज में उनके वास्तविक अधिकार को प्राप्त करें।

शासन द्वारा महिला सशक्तीकरण से संबंधित कुछ प्रमुख सरकारी योजनाएँ

  • सुकन्या समृद्धि योजना

नारी जागरण की आवश्यकता

यह समाज पुरुष प्रधान है और हमेशा से ही महिलाओं को पुरुषों से नीचे रखा गया है। परन्तु नारी की अपनी एक गरिमा है। वह पुरुष की जननी है नारी स्नेह और सौजन्य की देवी है। किसी राष्ट्र का उत्थान नारी जाति से ही होता है। और वर्तमान समाज में व्याप्त कुरीतियों को दूर करने के लिए नारी जागरण की आवश्यकता महसूस हो रही है। समाज के बेहतर निर्माण के लिए समाज में नारी को एक समान अधिकार दिए जाए तभी एक बेहतर समाज और राष्ट्र का निर्माण होगा। इसके लिए नारी को अपने अधिकारों के लिए स्वयं आगे आना होगा।

वैदिक काल, और प्राचीन काल में महिलाओं को पूजा जाता था उन्हें पुरुषों से भी ऊँचा दर्जा प्रदान किया गया था। किन्तु मध्यकाल में नारी जाति का अत्यधिक शोषण हुआ है जिस कारण से महिलाओं का विकाश बहुत कम हो पाया है। उन्हें घर के अंदर तक ही बंधन में रखा जाता है बाहर निकल कर रोजगार करने में प्रतिबंध लगाया जाता है। और यदि बाहर निकलने की छूट भी मिलती है तो समाज के अराजक तत्वों से उन्हें कई तरह से खतरा बना रहता है। अतः उनके उत्थान के लिए महिला सशक्तिकरण बहुत जरूरी है। महिलाओं को उचित शिक्षा प्रदान की जानी चाहिए जिससे वे अपने अधिकारों को पहचान सकें और अपने ऊपर हो रहें अत्याचार का विरोध कर सकें। तथा अपने जीवन के अहम फैसले स्वयं लेने के लिए हमेशा स्वतंत्र रहें।

  • रिश्तों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में जानें

महिला सशक्तिकरण पर 10 वाक्य (Nari Sashaktikaran par Nibandh in Hindi)

महिला सशक्तिकरण पर 10 वाक्य (Nari Sashaktikaran par Nibandh in Hindi)

  • महिला सशक्तिकरण से आशय यह है कि महिलाओं के सामाजिक और आर्थिक स्थिति में सुधार लाना।
  • हमारे देश में महिलाओं के प्रति अनुदार व्यवहार को खत्म करने के लिए महिला सशक्तिकरण आवश्यक है।
  • महिला सशक्तिकरण में शिक्षा सबसे महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है।
  • बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, सुकन्या सम्बृध्दि योजना, प्रधानमंत्री महिला शक्ति केंद्र योजना आदि शासन द्वारा महिला सशक्तिकरण के तहत मुहिम चलाई जा रही है।
  • बेटी व महिलाओं को पुरुष समाज में बराबरी के अधिकार दिलाने के लिए उनमें जागरूकता लाना आवश्यक है।
  • बेहतर समाज के निर्माण के लिए समाज में नारी को एक समान अधिकार व सम्मान प्रदान करना उतना ही जरूरी है, जितना की जीवन के लिए भोजन जरूरी है।
  • 21 वीं सदी महिला सदी माना जाता है, अब महिलाएं भी हर क्षेत्र में अपनी कुशलता का बखूबी परिचय दे रही हैं। यह महिला सशक्तिकरण से ही संभव है।
  • वर्तमान समय में कई भारतीय महिलाएँ महत्वपूर्ण राजनैतिक तथा प्रशासनिक पदों पर पदस्थ हैं, फिर भी सामान्य ग्रामीण महिलाएँ आज भी अपने घरों में रहने के लिए बाध्य हैं।
  • महिलाओं को अपने अधिकार, आत्मसम्मान और स्वतंत्रता के लिए स्वयं आगे आना होगा।
  • महिलाओं के उत्थान के लिए समाज और शासन को अधिक से अधिक उपाय करना चाहिए।

यह निबंध महिला सशक्तिकरण के बारे में है। जिसका शीर्षक इस प्रकार से है “ महिला सशक्तिकरण पर निबंध 500 शब्दों में ” अथवा “ Essay on Women Empowerment in Hindi ” यह निबंध आपके लिए बहुत उपयोगी है अतः आपको Mahila Sashaktikaran Essay in Hindi 1000 शब्दों में लिखना जरूर से आना चाहिए।

FAQ Mahila Sashaktikaran Essay

Q: महिला सशक्तिकरण कब शुरू हुआ था.

Ans: महिला सशक्तिकरण की शुरुआत संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा 8 मार्च,1975 को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस से मानी जाती हैं। फिर महिला सशक्तिकरण की पहल 1985 में महिला अंतरराष्ट्रीय सम्मलेन नैरोबी में की गई।

Q: महिला सशक्तिकरण कब लागू हुआ था?

Ans: राष्ट्र निर्माण गतिविधियों में महिलाओं की भूमिका को ध्यान में रखते हुए सरकार ने वर्ष 2001 को महिला सशक्तिकरण वर्ष घोषित किया था और महिलाओं को स्वशक्ति प्रदान करने की राष्ट्रीय नीति अपनायी थी।

Q: समाज में महिलाओं की क्या भूमिका है?

Ans: समाज में महिलाओं की अहम भूमिका है क्योंकि नारी ही परिवार बनाती है, परिवार से घर बनता है, घर से समाज बनता है और फिर समाज ही देश बनाता है। इसलिए महिला का योगदान हर जगह है। और महिला की क्षमता को नज़रअंदाज करके समाज की कल्पना करना व्यर्थ है।

इसी प्रकार के और भी उपयोगी, ज्ञानवर्धक और मनोरंजक जानकारी हिंदी में पढ़ने के लिए Hindi Read Duniya को सबस्क्राइब जरूर करें। निबंध को पूरा पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद!

यह निबंध भी पढ़ें :

माँ पर निबंध 500 शब्दों में (My Mother Essay in Hindi)

पर्यावरण पर निबंध 1000 शब्दों में (पर्यावरण प्रदूषण / संरक्षण)

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर निबंध 500 शब्दों में

कुछ अन्य निबंध

चंद्रयान 3 पर निबंध 100, 300, 500 शब्दों में | Chandrayaan 3 Essay in Hindi

Hello friends मेरा नाम रोहित सोनी (Rohit Soni) है। मैं मध्य प्रदेश के सीधी जिला का रहने वाला हूँ। मैंने Computer Science से ग्रेजुएशन किया है। मुझे लिखना पसंद है इसलिए मैं पिछले 5 वर्षों से लेखन का कार्य कर रहा हूँ। और अब मैं Hindi Read Duniya और कई अन्य Website का Admin and Author हूँ। Hindi Read Duniya   पर हम उपयोगी , ज्ञानवर्धक और मनोरंजक जानकारी हिंदी में  शेयर करने का प्रयास करते हैं। इस website को बनाने का एक ही मकसद है की लोगों को अपनी हिंदी भाषा में सही और सटीक जानकारी  मिल सके। View Author posts

3 thoughts on “महिला सशक्तिकरण पर निबंध 500 शब्दों में | Essay on Women Empowerment in Hindi”

' data-src=

Bahut achcha nibandh lika hai🙏

' data-src=

धन्यवाद भाई 💖

' data-src=

My ƅrother recommended I might like this web site. He was entireⅼy right. This poѕt actually made my day. You cann’t believe simplү how so much time I had spent for this іnfo! Thanks!

Leave a Reply Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed .

application of essay in hindi

Learn this topic in detail

Top courses for class 9 view all.

application of essay in hindi

Social Studies (SST) Class 9

application of essay in hindi

Mathematics (Maths) Class 9

application of essay in hindi

Science Class 9

application of essay in hindi

Chapter Notes For Class 9

application of essay in hindi

English Class 9

Top courses for class 9, similar class 9 doubts, essay on world environment day in hindi , what are alankaars in hindi and their types with definition and examples, essay on eradication of dowry system in hindi , write an essay on deepawali in hindi, write an essay on plastic free india in hindi, quick links for class 9 exam.

Share your doubts

application of essay in hindi

Welcome Back

Create you account for free.

application of essay in hindi

Forgot Password

Unattempted tests, change country.

IMAGES

  1. ESSAY IN HINDI

    application of essay in hindi

  2. Essay collection in hindi in 2021

    application of essay in hindi

  3. ⚡ Hindi application format. Application Archives. 2022-10-16

    application of essay in hindi

  4. application letter for hindi teacher sample critical analysis essay

    application of essay in hindi

  5. Hindi essays in hindi language for students in 2021

    application of essay in hindi

  6. Best Way To Write Essay In Hindi

    application of essay in hindi

VIDEO

  1. Application Trick

  2. निबंध

  3. Article लिखने की Trick//How to write a Article in English //Article ki Trick in English

  4. अंग्रेजी के 5 महत्वपूर्ण Articles writing 2024||Class 10th English imp Essay writing 2024 Board||

  5. Tips for Essay Writing +Top 10 Selection Essays for 2023 board exam with pdf #essaywritingodia #tip

  6. ESSAY WRITING SKILL for beginners PART 7

COMMENTS

  1. हिंदी निबंध (Hindi Nibandh / Essay in Hindi)

    हिंदी निबंध (Hindi Nibandh/ Essay in Hindi) - हिंदी निबंध की तैयारी उम्दा होने पर न केवल ज्ञान का दायरा विकसित होता है बल्कि छात्र परीक्षा में हिंदी निबंध में अच्छे अंक ला ...

  2. हिंदी में निबंध (Essay in Hindi/ Hindi me Nibandh)

    हिंदी में निबंध (Essay in Hindi/ Hindi me Nibandh): हिंदी में निबंध कैसे लिखते हैं और निबंध लिखते समय किन बिंदुओं को ध्यान में रखना चाहिए इसकी जानकारी यहां दी गई है।

  3. Hindi Essay (Hindi Nibandh)

    भ्रष्टाचार पर निबंध (Corruption Essay in Hindi) महिला सशक्तिकरण पर निबंध - (Women Empowerment Essay) बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध (Beti Bachao Beti Padhao) गरीबी पर निबंध (Poverty Essay in Hindi)

  4. निबंध लेखन, हिंदी में निबंध| Hindi Essay Writing topics

    निबंध लेखन हिंदी में - Essay Writing in Hindi. Get Full Details of Hindi Essay writing Topics for class 9, 10, Tips, and Examples of Essays. ... UP B.Ed JEE 2024 Application Process begins, Apply now! GAT-B and BET 2024 Registration begins, check details; NCHMCT JEE 2024 Application starts, Apply now! ...

  5. ‎हिन्दी निबंध

    Essay in Hindi यहाँ विभिन्न विषयों पर ‎हिन्दी निबंध (Hindi Essay) प्राप्त करें जो आपके बच्चे और कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 और 12 के विद्यार्थियों के लिए उपयोगी है| Nibandh in Hindi: Find Essay in Hindi for all Class students.

  6. Hindi Essay

    500+ विषयों पर हिंदी निबंध. 18/08/2023 Rahul Singh Tanwar. Hindi Essay Writing: विद्यार्थी जीवन में निबंध लेखन एक अहम हिस्सा है। विद्यार्थी के जीवन में हर बार ऐसे अवसर ...

  7. How to Write Essay in Hindi, निबंध लेखन, हिंदी में निबंध

    How To Write Essay in Hindi निबंध की शुरुआत कैसे करते हैं? निबंध की शुरुआत में सबसे पहले प्रस्तावना लिखते हैं। जिसमें आपको विषय से संबंधित परिचय देना होता है। जैसे अगर ...

  8. एक उत्तम निबंध कैसे लिखें? How to write an essay in Hindi

    पाठ्यक्रम में निबन्ध - लेखन को क्यों समाहित किया गया : 1. विद्यार्थी अपने विचारों को एकत्र करना सीख पाए।. 2. विचारों को संतुलित तरीके से ...

  9. Tips To Write Essay In Hindi

    Tips To Write Essay In Hindi . Tips To Write Essay In Hindi (निबंध लिखने का तरीका) By 02nd Aug, 2018 | 03:05 pm. Share

  10. Essay On My Village In Hindi: जानिए मेरे गांव पर स्टूडेंट्स के लिए 100

    Essay on my village in Hindi कैसे लिखें?. My village essay in Hindi के लिए टिप्स निम्न हैं-1. आकर्षक परिचय: एक आकर्षक परिचय के साथ शुरुआत करें। पाठक को आकर्षित करने के लिए किसी कहानी, तथ्य ...

  11. दिवाली पर निबंध (Essay on Diwali in Hindi)

    दिवाली पर निबंध (Diwali Essay in Hindi) - दीपावली यानि प्रकाश का पर्व। दीपावली अंधकार पर प्रकाश, अज्ञान पर ज्ञान और बुराई पर अच्छाई की विजय का प्रतीक है। दिवाली ...

  12. Application in Hindi with 12+ examples

    अगर बात करें Types of application letter in Hindi की तो इसके कुल 2 प्रकार हैं : Formal. Informal. 1. Formal letter. Formal letter या औपचारिक पत्र एक प्रकार का पत्र होता है जिसे आप मुख्य रूप ...

  13. बसंत पंचमी पर हिंदी में निबंध: Essay on Basant Panchami in Hindi

    Basant Panchami Essay in Hindi: बसंत पंचमी पर छोटे और बड़े निबंध एवं 10 पंक्तियां हिंदी में यहां ...

  14. प्रदूषण पर निबंध

    Essay on Pollution in Hindi is an important topic for Class 7th,8th, 9th, 10th, 11th, and 12th. Here we have compiled important points on pollution Essay in Hindi which is a useful resource for school and college students. Here are some Important Points for प्रदूषण पर निबंध i.e is covered in this Article

  15. कंप्यूटर पर निबंध (Computer Essay in Hindi)

    कंप्यूटर पर निबंध (Computer Essay in Hindi) By अर्चना सिंह / July 21, 2023. कम्प्यूटर आधुनिक तकनीक की एक महान खोज है। ये एक सामान्य मशीन है जो अपनी मेमोरी में ...

  16. होली पर निबंध (Essay on Holi in Hindi): इतिहास, महत्व, 200 से 500

    होली पर निबंध (Essay on Holi in Hindi): होली भारतीय संस्कृति का एक प्रमुख धार्मिक पर्व है। यह पर्व फागुन मास के शुक्ल पक्ष में मनाया जाता है और भारत वर्ष में खुशी, आनंद, प्रेम और एकता का प्रतीक है। होली एक सांस्कृतिक महोत्सव है जिसमें लोग अपनी पूर्वाग्रहों और विभिन्न सामाजिक प्रतिष्ठानों को छोड़कर आपसी भाईचारा और प्रेम का आनंद लेते हैं। यह पर्व ...

  17. Meri Abhilasha Essay In Hindi: मेरी अभिलाषा पर निबंध

    Meri Abhilasha Essay In Hindi Meri Abhilasha Nibandh 300 Words प्रस्तावना

  18. CBSE Class 10 Hindi Practice Paper 2024 with Solutions, Free PDF Download

    Prominent features of CBSE Class 10 Hindi A Practice Paper 2024. The practice paper is aligned with the latest CBSE sample paper. Questions are based on the important topics from the prescribed ...

  19. करियर पर निबंध

    करियर पर निबंध (Career Essay in Hindi) By अर्चना सिंह / July 31, 2023. करियर किसी भी व्यक्ति के जीवन का एक महत्वपूर्ण पहलू है। यह किसी भी इंसान की जीवनशैली का ...

  20. डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध (Essay on Dr. APJ Abdul Kalam in Hindi

    डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध (Essay on Dr. APJ Abdul Kalam in Hindi) - छात्र इस लेख से एपीजे अब्दुल कलाम पर हिंदी में निबंध लिखना सिख सकते हैं और अच्छा अंक प्राप्त कर सकते हैं।

  21. CBSE Class 12 Hindi Question Paper 2024, All SETs Download PDF

    CBSE Class 12 Hindi Answer Key 2024. By clicking on the link above, students can get an opportunity to check the CBSE 12th Hindi answer key 2024 along with a PDF download link of the same.

  22. Essay on Digital India in Hindi

    Essay on Digital India in Hindi 200 शब्दों में. 200 शब्दों में डिजिटल इंडिया पर निबंध कुछ इस प्रकार है -. "डिजिटल इंडिया" एक महत्वपूर्ण सरकारी पहल है जो भारत ...

  23. Chandrayaan 3 Essay in Hindi: चंद्रयान 3 पर निबंध 100, 150, 200, 250

    Chandrayaan 3 Essay in Hindi: चंद्रयान 3 पर निबंध 100, 150, 200, 250, 300, 500 Words January 25, 2024 by essay दुनिया क्या आप भी "Chandrayaan 3 Essay in Hindi" की तलाश कर रहे हैं? यदि हां, तो आप इंटरनेट की दुनिया की सबसे बेस्ट वेबसाइट essayduniya.com पर टपके हो.

  24. महिला सशक्तिकरण पर निबंध 500 शब्दों में

    महिला सशक्तिकरण पर निबंध 1000 शब्दों में (Mahila Sashaktikaran Essay in Hindi) [ विस्तृत रूपरेखा - (1) प्रस्तावना, (2) महिलाओं का अतीत, (3) भारत में महिलाओं का सम्मान ...

  25. Is their any Hindi application and essay in this app

    **Hindi Application and Essay in this App**At EduRev, you can find various resources, including Hindi applications and essays. These resources are designed to help you improve your language skills, enhance your writing abilities, and gain a deeper understanding of the Hindi language and its usage in different contexts.Let's dive into the details of Hindi applications and essays available on ...