• Privacy Policy

Hindi Essay | निबंध

  • Hindi Essays | निबंध
  • _Upto 100 Words
  • _100-200 Words
  • _200-400 Words
  • _More than 400 Words
  • Letter & Application
  • Other Resources
  • _All Essay | English Essays
  • _Fact TV India
  • _Stories N Books
  • Animals and Birds (23)
  • Articles (57)
  • Authors and Poets of India (42)
  • Authors and Poets of World (1)
  • Awards and Prizes (2)
  • Biographies (122)
  • Chief Justices of India (1)
  • Debates (1)
  • Famous Personalities of India (75)
  • Famous Personalities of World (2)
  • Famous Places of India (6)
  • Festivals of India (57)
  • Festivals of World (7)
  • Flowers and Fruits (5)
  • Freedom Fighters of India (31)
  • History of India (6)
  • History of World (1)
  • Important Days of India (62)
  • Important Days of World (52)
  • Letters and Forms (19)
  • Miscellaneous (110)
  • Monuments of India (9)
  • Organizations and Institutions (1)
  • Presidents of India (17)
  • Prime Ministers of India (16)
  • Religious (4)
  • Rivers and Mountains (2)
  • Social Issues (53)
  • Sports and Games (2)
  • Stories & Vrat Katha (9)
  • Symbols of India (12)

200- 400 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs & Speech

  • अक्टूबर माह के प्रमुख दिवस (Important Days and Dates in October Month)
  • अगस्त माह के प्रमुख दिवस (Important Days and Dates in August Month)
  • अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) (250 Words)
  • अधिवक्ता दिवस (Advocate's Day) (248 Words)
  • अन्नपूर्णा जयंती (Annapurna Jayanti) (200 Words)  
  • अनुच्छेद लेखन (Hindi Paragraph Writing)  
  • अनुशासन का महत्त्व (Importance of Discipline) (330 Words)
  • अप्रैल माह के प्रमुख दिवस (Important Days and Dates in April)  
  • अबुल कलाम आज़ाद जयंती (Maulana Abul Kalam Azad Jayanti) (200 Words)
  • अयोध्या सिंह उपाध्याय 'हरिऔध'   (Ayodhya Singh Upadhyay 'Hariaudh') (310 Words)
  • अहोई अष्टमी (Ahoi Ashtami) (300 Words)
  • अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) (200 Words)
  • आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी (Acharya Mahavir Prasad Dwivedi) (275 Words)  
  • आज़ाद जयंती (Chandrashekhar Azad Jayanti) (360 Words)
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) (335 Words)  
  • आर. वेंकटरमण (R. Venkatraman) (240 Words)
  • ओम पुरी (Om Puri) (200 Words)  
  • अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय दिवसों की सूची (List of International and National Days)  
  • अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस (International Men's Day) (225 Words) 
  • अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस (International Day of Girl Child) (350 Words)  
  • अंबेडकर जयंती (Ambedkar Jayanti) (258 Words)
  • इंटरनेट (Internet) (340 Words)  
  • इंटरनेट का महत्त्व (Importance of Internet) (330 Words)
  • इंद्र कुमार गुजराल (Indra Kumar Gujral) (250 Words)
  • इन्दिरा गांधी (Indira Gandhi) (230 Words)
  • इन्दिरा गांधी जयंती (Indira Gandhi Jayanti) (250 Words)  
  • इलाहाबाद (Allahabad) (375 Words)  
  • ईद (Id-ul-Fitr) (300 Words)  
  • उपसर्ग और प्रत्यय में अंतर (Difference between Prefix & Suffix)
  • उल्लू (Owl) (200 Words)  
  • एच.डी. देवगौड़ा (H.D. Deve Gowda) (230 Words)  
  • कछुआ (Turtle) (250 Words)
  • कन्हैया लाल मिश्र 'प्रभाकर' (Kanhaiya Lal Mishra 'Prabhakar' (265 Words)  
  • कबीर जयंती (Kabir Jayanti) (375 Words)  
  • कंप्यूटर (Computer) (270 Words)
  • कंप्यूटर: आज की आवश्यकता (Computer: Today's Necessity) (400 Words)
  • कर्पूरी ठाकुर (Karpoori Thakur) (215 Words)
  • कार्तिक पूर्णिमा (Kartik Purnima) (230 Words)  
  • कांशीराम (Kanshiram) (250 Words)
  • कांशीराम जयंती (Kanshiram Jayanti) (255 Words)
  • क्रिकेट विश्व कप- 2011 में भारत की जीत (Win of India in Cricket World Cup- 2011) (335 Words)  
  • कृष्णा सोबती (Krishna Sobti) (240 Words)  
  • क्रिसमस वृक्ष (Christmas Tree) (225 Words)  
  • के.आर. नारायणन (K.R. Narayanan) (275 Words)  
  • कोयल (Cuckoo) (200 Words)
  • कोरोना वायरस (Corona Virus) (230 Words)
  • खुदीराम बोस (Khudiram Bose) (240 Words) 
  • ग्लोबल वार्मिंग की समस्या (Problem of Global Warming) (390 Words)  
  • गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) (250 Words)  
  • गणेश शंकर विद्यार्थी (Ganesh Shankar Vidyarthi) (200 Words)
  • गंगा (Ganga) (225 Words)
  • गांधीवाद (Gandhism) (200 Words)
  • ग्रीष्म ऋतु (Summer Season) (200 Words)
  • गुरु की महिमा (Greatness of Teacher) (300 Words)
  • गुरु गोबिंद सिंह (Guru Gobind Singh) (380 Words) 
  • गुरु गोबिंद सिंह जयंती (Guru Gobind Singh Jayanti) (365 Words)   
  • गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima) (200 Words)  
  • गुलज़ारी लाल नंदा (Gulzari Lal Nanda) (220 Words)
  • गुलाब (Rose) (325 Words)
  • गौरैया (Sparrow) (240 Words)
  • घोड़ा (Horse) (200 Words)
  • चक्रवर्ती राजगोपालचारी (C. Rajgopalachari) (300 Words)
  • चौधरी चरण सिंह (Chaudhary Charan Singh) (264 Words)
  • चंडीगढ़ (Chandigarh) (240 Words)  
  • चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) (200 Words)
  • चंद्रशेखर (Chandrashekhar) (260 Words)  
  • चंद्रशेखर आज़ाद (Chandrashekhar Azad) (300 Words)  
  • चंद्रशेखर वेंकट रमन ( सी०वी० रमन ) (C.V. Raman) (231 Words)
  • छठ पूजा (Chhath Puja) (300 Words)  
  • छिपकली (Lizard) (200 Words)
  • जनवरी माह के प्रमुख दिवस (Important Days & Dates in January)  
  • जल का महत्व (Importance of Water) (245 Words)  
  • जल प्रदूषण (Water Pollution) (400 Words)
  • जयप्रकाश नारायण (Jayaprakash Narayan) (225 Words)  
  • जयशंकर प्रसाद (Jaishankar Prasad) (355 Words)  
  • जवाहरलाल नेहरु (Jawaharlal Nehru) (200 Words)  
  • जान है तो जहान है ( If there's life, then there's the world ) (315 Words)  
  • जापान में सुनामी और भूकंप- 2011 (Tsunami and Earthquake in Japan- 2011) (200 Words)
  • जीवन में खेलों का महत्त्व (Importance of Games in Life) (300 Words)
  • जुलाई माह के प्रमुख दिवस (Important Days and Dates in July Month)
  • जून माह के प्रमुख दिवस (Important Days and Dates in June)  
  • टेलीविज़न (Television) (316 Words) 
  • टेलीविज़न: समाज पर दुष्प्रभाव (Television: Bad Impact on Society) (325 Words)
  • डॉ० ए०पी०जे० अब्दुल कलाम (Dr. A.P.J. Abdul Kalam) (230 Words)
  • डॉ० ज़ाकिर हुसैन (Dr. Zakir Hussain) (236 Words)
  • डॉ० नगेन्द्र (Dr. Nagendra) (235 Words)  
  • डॉ० बी०आर० अंबेडकर (Dr. B.R. Ambedkar) (200 Words)  
  • डॉ० मनमोहन सिंह (Dr. Manmohan Singh) (280 Words)
  • डॉ० रघुवीर सिंह (Dr. Raghuvir Singh) (200 Words)  
  • डॉ० राजेन्द्र प्रसाद (Dr. Rajendra Prasad) (248 Words)  
  • डॉ० वासुदेव शरण अग्रवाल (Dr. Vasudev Sharan Agrawal) (265 Words)
  • डॉ० सम्पूर्णानन्द (Dr. Sampurnanand) (325 Words)  
  • डॉ० सर्वपल्ली राधाकृष्णन (Dr. Sarvepalli Radhakrishnan) (230 Words)    
  • डॉ० हज़ारी प्रसाद द्विवेदी (Dr. Hazari Prasad Dwivedi) (330 Words)
  • तुलसीदास (Tulsidas) (240 Words)
  • दिसम्बर माह के प्रमुख दिवस (Important Days and Dates in December Month)
  • दीवाली- प्रकाश का त्यौहार (Diwali- A Festival of Light) (330 Words)  
  • देवोत्थान एकादशी (Devutthana Ekadashi) (255 Words)  
  • देश प्रेम दिवस (Desh Prem Diwas) (225 Words)
  • ध्वनि प्रदूषण (Sound or Noice Pollution) (250 Words)  
  • नवम्बर माह के प्रमुख दिवस (Important Days and Dates in November Month)  
  • नाग पंचमी (Nag Panchami) (200 Words)
  • नानाजी देशमुख (Nanaji Deshmukh) (345 Words)
  • निबंध लेखन | निबंध रचना (Hindi Essay Writing)  
  • नीलम संजीव रेड्डी (Neelam Sanjiva Reddy) (222 Words)
  • नेताजी सुभाष चन्द्र बोस (Netaji Subhash Chandra Bose) (224 Words)
  • नेपाल भूकंप त्रासदी- 2015 (Nepal Earthquake- 2015) (300 Words)
  • नैन सिंह रावत (Nain Singh Rawat) (235 Words)  
  • पटेल जयंती (Patel Jayanti) (250 Words)  
  • पत्र लेखन (Hindi Letter Writing)
  • पी०वी० नरसिंह राव (P.V. Narsimha Rao) (240 Words)
  • पुस्तकालय (Library) (225 Words)
  • पुस्तकालय का महत्त्व (Importance of Library) (230 Words)  
  • प्रणब मुख़र्जी (Pranab Mukherjee) (265 Words)  
  • प्रतिभा पाटिल (Pratibha Patil) (228 Words)  
  • प्रदूषण (Pollution) (350 Words)
  • प्राकृतिक आपदा (Natural Disaster) (365 Words) 
  • पितृ दिवस (International Father's Day) (240 Words)  
  • पृथ्वी रक्षा (Save Earth) (317 Words)
  • पृथ्वी- हमारी धरोहर (Earth- Our Legacy) (314 Words)  
  • पोला (Pola) (270 Words)
  • फखरुद्दीन अली अहमद (Fakharuddin Ali Ahmed) (220 Words)
  • फरवरी माह के प्रमुख दिवस (Important Days & Dates in February)  
  • बकरीद (Id-ul-Zuha) (219 Words)
  • बत्तख (Duck) (200 Words)
  • बिल्ली (Cat) (200 Words)  
  • बिहारीलाल (Biharilal) (230 Words)
  • बी.डी. जत्ती (B.D. Jatti) (310 Words)  
  • बैसाखी (Baisakhi) (260 Words)  
  • बंदर (Monkey) (200 Words)
  • भगत सिंह (Bhagat Singh) (255 Words)  
  • भारत में बाल-श्रम (Child Labour in India) (300 Words)
  • भारत रत्न विजेता (List of Recipients of Bharat Ratna Award) (220 Words)  
  • भारतीय राष्ट्रीय त्यौहार (National Festivals of India) (220 Words)
  • भारतेंदु हरिश्चंद्र (Bhartendu Harishchandra) (300 Words)
  • भारतेंदु हरिश्चंद्र (Bhartendu Harishchandra) (325 Words)  
  • भूकंप (Earthquake) (400 Words)
  • भूपेन हज़ारिका (Bhupen Hazarika) (310 Words)  
  • भूमि प्रदूषण (Land Pollution) (200 Words)  
  • मई माह के प्रमुख दिवस (Important Days and Dates in May)  
  • मदन मोहन मालवीय (Madan Mohan Malviya) (260 Words)
  • मलिक मुहम्मद जायसी (Malik Muhhammad Jayasi) ( 240 Words)  
  • महादेवी वर्मा (Mahadevi Verma) (200 Words)  
  • महामारी (Pandemic) (300 Words)
  • महाशिवरात्रि (Mahashivratri) (310 Words)  
  • मातृ दिवस (International Mother's Day) (274 Words)
  • मार्च माह के प्रमुख दिवस (Important Days & Dates in March)
  • मीराबाई (Meerabai) (300 Words)
  • मुंशी प्रेमचंद (Munshi Premchand) (350 Words) 
  • मुहर्रम (Muharram) (200 Words)  
  • मेरा आदर्श अध्यापक (My Ideal Teacher) (280 Words)
  • मेरा प्रिय कवि (My Favourite Poet) (320 Words)  
  • मेरा प्रिय मित्र (My Best Friend) (230 Words)  
  • मेरा प्रिय लेखक (My Favourite Author) (225 Words)
  • मेरा प्रिय शौक (My Hobby) (275 Words)
  • मेरी माँ (My Mother) (330 Words)  
  • मेरे प्रिय शिक्षक (My Favourite Teacher) (365 Words)
  • मैथिली शरण गुप्त (Maithili Sharan Gupt) (335 Words)  
  • मोरारजी देसाई (Morarji Desai) (200 Words)  
  • मोहम्मद हिदायतुल्लाह (Mohammad Hidayatullah) (250 Words)  
  • मौलाना अबुल कलाम आज़ाद (Maulana Abul Kalam Azad) (300 Words)  
  • यशपाल (Yashpal) (200 Words)
  • रविदास जयंती (Ravidas Jayanti) (267 Words)  
  • राज्यवर्धन सिंह राठौर (Rajyavardhan Singh Rathore) (260 Words)
  • राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) (220 Words)  
  • राजेन्द्र प्रसाद जयंती (Rajendra Prasad Jayanti) (230 Words)  
  • राणा सांगा (Rana Sanga) (200 Words)
  • रानी लक्ष्मीबाई (Rani Lakshmibai) (330 Words)
  • रानी लक्ष्मीबाई जयंती (Rani Lakshmibai Jayanti) (200 Words)  
  • रामधारी सिंह 'दिनकर' (Ramdhari Singh 'Dinkar') (310 Words)  
  • रामनवमी (Ram Navami) (295 Words)  
  • रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) (330 Words)  
  • राम मनोहर लोहिया (Ram Manohar Lohia) (213 Words)
  • रामवृक्ष बेनीपुरी (Ramvriksha Benipuri) (240 Words)  
  • राष्ट्रीय एकता (National Unity) (366 Words)
  • राष्ट्रीय एकता दिवस (National Unity Day) (270 Words)  
  • राष्ट्रीय किसान दिवस (National Farmers Day) (250 Words)
  • राष्ट्रीय महिला दिवस (National Women's Day) (245 Words)
  • राष्ट्रीय युवा दिवस (National Youth Day) (286 Words)  
  • राष्ट्रीय विज्ञान दिवस (National Science Day) (220 Words)  
  • राष्ट्रीय शिक्षा दिवस (National Education Day) (200 Words)
  • रास बिहारी बोस (Ras Bihari Bose) (400 Words)
  • राहुल सांकृत्यायन (Rahul Sankrityayan) (290 Words)
  • लाला लाजपत राय (Lala Lajpat Rai) (200 Words)
  • लाला लाजपत राय जयंती (Lala Lajpat Rai Jayanti) (270 Words)  
  • लोहिया जयंती (Lohia Jayanti) (210 Words)  
  • विद्यालय में बच्चों को दंड देना उचित है (Children should be punished in schools) (200 Words)
  • विनोबा भावे (Vinoba Bhave) (225 Words)
  • विश्व अस्थमा दिवस (World Asthma Day) (209 Words)
  • विश्व कछुआ दिवस (World Turtle Day) (200 Words)  
  • विश्व कप- 2011 (World Cup- 2011) (200 Words)
  • विश्व किडनी दिवस (World Kidney Day) (225 Words)
  • विश्व खाद्य दिवस (World Food Day) (250 Words)
  • विश्व गौरैया दिवस (World Sparrow Day) (235 Words)
  • विश्व जल दिवस (World Water Day) (200 Words)  
  • विश्व डाक दिवस (World Post Day) (400 Words)  
  • विश्व दिव्यांग दिवस (International Day of Persons with Disabilities) (200 Words)
  • विश्व दृष्टि दिवस (World Sight Day) (300 Words)  
  • विश्व योग दिवस (World Yoga Day) (325 Words)
  • विश्व विद्यार्थी दिवस (World Students' Day) (240 Words)
  • विश्व वेटलैंड्स दिवस (World Wetlands Day) (200 Words)  
  • विश्व शिक्षक दिवस (World Teachers' Day) (200 Words)  
  • विश्व स्वास्थ्य दिवस (World Health Day) (225 Words)
  • विश्व सामाजिक न्याय दिवस (World Day of Social Justice) (250 Words)
  • विश्व होमियोपैथी दिवस (World Homeopathy Day) (200 Words)  
  • विश्व क्षय रोग दिवस (World Tuberculosis Day) (218 Words)
  • विज्ञान के चमत्कार (Wonders of Science) (400 Words)
  • विज्ञापन (Advertisement) (290 Words)
  • विज्ञापन- वरदान या अभिशाप (Advertisement- A Bane or Boon) (215 Words)
  • वी.पी. सिंह (V.P. Singh) (215 Words)
  • वी.वी. गिरी (V.V. Giri) (350Words)  
  • वृक्ष रक्षा (Save Trees) (270 Words)  
  • वृक्षारोपण  (Tree Plantation) (270Words)
  • वृक्षारोपण का महत्व (Importance of Tree Plantation) (271 Words)
  • श्याम सुन्दर दास (Shyam Sundar Das) (225 Words)
  • शिक्षक, जो मुझे सबसे अधिक प्रिय हैं (Teacher I Like Most) (350 Words)  
  • स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand) (243 Words)
  • स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand) (268 Words)
  • स्वस्थ आहार और व्यायाम का महत्त्व (Importance of Healthy Diet and Exercise) (400 Words)
  • स्वास्थ्य ही धन है (Health is Wealth) (200 Words)
  • स्वास्थ्य ही धन है (Health is Wealth) (400 Words)
  • सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय' (Sachchidanand Hiranand Vatsyayan 'Agyeya') (265 Words)
  • सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) (300 Words)  
  • संत रविदास (Ravidas) (320 Words)
  • सरदार पूर्ण सिंह (Sardar Puran Singh) (275 Words) 
  • सरदार भगत सिंह (Sardar Bhagat Singh) (255 Words)
  • सरदार वल्लभभाई पटेल (Sardar Vallabhbhai Patel) (221 Words)  
  • सरस्वती पूजा (Saraswati Pooja) (200 Words)  
  • सरोजिनी नायडू (Sarojini Naidu) (239 Words)
  • समय का सदुपयोग (Utilization of Time) (400 Words)  
  • समाचार पत्र (Newspaper) (280 Words)  
  • साइना नेहवाल (Saina Nehwal) (227 Words)  
  • सितम्बर माह के प्रमुख दिवस (Important Days and Dates in September Month)
  • सुधा चंद्रन (Sudha Chandran) (265 Words)
  • सुभाष चन्द्र बोस जयंती (Subhash Chandra Bose Jayanti) (241 Words)
  • सुमित्रानंदन पंत (Sumitranandan Pant) (300 Words)
  • सूरदास (Surdas) (250 Words)  
  • सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) (335 Words)  
  • सेलफोन और विद्यार्थी (Cell Phone and Students) (204 Words)  
  • संस्कृति और सभ्यता (Culture and Civilization) (200 Words)  
  • हमारा देश (Our Country) (275 Words)
  • हमारे राष्ट्रीय पर्व (Our National Festivals) (380 Words)
  • होली- रंगों का त्योहार (Holi- Festival of Colours) (290 Words)  
  • क्षय रोग (Kshay Rog or T.B.) (216 Words)  
  • ज्ञानी ज़ैल सिंह (Giani Zail Singh) (240 Words)  

Connect with Us!

Subscribe us, popular posts, short essay on 'peacock' in hindi | 'mor' par nibandh (120 words), short essay on 'dr. a.p.j. abdul kalam' in hindi | 'a.p.j. abdul kalam' par nibandh (230 words), short essay on 'mahatma gandhi' in hindi | 'mahatma gandhi' par nibandh (150 words), short essay on 'diwali' or 'deepawali' in hindi | 'diwali' par nibandh (150 words), short essay on 'jawaharlal nehru' in hindi | 'jawaharlal nehru' par nibandh (200 words), short essay on 'importance of water' in hindi | 'jal ka mahatva' par nibandh (245 words), short essay on 'independence day: 15 august' of india in hindi | 'swatantrata diwas' par nibandh (125 words), short essay on 'christmas' in hindi | 'christmas' par nibandh (170 words), short essay on 'dr sarvepalli radhakrishnan' in hindi | 'dr s. radhakrishnan' par nibandh (230 words), short essay on 'national flag of india' in hindi | 'bharat ka rashtriiya dhwaj' par nibandh (130 words), total pageviews, footer menu widget.

HindiKiDuniyacom

निबंध (Hindi Essay)

आजकल के समय में निबंध लिखना एक महत्वपूर्ण विषय बन चुका है, खासतौर से छात्रों के लिए। ऐसे कई अवसर आते हैं, जब आपको विभिन्न विषयों पर निबंधों की आवश्यकता होती है। निबंधों के इसी महत्व को ध्यान में रखते हुए हमने इन निबंधों को तैयार किया है। हमारे द्वारा तैयार किये गये निबंध बहुत ही क्रमबद्ध तथा सरल हैं और हमारे वेबसाइट पर छोटे तथा बड़े दोनो प्रकार की शब्द सीमाओं के निबंध उपलब्ध हैं।

निबंध क्या है?

कई बार लोगो द्वारा यह प्रश्न पूछा जाता है कि आखिर निबंध क्या है? और निबंध की परिभाषा क्या है? वास्तव में निबंध एक प्रकार की गद्य रचना होती है। जिसे क्रमबद्ध तरीके से लिखा गया हो। एक अच्छा निबंध लिखने के लिए हमें कुछ बातों का ध्यान देना चाहिए जैसे कि – हमारे द्वारा लिखित निबंध की भाषा सरल हो, इसमें विचारों की पुनरावृत्ति न हो, निबंध के विभिन्न हिस्सों को शीर्षकों में बांटा गया हो आदि।

यदि आप इन बातों का ध्यान रखगें तो एक अच्छा निबंध(Hindi Nibandh) अवश्य लिख पायेंगे। अपने निबंधों के लेखन के पश्चात उसे एक बार अवश्य पढ़े क्योंकि ऐसा करने पर आप अपनी त्रुटियों को ठीक करके अपने निबंधों को और भी अच्छा बना पायेंगे।

हम अपने वेबसाइट पर कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 और कॉलेज विद्यार्थियों के लिए विभिन्न प्रकार के निबंध(Essay in Hindi) उपलब्ध करा रहे हैं| इस प्रकार के निबंध आपके बच्चों और विद्यार्थियों की अतिरिक्त पाठ्यक्रम गतिविधियों जैसे: निबंध लेखन, वाद-विवाद प्रतियोगिता और विचार-विमर्श में बहुत सहायक हो साबित होंगे।

ये सारे ‎हिन्दी निबंध (Hindi Essay) बहुत आसान शब्दों का प्रयोग करके बहुत ही सरल और आसान भाषा में लिखे गए हैं। इन निबंधों को कोई भी व्यक्ति बहुत ही आसानी से समझ सकता है। हमारे वेबसाइट पर स्कूलों में दिये जाने वाले निबंधों के साथ ही अन्य कई प्रकार के निबंध उपलब्ध है। जो आपके परीक्षाओं तथा अन्य कार्यों के लिए काफी सहायक सिद्ध होंगे, इन दिये गये निबंधों का आप अपनी आवश्यकता अनुसार उपयोग कर सकते हैं। ऐसे ही अन्य सामग्रियों के लिए भी आप हमारी वेबसाइट का प्रयोग कर सकते हैं।

Essay in Hindi

  • View All Management Exams

Colleges & Courses

  • MBA College Admissions
  • MBA Colleges in India
  • Top MBA Colleges in India
  • Top Online MBA Colleges in India
  • CAT Registration 2023
  • BBA Colleges in India
  • CAT Percentile Predictor 2023
  • CAT 2023 College Predictor
  • XAT College Predictor 2024
  • CMAT College Predictor 2024
  • SNAP College Predictor 2023
  • MAT College Predictor 2023
  • NMAT College Predictor
  • CAT Score Vs Percentile
  • CAT 2023 Answer Key
  • CAT Result 2023
  • CAT Cut Off
  • Download Helpful Ebooks
  • List of Popular Branches
  • QnA - Get answers to your doubts
  • IIM Fees Structure
  • JEE Main 2024
  • JEE Advanced 2024
  • BITSAT 2024
  • View All Engineering Exams
  • Colleges Accepting B.Tech Applications
  • Top Engineering Colleges in India
  • Engineering Colleges in India
  • Engineering Colleges in Tamil Nadu
  • Engineering Colleges Accepting JEE Main
  • Top Engineering Colleges in Hyderabad
  • Top Engineering Colleges in Bangalore
  • Top Engineering Colleges in Maharashtra
  • JEE Main College Predictor
  • JEE Main Rank Predictor
  • MHT CET College Predictor
  • AP EAMCET College Predictor
  • TS EAMCET College Predictor
  • KCET College Predictor
  • JEE Advanced College Predictor
  • View All College Predictors
  • JEE Main Question Paper
  • JEE Main Mock Test
  • GATE Mock Test
  • JEE Main Syllabus
  • Download E-Books and Sample Papers
  • Compare Colleges
  • B.Tech College Applications
  • BITSAT Question Paper
  • AIIMS Nursing
  • Top Medical Colleges in India
  • Top Medical Colleges in India accepting NEET Score
  • Medical Colleges accepting NEET
  • List of Medical Colleges in India
  • Medical Colleges In Karnataka
  • Medical Colleges in Maharashtra
  • Medical Colleges in India Accepting NEET PG
  • NEET College Predictor
  • NEET PG College Predictor
  • NEET MDS College Predictor
  • DNB CET College Predictor
  • DNB PDCET College Predictor
  • NEET Counselling
  • NEET Result
  • NEET Cut off
  • NEET Online Preparation
  • Download Helpful E-books
  • LSAT India 2024
  • Colleges Accepting Admissions
  • Top Law Colleges in India
  • Law College Accepting CLAT Score
  • List of Law Colleges in India
  • Top Law Colleges in Delhi
  • Top Law Collages in Indore
  • Top Law Colleges in Chandigarh
  • Top Law Collages in Lucknow

Predictors & E-Books

  • CLAT College Predictor
  • MHCET Law ( 5 Year L.L.B) College Predictor
  • AILET College Predictor
  • Sample Papers
  • Compare Law Collages
  • Careers360 Youtube Channel
  • CLAT 2024 Exam Live
  • AILET Admit Card 2024
  • AIBE Admit Card 2023
  • NID DAT 2024
  • NID Admit Card 2024
  • NIFT Exam Application Form 2024
  • UPES DAT 2023

Animation Courses

  • Animation Courses in India
  • Animation Courses in Bangalore
  • Animation Courses in Mumbai
  • Animation Courses in Pune
  • Animation Courses in Chennai
  • Animation Courses in Hyderabad
  • Design Colleges in India
  • Fashion Design Colleges in Bangalore
  • Fashion Design Colleges in Mumbai
  • Fashion Design Colleges in Pune
  • Fashion Design Colleges in Delhi
  • Fashion Design Colleges in Hyderabad
  • Fashion Design Colleges in India
  • Top Design Colleges in India
  • Free Sample Papers
  • Free Design E-books
  • List of Branches
  • Careers360 Youtube channel
  • NIFT College Predictor
  • IPU CET BJMC
  • JMI Mass Communication Entrance Exam
  • IIMC Entrance Exam
  • Media & Journalism colleges in Delhi
  • Media & Journalism colleges in Bangalore
  • Media & Journalism colleges in Mumbai
  • List of Media & Journalism Colleges in India
  • Free Ebooks
  • CA Intermediate
  • CA Foundation
  • CS Executive
  • CS Professional
  • Difference between CA and CS
  • Difference between CA and CMA
  • CA Full form
  • CMA Full form
  • CS Full form
  • CA Salary In India

Top Courses & Careers

  • Bachelor of Commerce (B.Com)
  • Master of Commerce (M.Com)
  • Company Secretary
  • Cost Accountant
  • Charted Accountant
  • Credit Manager
  • Financial Advisor
  • Top Commerce Colleges in India
  • Top Government Commerce Colleges in India
  • Top Private Commerce Colleges in India
  • Top M.Com Colleges in Mumbai
  • Top B.Com Colleges in India
  • IT Colleges in Tamil Nadu
  • IT Colleges in Uttar Pradesh
  • MCA Colleges in India
  • BCA Colleges in India

Quick Links

  • Information Technology Courses
  • Programming Courses
  • Web Development Courses
  • Data Analytics Courses
  • Big Data Analytics Courses
  • RUHS Pharmacy Admission Test
  • Top Pharmacy Colleges in India
  • Pharmacy Colleges in Pune
  • Pharmacy Colleges in Mumbai
  • Colleges Accepting GPAT Score
  • Pharmacy Colleges in Lucknow
  • List of Pharmacy Colleges in Nagpur
  • GPAT Result
  • GPAT 2024 Admit Card
  • GPAT Question Papers
  • NCHMCT JEE 2024
  • Mah BHMCT CET
  • Top Hotel Management Colleges in Delhi
  • Top Hotel Management Colleges in Hyderabad
  • Top Hotel Management Colleges in Mumbai
  • Top Hotel Management Colleges in Tamil Nadu
  • Top Hotel Management Colleges in Maharashtra
  • B.Sc Hotel Management
  • Hotel Management
  • Diploma in Hotel Management and Catering Technology

Diploma Colleges

  • Top Diploma Colleges in Maharashtra
  • UPSC IAS 2024
  • SSC CGL 2023
  • IBPS RRB 2023
  • Previous Year Sample Papers
  • Free Competition E-books
  • Sarkari Result
  • QnA- Get your doubts answered
  • UPSC Previous Year Sample Papers
  • CTET Previous Year Sample Papers
  • SBI Clerk Previous Year Sample Papers
  • NDA Previous Year Sample Papers

Upcoming Events

  • NDA Application Form 2024
  • UPSC IAS Application Form 2024
  • CDS Application Form 2024
  • SSC MTS Result 2023
  • IBPS PO Result 2023
  • SSC Stenographer Result 2023
  • UPTET Notification 2023
  • SSC JE Result 2023

Other Exams

  • SSC CHSL 2023
  • UP PCS 2023
  • UGC NET 2023
  • RRB NTPC 2023
  • IBPS PO 2023
  • IBPS Clerk 2023
  • IBPS SO 2023
  • CBSE Class 10th

CBSE Class 12th

  • UP Board 10th
  • UP Board 12th
  • Bihar Board 10th
  • Bihar Board 12th
  • Top Schools in India
  • Top Schools in Delhi
  • Top Schools in Mumbai
  • Top Schools in Chennai
  • Top Schools in Hyderabad
  • Top Schools in Kolkata
  • Top Schools in Pune
  • Top Schools in Bangalore

Products & Resources

  • JEE Main Knockout April
  • NCERT Notes

NCERT Syllabus

  • NCERT Books
  • RD Sharma Solutions
  • Navodaya Vidyalaya Admission 2024-25

NCERT Solutions

  • NCERT Solutions for Class 12
  • NCERT Solutions for Class 11
  • NCERT solutions for Class 10
  • NCERT solutions for Class 9
  • NCERT solutions for Class 8
  • NCERT Solutions for Class 7
  • Top University in USA
  • Top University in Canada
  • Top University in Ireland
  • Top Universities in UK
  • Top Universities in Australia
  • Best MBA Colleges in Abroad
  • Business Management Studies Colleges

Top Countries

  • Study in USA
  • Study in UK
  • Study in Canada
  • Study in Australia
  • Study in Ireland
  • Study in Germany
  • Study in Singapore
  • Study in Europe

Student Visas

  • Student Visa Canada
  • Student Visa UK
  • Student Visa USA
  • Student Visa Australia
  • Student Visa Germany
  • Student Visa New Zealand
  • Student Visa Ireland
  • CUET PG 2024
  • IGNOU Admission 2024
  • DU Admission
  • UP B.Ed JEE 2024
  • DDU Entrance Exam
  • IIT JAM 2024
  • ICAR AIEEA Exam
  • Universities in India 2023
  • Top Universities in India 2023
  • Top Colleges in India
  • Top Universities in Uttar Pradesh 2023
  • Top Universities in Bihar 2023
  • Top Universities in Madhya Pradesh 2023
  • Top Universities in Tamil Nadu 2023
  • Central Universities in India
  • IGNOU Date Sheet
  • CUET Mock Test 2024
  • CUET Application Form 2024
  • CUET PG Application Form 2024
  • CUET Participating Universities 2024
  • CUET Previous Year Question Paper
  • ICAR AIEEA Previous Year Question Papers
  • E-Books and Sample Papers
  • CUET Exam Pattern 2024
  • CUET Exam Date 2024
  • CUET Syllabus 2024
  • IGNOU Exam Form 2023
  • IGNOU Result 2023
  • CUET PG Courses 2024

Engineering Preparation

  • Knockout JEE Main 2024
  • Test Series JEE Main 2024
  • JEE Main 2024 Rank Booster

Medical Preparation

  • Knockout NEET 2024
  • Test Series NEET 2024
  • Rank Booster NEET 2024

Online Courses

  • JEE Main One Month Course
  • NEET One Month Course
  • IBSAT Free Mock Tests
  • IIT JEE Foundation Course
  • Knockout BITSAT 2024
  • Career Guidance Tool

Top Streams

  • IT & Software Certification Courses
  • Engineering and Architecture Certification Courses
  • Programming And Development Certification Courses
  • Business and Management Certification Courses
  • Marketing Certification Courses
  • Health and Fitness Certification Courses
  • Design Certification Courses

Specializations

  • Digital Marketing Certification Courses
  • Cyber Security Certification Courses
  • Artificial Intelligence Certification Courses
  • Business Analytics Certification Courses
  • Data Science Certification Courses
  • Cloud Computing Certification Courses
  • Machine Learning Certification Courses
  • View All Certification Courses
  • UG Degree Courses
  • PG Degree Courses
  • Short Term Courses
  • Free Courses
  • Online Degrees and Diplomas
  • Compare Courses

Top Providers

  • Coursera Courses
  • Udemy Courses
  • Edx Courses
  • Swayam Courses
  • upGrad Courses
  • Simplilearn Courses
  • Great Learning Courses

Popular Searches

Access premium articles, webinars, resources to make the best decisions for career, course, exams, scholarships, study abroad and much more with

Plan, Prepare & Make the Best Career Choices

हिंदी निबंध (Hindi Nibandh / Essay in Hindi) - हिंदी निबंध लेखन, हिंदी निबंध 100, 200, 300, 500 शब्दों में

हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) - छात्र जीवन में विभिन्न विषयों पर हिंदी निबंध (essay in hindi) लिखने की आवश्यकता होती है। हिंदी निबंध लेखन (essay writing in hindi) के कई फायदे हैं। हिंदी निबंध से किसी विषय से जुड़ी जानकारी को व्यवस्थित रूप देना आ जाता है तथा विचारों को अभिव्यक्त करने का कौशल विकसित होता है। हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखने की गतिविधि से इन विषयों पर छात्रों के ज्ञान के दायरे का विस्तार होता है जो कि शिक्षा के अहम उद्देश्यों में से एक है। हिंदी में निबंध या लेख लिखने से विषय के बारे में समालोचनात्मक दृष्टिकोण विकसित होता है। साथ ही अच्छा हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखने पर अंक भी अच्छे प्राप्त होते हैं। इसके अलावा हिंदी निबंध (hindi nibandh) किसी विषय से जुड़े आपके पूर्वाग्रहों को दूर कर सटीक जानकारी प्रदान करते हैं जिससे अज्ञानता की वजह से हम लोगों के सामने शर्मिंदा होने से बच जाते हैं।

आइए सबसे पहले जानते हैं कि हिंदी में निबंध की परिभाषा (definition of essay) क्या होती है?

हिंदी निबंध (hindi nibandh) : निबंध के अंग कौन-कौन से होते हैं, हिंदी निबंध (hindi nibandh) : निबंध के प्रकार (types of essay), हिंदी निबंध (hindi nibandh) : निबंध में उद्धरण का महत्व, गुरु नानक जयंती पर निबंध (essay on guru nanak jayanti in hindi), मेरा पालतू कुत्ता पर निबंध ( my pet dog essay in hindi), स्वामी विवेकानंद पर निबंध ( swami vivekananda essay in hindi), महिला सशक्तीकरण पर निबंध (women empowerment essay), भगत सिंह निबंध (bhagat singh essay in hindi), वसुधैव कुटुंबकम् पर निबंध (vasudhaiva kutumbakam essay), गाय पर निबंध (essay on cow in hindi), क्रिसमस पर निबंध (christmas in hindi), रक्षाबंधन पर निबंध (rakshabandhan par nibandh), होली का निबंध (essay on holi in hindi), विजयदशमी अथवा दशहरा पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on dussehra or vijayadashmi), दिवाली पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on diwali), बाल दिवस पर हिंदी में भाषण (children’s day speech in hindi), हिंदी दिवस पर भाषण (hindi diwas speech), हिंदी दिवस पर कविता (hindi diwas poem), स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (independence day essay), गणतंत्र दिवस पर भाषण (republic day speech in hindi), प्रदूषण पर निबंध (essay on pollution in hindi), वायु प्रदूषण पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on air pollution), जलवायु परिवर्तन पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on climate change), पर्यावरण दिवस पर निबंध (essay on environment day in hindi), मेरा प्रिय खेल पर निबंध (essay on my favourite game in hindi), विज्ञान के चमत्कार पर निबंध (wonder of science essay in hindi), शिक्षक दिवस पर निबंध (teachers day essay in hindi), अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर निबंध (essay on international women’s day in hindi), बाल श्रम पर निबंध (child labour essay in hindi), मेरा प्रिय नेता: एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध (apj abdul kalam essay in hindi), मेरा प्रिय मित्र (my best friend nibandh), सरोजिनी नायडू पर निबंध (sarojini naidu essay in hindi).

हिंदी निबंध (Hindi Nibandh / Essay in Hindi) - हिंदी निबंध लेखन, हिंदी निबंध 100, 200, 300, 500 शब्दों में

अन्य महत्वपूर्ण लेख :

हिंदी दिवस पर भाषण के लिए इस आलेख की मदद लें।

हिंदी दिवस पर कविता विषय पर जानकारी के लिए लिंक पर जाएँ।

हिंदी पत्र लेखन के लिए लिंक पर क्लिक करें।

कुछ सामान्य विषयों (common topics) पर जानकारी जुटाने में छात्रों की सहायता करने के उद्देश्य से हमने हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) और भाषणों के रूप में कई लेख तैयार किए हैं। स्कूली छात्रों (कक्षा 1 से 12 तक) एवं प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में लगे विद्यार्थियों के लिए उपयोगी हिंदी निबंध (hindi nibandh), भाषण तथा कविता (useful essays, speeches and poems) से उनको बहुत मदद मिलेगी तथा उनके ज्ञान के दायरे में विस्तार होगा। ऐसे में यदि कभी परीक्षा में इससे संबंधित निबंध आ जाए या भाषण देना होगा, तो छात्र उन परिस्थितियों / प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन कर पाएँगे।

महत्वपूर्ण लेख:

छात्र जीवन प्रत्येक व्यक्ति के जीवन के सबसे सुनहरे समय में से एक होता है जिसमें उसे बहुत कुछ सीखने को मिलता है। वास्तव में जीवन की आपाधापी और चिंताओं से परे मस्ती से भरा छात्र जीवन ज्ञान अर्जित करने को समर्पित होता है। छात्र जीवन में अर्जित ज्ञान भावी जीवन तथा करियर के लिए सशक्त आधार तैयार करने का काम करता है। नींव जितनी अच्छी और मजबूत होगी उस पर तैयार होने वाला भवन भी उतना ही मजबूत होगा और जीवन उतना ही सुखद और चिंतारहित होगा। इसे देखते हुए स्कूलों में शिक्षक छात्रों को विषयों से संबंधित अकादमिक ज्ञान से लैस करने के साथ ही विभिन्न प्रकार की पाठ्येतर गतिविधियों के जरिए उनके ज्ञान के दायरे का विस्तार करने का प्रयास करते हैं। इन पाठ्येतर गतिविधियों में समय-समय पर हिंदी निबंध (hindi nibandh) या लेख और भाषण प्रतियोगिताओं का आयोजन करना शामिल है।

निबंध, गद्य विधा की एक लेखन शैली है। हिंदी साहित्य कोष के अनुसार निबंध ‘किसी विषय या वस्तु पर उसके स्वरूप, प्रकृति, गुण-दोष आदि की दृष्टि से लेखक की गद्यात्मक अभिव्यक्ति है।’ एक अन्य परिभाषा में सीमित समय और सीमित शब्दों में क्रमबद्ध विचारों की अभिव्यक्ति को निबंध की संज्ञा दी गई है। इस तरह कह सकते हैं कि मोटे तौर पर किसी विषय पर अपने विचारों को लिखकर की गई अभिव्यक्ति ही निबंध है।

आइए अब जानते हैं कि निबंध के कितने अंग होते हैं और इन्हें किस प्रकार प्रभावपूर्ण ढंग से लिखकर आकर्षक बनाया जा सकता है। किसी भी हिंदी निबंध (Essay in hindi) के मोटे तौर पर तीन भाग होते हैं। ये हैं - प्रस्तावना या भूमिका, विषय विस्तार और उपसंहार।

प्रस्तावना (भूमिका)- हिंदी निबंध के इस हिस्से में विषय से पाठकों का परिचय कराया जाता है। निबंध की भूमिका या प्रस्तावना, इसका बेहद अहम हिस्सा होती है। जितनी अच्छी भूमिका होगी पाठकों की रुचि भी निबंध में उतनी ही अधिक होगी। प्रस्तावना छोटी और सटीक होनी चाहिए ताकि पाठक संपूर्ण हिंदी लेख (hindi me lekh) पढ़ने को प्रेरित हों और जुड़ाव बना सकें।

विषय विस्तार- निबंध का यह मुख्य भाग होता है जिसमें विषय के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाती है। इसमें इसके सभी संभव पहलुओं की जानकारी दी जाती है। हिंदी निबंध (hindi nibandh) के इस हिस्से में अपने विचारों को सिलसिलेवार ढंग से लिखकर अभिव्यक्त करने की खूबी का प्रदर्शन करना होता है।

उपसंहार- निबंध का यह अंतिम भाग होता है, इसमें हिंदी निबंध (hindi nibandh) के विषय पर अपने विचारों का सार रखते हुए पाठक के सामने निष्कर्ष रखा जाता है।

अंत में यह जानना भी अत्यधिक आवश्यक है कि निबंध कितने प्रकार के होते हैं। मोटे तौर निबंध को निम्नलिखित श्रेणियों में रखा जाता है-

वर्णनात्मक निबंध - इस तरह के निबंधों में किसी घटना, वस्तु, स्थान, यात्रा आदि का वर्णन किया जाता है। इसमें त्योहार, यात्रा, आयोजन आदि पर लेखन शामिल है। इनमें घटनाओं का एक क्रम होता है और इस तरह के निबंध लिखने आसान होते हैं।

विचारात्मक निबंध - इस तरह के निबंधों में मनन-चिंतन की अधिक आवश्यकता होती है। अक्सर ये किसी समस्या – सामाजिक, राजनीतिक या व्यक्तिगत- पर लिखे जाते हैं। विज्ञान वरदान या अभिशाप, राष्ट्रीय एकता की समस्या, बेरोजगारी की समस्या आदि ऐसे विषय हो सकते हैं। इन हिंदी निबंधों (hindi nibandh) में विषय के अच्छे-बुरे पहलुओं पर विचार व्यक्त किया जाता है और समस्या को दूर करने के उपाय भी सुझाए जाते हैं।

भावात्मक निबंध - ऐसे निबंध जिनमें भावनाओं को व्यक्त करने की अधिक स्वतंत्रता होती है। इनमें कल्पनाशीलता के लिए अधिक छूट होती है। भाव की प्रधानता के कारण इन निबंधों में लेखक की आत्मीयता झलकती है। मेरा प्रिय मित्र, यदि मैं डॉक्टर होता जैसे विषय इस श्रेणी में रखे जा सकते हैं।

इसके साथ ही विषय वस्तु की दृष्टि से भी निबंधों को सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, खेल, विज्ञान और प्रौद्योगिकी जैसी बहुत सी श्रेणियों में बाँटा जा सकता है।

ये भी देखें :

ये भी पढ़ें-

  • केंद्रीय विद्यालय एडमिशन
  • नवोदय कक्षा 6 प्रवेश
  • एनवीएस एडमिशन कक्षा 9

जिस प्रकार बातचीत को आकर्षक और प्रभावी बनाने के लिए लोग मुहावरे, लोकोक्तियों, सूक्तियों, दोहों, कविताओं आदि की मदद लेते हैं, ठीक उसी तरह निबंध को भी प्रभावी बनाने के लिए इनकी सहायता ली जानी चाहिए। उदाहरण के लिए मित्रता पर हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखते समय तुलसीदास जी की इन पंक्तियों की मदद ले सकते हैं -

जे न मित्र दुख होंहि दुखारी, तिन्हिं बिलोकत पातक भारी।

यानि कि जो व्यक्ति मित्र के दुख से दुखी नहीं होता है, उनको देखने से बड़ा पाप होता है।

हिंदी या मातृभाषा पर निबंध लिखते समय भारतेंदु हरिश्चंद्र की पंक्तियों का प्रयोग करने से चार चाँद लग जाएगा-

निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल

बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल।

प्रासंगिकता और अपने विवेक के अनुसार लेखक निबंधों में ऐसी सामग्री का उपयोग निबंध को प्रभावी बनाने के लिए कर सकते हैं। इनका भंडार तैयार करने के लिए जब कभी कोई पंक्ति या उद्धरण अच्छा लगे, तो एकत्रित करते रहें और समय-समय पर इनको दोहराते रहें।

उपरोक्त सभी प्रारूपों का उपयोग कर छात्रों के लिए हमने निम्नलिखित हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) तैयार किए हैं -

समय-समय पर ईश्वरीय शक्ति का एहसास कराने के लिए संत-महापुरुषों का जन्म होता रहा है। गुरु नानक भी ऐसे ही विभूति थे। उन्होंने अपने कार्यों से लोगों को चमत्कृत कर दिया। गुरु नानक की तर्कसम्मत बातों से आम जनमानस उनका मुरीद हो गया। उन्होंने दुनिया को मानवता, प्रेम और भाईचारे का संदेश दिया। भारत, पाकिस्तान, अरब और अन्य जगहों पर वर्षों तक यात्रा की और लोगों को उपदेश दिए। गुरु नानक जयंती पर निबंध से आपको उनके व्यक्तित्व और कृतित्व की जानकारी मिलेगी।

कुत्ता हमारे आसपास रहने वाला जानवर है। सड़कों पर, गलियों में कहीं भी कुत्ते घूमते हुए दिख जाते हैं। शौक से लोग कुत्तों को पालते भी हैं। क्योंकि वे घर की रखवाली में सहायक होते हैं। बच्चों को अक्सर परीक्षा में मेरा पालतू कुत्ता विषय पर निबंध लिखने को कहा जाता है। यह लेख बच्चों को मेरा पालतू कुत्ता विषय पर निबंध लिखने में सहायक होगा।

स्वामी विवेकानंद जी हमारे देश का गौरव हैं। विश्व-पटल पर वास्तविक भारत को उजागर करने का कार्य सबसे पहले किसी ने किया तो वें स्वामी विवेकानंद जी ही थे। उन्होंने ही विश्व को भारतीय मानसिकता, विचार, धर्म, और प्रवृति से परिचित करवाया। स्वामी विवेकानंद जी के बारे में जानने के लिए आपको इस लेख को पढ़ना चाहिए। यह लेख निश्चित रूप से आपके व्यक्तित्व में सकारात्मक परिवर्तन करेगा।

हम सभी ने "महिला सशक्तिकरण" या नारी सशक्तिकरण के बारे में सुना होगा। "महिला सशक्तिकरण"(mahila sashaktikaran essay) समाज में महिलाओं की स्थिति को सुदृढ़ बनाने और सभी लैंगिक असमानताओं को कम करने के लिए किए गए कार्यों को संदर्भित करता है। व्यापक अर्थ में, यह विभिन्न नीतिगत उपायों को लागू करके महिलाओं के आर्थिक और सामाजिक सशक्तिकरण से संबंधित है। प्रत्येक बालिका की स्कूल में उपस्थिति सुनिश्चित करना और उनकी शिक्षा को अनिवार्य बनाना, महिलाओं को सशक्त बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। इस लेख में "महिला सशक्तिकरण"(mahila sashaktikaran essay) पर कुछ सैंपल निबंध दिए गए हैं, जो निश्चित रूप से सभी के लिए सहायक होंगे।

भगत सिंह एक युवा क्रांतिकारी थे जिन्होंने भारत की आजादी के लिए लड़ते हुए बहुत कम उम्र में ही अपने प्राण न्यौछावर कर दिए थे। देश के लिए उनकी भक्ति निर्विवाद है। शहीद भगत सिंह महज 23 साल की उम्र में शहीद हो गए। उन्होंने न केवल भारत की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी, बल्कि वह इसे हासिल करने के लिए अपनी जान जोखिम में डालने को भी तैयार थे। उनके निधन से पूरे देश में देशभक्ति की भावना प्रबल हो गई। उनके समर्थकों द्वारा उन्हें शहीद के रूप में सम्मानित किया गया था। वह हमेशा हमारे बीच शहीद भगत सिंह के नाम से ही जाने जाएंगे। भगत सिंह के जीवन परिचय के लिए अक्सर छोटी कक्षा के छात्रों को भगत सिंह पर निबंध तैयार करने को कहा जाता है। इस लेख के माध्यम से आपको भगत सिंह पर निबंध तैयार करने में सहायता मिलेगी।

वसुधैव कुटुंबकम एक संस्कृत वाक्यांश है जिसका अर्थ है "संपूर्ण विश्व एक परिवार है"। यह महा उपनिषद् से लिया गया है। वसुधैव कुटुंबकम वह दार्शनिक अवधारणा है जो सार्वभौमिक भाईचारे और सभी प्राणियों के परस्पर संबंध के विचार को पोषित करती है। यह वाक्यांश संदेश देता है कि प्रत्येक व्यक्ति वैश्विक समुदाय का सदस्य है और हमें एक-दूसरे का सम्मान करना चाहिए, सभी की गरिमा का ध्यान रखने के साथ ही सबके प्रति दयाभाव रखना चाहिए। वसुधैव कुटुंबकम की भावना को पोषित करने की आवश्यकता सदैव रही है पर इसकी आवश्यकता इस समय में पहले से कहीं अधिक है। समय की जरूरत को देखते हुए इसके महत्व से भावी नागरिकों को अवगत कराने के लिए वसुधैव कुटुंबकम विषय पर निबंध या भाषणों का आयोजन भी स्कूलों में किया जाता है। कॅरियर्स360 के द्वारा छात्रों की इसी आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए वसुधैव कुटुंबकम विषय पर यह लेख तैयार किया गया है।

गाय भारत के एक बेहद महत्वपूर्ण पशु में से एक है जिस पर न जाने कितने ही लोगों की आजीविका आश्रित है क्योंकि गाय के शरीर से प्राप्त होने वाली हर वस्तु का उपयोग भारतीय लोगों द्वारा किसी न किसी रूप में किया जाता है। ना सिर्फ आजीविका के लिहाज से, बल्कि आस्था के दृष्टिकोण से भी भारत में गाय एक महत्वपूर्ण पशु है क्योंकि भारत में मौजूद सबसे बड़ी आबादी यानी हिन्दू धर्म में आस्था रखने वाले लोगों के लिए गाय आस्था का प्रतीक है। ऐसे में विद्यालयों में गाय को लेकर निबंध लिखने का कार्य दिया जाना आम है। गाय के इस निबंध के माध्यम से छात्रों को परीक्षा में पूछे जाने वाले गाय पर निबंध को लिखने में भी सहायता मिलेगी।

क्रिसमस (christmas in hindi) भारत सहित दुनिया भर में मनाए जाने वाले बेहद महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है। यह ईसाइयों का प्रमुख त्योहार है। प्रत्येक वर्ष इसे 25 दिसंबर को मनाया जाता है। क्रिसमस का महत्व समझाने के लिए कई बार स्कूलों में बच्चों को क्रिसमस पर निबंध (christmas in hindi) लिखने का कार्य दिया जाता है। क्रिसमस पर एग्जाम के लिए प्रभावी निबंध तैयार करने का तरीका सीखें।

रक्षाबंधन हिंदुओं के प्रमुख त्योहारों में से एक है। यह पर्व पूरी तरह से भाई और बहन के रिश्ते को समर्पित त्योहार है। इस दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रक्षाबंधन बांध कर उनके लंबी उम्र की कामना करती हैं। वहीं भाई अपनी बहनों को कोई तोहफा देने के साथ ही जीवन भर उनके सुख-दुख में उनका साथ देने का वचन देते हैं। इस दिन छोटी बच्चियाँ देश के प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति को राखी बांधती हैं। रक्षाबंधन पर हिंदी में निबंध (essay on rakshabandhan in hindi) आधारित इस लेख से विद्यार्थियों को रक्षाबंधन के त्योहार पर न सिर्फ लेख लिखने में सहायता प्राप्त होगी, बल्कि वे इसकी सहायता से रक्षाबंधन के पर्व का महत्व भी समझ सकेंगे।

होली त्योहार जल्द ही देश भर में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाने वाला है। होली आकर्षक और मनोहर रंगों का त्योहार है, यह एक ऐसा त्योहार है जो हर धर्म, संप्रदाय, जाति के बंधन की सीमा से परे जाकर लोगों को भाई-चारे का संदेश देता है। होली अंदर के अहंकार और बुराई को मिटा कर सभी के साथ हिल-मिलकर, भाई-चारे, प्रेम और सौहार्द्र के साथ रहने का त्योहार है। होली पर हिंदी में निबंध (hindi mein holi par nibandh) को पढ़ने से होली के सभी पहलुओं को जानने में मदद मिलेगी और यदि परीक्षा में holi par hindi mein nibandh लिखने को आया तो अच्छा अंक लाने में भी सहायता मिलेगी।

दशहरा हिंदू धर्म में मनाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण त्योहार है। बच्चों को विद्यालयों में दशहरा पर निबंध (Essay in hindi on Dussehra) लिखने को भी कहा जाता है, जिससे उनकी दशहरा के प्रति उत्सुकता बनी रहे और उन्हें दशहरा के बारे पूर्ण जानकारी भी मिले। दशहरा पर निबंध (Essay on Dussehra in Hindi) के इस लेख में हम देखेंगे कि लोग दशहरा कैसे और क्यों मनाते हैं, इसलिए हिंदी में दशहरा पर निबंध (Essay on Dussehra in Hindi) के इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें।

हमें उम्मीद है कि दीवाली त्योहार पर हिंदी में निबंध उन युवा शिक्षार्थियों के लिए फायदेमंद साबित होगा जो इस विषय पर निबंध लिखना चाहते हैं। हमने नीचे दिए गए निबंध में शुभ दिवाली त्योहार (Diwali Festival) के सार को सही ठहराने के लिए अपनी ओर से एक मामूली प्रयास किया है। बच्चे दिवाली पर हिंदी के इस निबंध से कुछ सीख कर लाभ उठा सकते हैं कि वाक्यों को कैसे तैयार किया जाए, Class 1 से 10 तक के लिए दीपावली पर निबंध हिंदी में तैयार करने के लिए इसके लिंक पर जाएँ।

बाल दिवस पर भाषण (Children's Day Speech In Hindi), बाल दिवस पर हिंदी में निबंध (Children's Day essay In Hindi), बाल दिवस गीत, कविता पाठ, चित्रकला, खेलकूद आदि से जुड़ी प्रतियोगिताएं बाल दिवस के मौके पर आयोजित की जाती हैं। स्कूलों में बाल दिवस पर भाषण देने और बाल दिवस पर हिंदी में निबंध लिखने के लिए उपयोगी सामग्री इस लेख में मिलेगी जिसकी मदद से बाल दिवस पर भाषण देने और बाल दिवस के लिए निबंध तैयार करने में मदद मिलेगी। कई बार तो परीक्षाओं में भी बाल दिवस पर लेख लिखने का प्रश्न पूछा जाता है। इसमें भी यह लेख मददगार होगा।

हिंदी दिवस हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है। भारत देश अनेकता में एकता वाला देश है। अपने विविध धर्म, संस्कृति, भाषाओं और परंपराओं के साथ, भारत के लोग सद्भाव, एकता और सौहार्द के साथ रहते हैं। भारत में बोली जाने वाली विभिन्न भाषाओं में, हिंदी सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली और बोली जाने वाली भाषा है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 343 के अनुसार 14 सितंबर 1949 को हिंदी भाषा को राजभाषा के रूप में अपनाया गया था। हमारी मातृभाषा हिंदी और देश के प्रति सम्मान दिखाने के लिए हिंदी दिवस का आयोजन किया जाता है। हिंदी दिवस पर भाषण के लिए उपयोगी जानकारी इस लेख में मिलेगी।

हिन्दी में कवियों की परम्परा बहुत लम्बी है। हिंदी के महान कवियों ने कालजयी रचनाएं लिखी हैं। हिंदी में निबंध और वाद-विवाद आदि का जितना महत्व है उतना ही महत्व हिंदी कविताओं और कविता-पाठ का भी है। हिंदी दिवस पर विद्यालय या अन्य किसी आयोजन पर हिंदी कविता भी चार चाँद लगाने का काम करेगी। हिंदी दिवस कविता के इस लेख में हम हिंदी भाषा के सम्मान में रचित, हिंदी का महत्व बतलाती विभिन्न कविताओं की जानकारी दी गई है।

15 अगस्त, 1947 को हमारा देश भारत 200 सालों के अंग्रेजी हुकूमत से आजाद हुआ था। यही वजह है कि यह दिन इतिहास में दर्ज हो गया और इसे भारत के स्वतंत्रता दिवस के तौर पर मनाया जाने लगा। इस दिन देश के प्रधानमंत्री लालकिले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराते तो हैं ही और साथ ही इसके बाद वे पूरे देश को लालकिले से संबोधित भी करते हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री का पूरा भाषण टीवी व रेडियो के माध्यम से पूरे देश में प्रसारित किया जाता है। इसके अलावा देश भर में इस दिन सभी कार्यालयों में छुट्टी होती है। स्कूल्स व कॉलेज में रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। स्वतंत्रता दिवस से संबंधित संपूर्ण जानकारी आपको इस लेख में मिलेगी जो निश्चित तौर पर आपके लिए लेख लिखने में सहायक सिद्ध होगी।

26 जनवरी, 1950 को हमारे देश का संविधान लागू किया गया, इसमें भारत को गणतांत्रिक व्यवस्था वाला देश बनाने की राह तैयार की गई। गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में भाषण (रिपब्लिक डे स्पीच) देने के लिए हिंदी भाषण की उपयुक्त सामग्री (Republic Day Speech Ideas) की यदि आपको भी तलाश है तो समझ लीजिए कि गणतंत्र दिवस पर भाषण (Republic Day speech in Hindi) की आपकी तलाश यहां खत्म होती है। इस राष्ट्रीय पर्व के बारे में विद्यार्थियों को जागरूक बनाने और उनके ज्ञान को परखने के लिए गणतत्र दिवस पर निबंध (Republic day essay) लिखने का प्रश्न भी परीक्षाओं में पूछा जाता है। इस लेख में दी गई जानकारी की मदद से Gantantra Diwas par nibandh लिखने में भी मदद मिलेगी। Gantantra Diwas par lekh bhashan तैयार करने में इस लेख में दी गई जानकारी की मदद लें और अच्छा प्रदर्शन करें।

प्रदूषण पृथ्वी पर वर्तमान के उन प्रमुख मुद्दों में से एक है, जो हमारी पृथ्वी को व्यापक स्तर पर प्रभावित कर रहा है। यह एक ऐसा मुद्दा है जो लंबे समय से चर्चा में है, 21वीं सदी में इसका हानिकारक प्रभाव बड़े पैमाने पर महसूस किया जा रहा है। हालांकि विभिन्न देशों की सरकारों ने इन प्रभावों को रोकने के लिए कई बड़े कदम उठाए हैं, लेकिन अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना बाकी है। इससे कई प्राकृतिक प्रक्रियाओं में गड़बड़ी आती है। इतना ही नहीं, आज कई वनस्पतियां और जीव-जंतु या तो विलुप्त हो चुके हैं या विलुप्त होने की कगार पर हैं। प्रदूषण की मात्रा में तेजी से वृद्धि के कारण पशु तेजी से न सिर्फ अपना घर खो रहे हैं, बल्कि जीने लायक प्रकृति को भी खो रहे हैं। प्रदूषण ने दुनिया भर के कई प्रमुख शहरों को प्रभावित किया है। इन प्रदूषित शहरों में से अधिकांश भारत में ही स्थित हैं। दुनिया के कुछ सबसे प्रदूषित शहरों में दिल्ली, कानपुर, बामेंडा, मॉस्को, हेज़, चेरनोबिल, बीजिंग शामिल हैं। हालांकि इन शहरों ने प्रदूषण पर अंकुश लगाने के लिए कई कदम उठाए हैं, लेकिन अभी बहुत कुछ और बहुत ही तेजी के साथ किए जाने की जरूरत है।

वायु प्रदूषण पर हिंदी में निबंध के ज़रिए हम इसके बारे में थोड़ा गहराई से जानेंगे। वायु प्रदूषण पर लेख (Essay on Air Pollution) से इस समस्या को जहाँ समझने में आसानी होगी वहीं हम वायु प्रदूषण के लिए जिम्मेदार पहलुओं के बारे में भी जान सकेंगे। इससे स्कूली विद्यार्थियों को वायु प्रदूषण पर निबंध (Essay on Air Pollution) तैयार करने में भी मदद होगी। हिंदी में वायु प्रदूषण पर निबंध से परीक्षा में बेहतर स्कोर लाने में मदद मिलेगी।

एक बड़े भू-क्षेत्र में लंबे समय तक रहने वाले मौसम की औसत स्थिति को जलवायु की संज्ञा दी जाती है। किसी भू-भाग की जलवायु पर उसकी भौगोलिक स्थिति का सर्वाधिक असर पड़ता है। पृथ्वी ग्रह का बुखार (तापमान) लगातार बढ़ रहा है। सरकारों को इसमें नागरिकों की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए उपयुक्त कदम उठाने होंगे। जलवायु परिवर्तन को नियंत्रित करने के लिए सरकारों को सतत विकास के उपायों में निवेश करने, ग्रीन जॉब, हरित अर्थव्यवस्था के निर्माण की ओर आगे बढ़ने की जरूरत है। पृथ्वी पर जीवन को बचाए रखने, इसे स्वस्थ रखने और ग्लोबल वार्मिंग के खतरों से निपटने के लिए सभी देशों को मिलकर ईमानदारी से काम करना होगा। ग्लोबल वार्मिंग या जलवायु परिवर्तन पर निबंध के जरिए छात्रों को इस विषय और इससे जुड़ी समस्याओं और समाधान के बारे में जानने को मिलेगा।

हमारी यह पृथ्वी जिस पर हम सभी निवास करते हैं इसके पर्यावरण के संरक्षण के लिए विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) हर साल 5 जून को मनाया जाता है। इसकी शुरुआत 1972 में मानव पर्यावरण पर आयोजित संयुक्त राष्ट्र सम्मलेन के दौरान हुई थी। पहला विश्व पर्यावरण दिवस (Environment Day) 5 जून 1974 को “केवल एक पृथ्वी” (Only One Earth) स्लोगन/थीम के साथ मनाया गया था, जिसमें तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी ने भी भाग लिया था। इसी सम्मलेन में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) की भी स्थापना की गई थी। इस विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) को मनाने का उद्देश्य विश्व के लोगों के भीतर पर्यावरण (Environment) के प्रति जागरूकता लाना और साथ ही प्रकृति के प्रति अपने कर्तव्य का निर्वहन करना भी है। इसी विषय पर विचार करते हुए 19 नवंबर, 1986 को पर्यवरण संरक्षण अधिनियम लागू किया गया तथा 1987 से हर वर्ष पर्यावरण दिवस की मेजबानी करने के लिए अलग-अलग देश को चुना गया।

आज के युग में जब हम अपना अधिकतर समय पढाई पर केंद्रित करने का प्रयास करते नजर आते हैं और साथ ही अपना ज़्यादातर समय ऑनलाइन रह कर व्यतीत करना पसंद करते हैं, ऐसे में हमारे जीवन में खेलों का महत्व कई गुना बढ़ जाता है। खेल हमारे लिए केवल मनोरंजन का साधन ही नहीं, अपितु हमारे सर्वांगीण विकास का एक माध्यम भी है। हमारे जीवन में खेल उतना ही जरूरी है, जितना पढाई करना। आज कल के युग में मानव जीवन में शारीरिक कार्य की तुलना में मानसिक कार्य में बढ़ोतरी हुई है और हमारी जीवन शैली भी बदल गई है, हम रात को देर से सोते हैं और साथ ही सुबह देर से उठते हैं। जाहिर है कि यह दिनचर्या स्वास्थ्य के लिए अच्छी नहीं है और इसके साथ ही कार्य या पढाई की वजह से मानसिक तनाव पहले की तुलना में वृद्धि महसूस की जा सकती है। ऐसी स्थिति में जब हमारे जीवन में शारीरिक परिश्रम अधिक नहीं है, तो हमारे जीवन में खेलो का महत्व बहुत अधिक बढ़ जाता है।

हमेशा से कहा जाता रहा है कि ‘आवश्यकता ही अविष्कार की जननी है’, जैसे-जैसे मानव की आवश्यकता बढती गई, वैसे-वैसे उसने अपनी सुविधा के लिए अविष्कार करना आरंभ किया। विज्ञान से तात्पर्य एक ऐसे व्यवस्थित ज्ञान से है जो विचार, अवलोकन तथा प्रयोगों से प्राप्त किया जाता है, जो कि किसी अध्ययन की प्रकृति या सिद्धांतों की जानकारी प्राप्त करने के लिए किए जाते हैं। विज्ञान शब्द का प्रयोग ज्ञान की ऐसी शाखा के लिए भी किया जाता है, जो तथ्य, सिद्धांत और तरीकों का प्रयोग और परिकल्पना से स्थापित और व्यवस्थित करता है।

शिक्षक अपने शिष्य के जीवन के साथ साथ उसके चरित्र निर्माण में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। कहा जाता है कि सबसे पहली गुरु माँ होती है, जो अपने बच्चों को जीवन प्रदान करने के साथ-साथ जीवन के आधार का ज्ञान भी देती है। इसके बाद अन्य शिक्षकों का स्थान होता है। किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व का निर्माण करना बहुत ही बड़ा और कठिन कार्य है। व्यक्ति को शिक्षा प्रदान करने के साथ-साथ उसके चरित्र और व्यक्तित्व का निर्माण करना भी उसी प्रकार का कार्य है, जैसे कोई कुम्हार मिट्टी से बर्तन बनाने का कार्य करता है। इसी प्रकार शिक्षक अपने छात्रों को शिक्षा प्रदान करने के साथ साथ उसके व्यक्तित्व का निर्माण भी करते हैं।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत 1908 में हुई थी, जब न्यूयॉर्क शहर की सड़को पर हजारों महिलाएं घंटों काम के लिए बेहतर वेतन और सम्मान तथा समानता के अधिकार को प्राप्त करने के लिए उतरी थीं। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाने का प्रस्ताव क्लारा जेटकिन का था जिन्होंने 1910 में यह प्रस्ताव रखा था। पहला अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 1911 में ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, जर्मनी और स्विट्ज़रलैंड में मनाया गया था।

हम उम्मीद करते हैं कि स्कूली छात्रों के लिए तैयार उपयोगी हिंदी में निबंध, भाषण और कविता (Essays, speech and poems for school students) के इस संकलन से निश्चित तौर पर छात्रों को मदद मिलेगी।

बाल श्रम को बच्चो द्वारा रोजगार के लिए किसी भी प्रकार के कार्य को करने के रूप में परिभाषित किया गया है जो उनके शारीरिक और मानसिक विकास में बाधा डालता है और उन्हें मूलभूत शैक्षिक और मनोरंजक जरूरतों तक पहुंच से वंचित करता है। एक बच्चे को आम तौर व्यस्क तब माना जाता है जब वह पंद्रह वर्ष या उससे अधिक का हो जाता है। इस आयु सीमा से कम के बच्चों को किसी भी प्रकार के जबरन रोजगार में संलग्न होने की अनुमति नहीं है। बाल श्रम बच्चों को सामान्य परवरिश का अनुभव करने, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने और उनके शारीरिक और भावनात्मक विकास में बाधा के रूप में देखा जाता है। जानिए कैसे तैयार करें बाल श्रम या फिर कहें तो बाल मजदूरी पर निबंध।

एपीजे अब्दुल कलाम की गिनती आला दर्जे के वैज्ञानिक होने के साथ ही प्रभावी नेता के तौर पर भी होती है। वह 21वीं सदी के प्रसिद्ध वैज्ञानिकों में से एक हैं। कलाम देश के 11वें राष्ट्रपति बने, अपने कार्यकाल में समाज को लाभ पहुंचाने वाली कई पहलों की शुरुआत की। मेरा प्रिय नेता विषय पर अक्सर परीक्षा में निबंध लिखने का प्रश्न पूछा जाता है। जानिए कैसे तैयार करें अपने प्रिय नेता: एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध।

हमारे जीवन में बहुत सारे लोग आते हैं। उनमें से कई को भुला दिया जाता है, लेकिन कुछ का हम पर स्थायी प्रभाव पड़ता है। भले ही हमारे कई दोस्त हों, उनमें से कम ही हमारे अच्छे दोस्त होते हैं। कहा भी जाता है कि सौ दोस्तों की भीड़ के मुक़ाबले जीवन में एक सच्चा/अच्छा दोस्त होना काफी है। यह लेख छात्रों को 'मेरे प्रिय मित्र'(My Best Friend Nibandh) पर निबंध तैयार करने में सहायता करेगा।

3 फरवरी, 1879 को भारत के हैदराबाद में एक बंगाली परिवार ने सरोजिनी नायडू का दुनिया में स्वागत किया। उन्होंने कम उम्र में ही कविता लिखना शुरू कर दिया था। उन्होंने कैम्ब्रिज में किंग्स कॉलेज और गिर्टन, दोनों ही पाठ्यक्रमों में दाखिला लेकर अपनी पढ़ाई पूरी की। जब वह एक बच्ची थी, तो कुछ भारतीय परिवारों ने अपनी बेटियों को स्वतंत्रता आंदोलन में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया। हालाँकि, सरोजिनी नायडू के परिवार ने लगातार उदार मूल्यों का समर्थन किया। वह न्याय की लड़ाई में विरोध की प्रभावशीलता पर विश्वास करते हुए बड़ी हुई। सरोजिनी नायडू से संबंधित अधिक जानकारी के लिए इस लेख को पढ़ें।

करियर संबंधी महत्वपूर्ण लेख :

  • यूपी बोर्ड कक्षा 10वीं सिलेबस 2024
  • यूपी बोर्ड 12वीं सिलेबस 2024
  • आरबीएसई 10वीं का सिलेबस 2023
  • आरबीएसई 12वीं का सिलेबस
  • एमपी बोर्ड 10वीं सिलेबस
  • एमपी बोर्ड 12वीं सिलेबस

Frequently Asked Question (FAQs)

किसी भी हिंदी निबंध (Essay in hindi) को तीन भागों में विभाजित किया जा सकता है- ये हैं- प्रस्तावना या भूमिका, विषय विस्तार और उपसंहार (conclusion)।

हिंदी निबंध लेखन शैली की दृष्टि से मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं-

वर्णनात्मक हिंदी निबंध - इस तरह के निबंधों में किसी घटना, वस्तु, स्थान, यात्रा आदि का वर्णन किया जाता है।

विचारात्मक निबंध - इस तरह के निबंधों में मनन-चिंतन की अधिक आवश्यकता होती है।

भावात्मक निबंध - ऐसे निबंध जिनमें भावनाओं को व्यक्त करने की अधिक स्वतंत्रता होती है।

विषय वस्तु की दृष्टि से भी निबंधों को सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, खेल, विज्ञान और प्रौद्योगिकी जैसी बहुत सी श्रेणियों में बाँटा जा सकता है।

निबंध में समुचित जगहों पर मुहावरे, लोकोक्तियों, सूक्तियों, दोहों, कविता का प्रयोग करके इसे प्रभावी बनाने में मदद मिलती है। हिंदी निबंध के प्रभावी होने पर न केवल बेहतर अंक मिलेंगी बल्कि असल जीवन में अपनी बात रखने का कौशल भी विकसित होगा।

कुछ उपयोगी विषयों पर हिंदी में निबंध के लिए ऊपर लेख में दिए गए लिंक्स की मदद ली जा सकती है।

निबंध, गद्य विधा की एक लेखन शैली है। हिंदी साहित्य कोष के अनुसार निबंध ‘किसी विषय या वस्तु पर उसके स्वरूप, प्रकृति, गुण-दोष आदि की दृष्टि से लेखक की गद्यात्मक अभिव्यक्ति है।’ एक अन्य परिभाषा में सीमित समय और सीमित शब्दों में क्रमबद्ध विचारों की अभिव्यक्ति को निबंध की संज्ञा दी गई है। इस तरह कह सकते हैं कि मोटे तौर पर किसी विषय पर अपने विचारों को लिखकर की गई अभिव्यक्ति निबंध है।

  • Latest Articles
  • Popular Articles

Explore Premium

Exam preparation: get over self-doubt with these effective measures, gandhian principles can aid mental well-being, every student should build on these must have skills, why children should be trained in disaster preparedness, is playschool mandatory for your child’s development, parents, don’t shy away from talking good and bad touch, asexual reproduction in animals: exploring parthenogenesis and budding, what are exponential and logarithmic functions, and how do they work, class 6 science: all you need to know about light, shadows and reflections, upcoming school exams, all india sainik schools entrance examination.

Application Date : 06 November,2023 - 15 December,2023

National Institute of Open Schooling 12th Examination

Application Date : 20 November,2023 - 19 December,2023

National Institute of Open Schooling 10th examination

West bengal board 12th examination.

Exam Date : 30 November,2023 - 14 December,2023

National Means Cum-Merit Scholarship

Application Date : 03 December,2023 - 18 December,2023

Explore Career Options (By Industry)

  • Construction
  • Entertainment
  • Manufacturing
  • Information Technology

Data Administrator

Database professionals use software to store and organise data such as financial information, and customer shipping records. Individuals who opt for a career as data administrators ensure that data is available for users and secured from unauthorised sales. DB administrators may work in various types of industries. It may involve computer systems design, service firms, insurance companies, banks and hospitals.

Bio Medical Engineer

The field of biomedical engineering opens up a universe of expert chances. An Individual in the biomedical engineering career path work in the field of engineering as well as medicine, in order to find out solutions to common problems of the two fields. The biomedical engineering job opportunities are to collaborate with doctors and researchers to develop medical systems, equipment, or devices that can solve clinical problems. Here we will be discussing jobs after biomedical engineering, how to get a job in biomedical engineering, biomedical engineering scope, and salary. 

Ethical Hacker

A career as ethical hacker involves various challenges and provides lucrative opportunities in the digital era where every giant business and startup owns its cyberspace on the world wide web. Individuals in the ethical hacker career path try to find the vulnerabilities in the cyber system to get its authority. If he or she succeeds in it then he or she gets its illegal authority. Individuals in the ethical hacker career path then steal information or delete the file that could affect the business, functioning, or services of the organization.

Database Architect

If you are intrigued by the programming world and are interested in developing communications networks then a career as database architect may be a good option for you. Data architect roles and responsibilities include building design models for data communication networks. Wide Area Networks (WANs), local area networks (LANs), and intranets are included in the database networks. It is expected that database architects will have in-depth knowledge of a company's business to develop a network to fulfil the requirements of the organisation. Stay tuned as we look at the larger picture and give you more information on what is db architecture, why you should pursue database architecture, what to expect from such a degree and what your job opportunities will be after graduation. Here, we will be discussing how to become a data architect. Students can visit NIT Trichy , IIT Kharagpur , JMI New Delhi . 

Data Analyst

The invention of the database has given fresh breath to the people involved in the data analytics career path. Analysis refers to splitting up a whole into its individual components for individual analysis. Data analysis is a method through which raw data are processed and transformed into information that would be beneficial for user strategic thinking.

Data are collected and examined to respond to questions, evaluate hypotheses or contradict theories. It is a tool for analyzing, transforming, modeling, and arranging data with useful knowledge, to assist in decision-making and methods, encompassing various strategies, and is used in different fields of business, research, and social science.

Geothermal Engineer

Individuals who opt for a career as geothermal engineers are the professionals involved in the processing of geothermal energy. The responsibilities of geothermal engineers may vary depending on the workplace location. Those who work in fields design facilities to process and distribute geothermal energy. They oversee the functioning of machinery used in the field.

Geotechnical engineer

The role of geotechnical engineer starts with reviewing the projects needed to define the required material properties. The work responsibilities are followed by a site investigation of rock, soil, fault distribution and bedrock properties on and below an area of interest. The investigation is aimed to improve the ground engineering design and determine their engineering properties that include how they will interact with, on or in a proposed construction. 

The role of geotechnical engineer in mining includes designing and determining the type of foundations, earthworks, and or pavement subgrades required for the intended man-made structures to be made. Geotechnical engineering jobs are involved in earthen and concrete dam construction projects, working under a range of normal and extreme loading conditions. 

Cartographer

How fascinating it is to represent the whole world on just a piece of paper or a sphere. With the help of maps, we are able to represent the real world on a much smaller scale. Individuals who opt for a career as a cartographer are those who make maps. But, cartography is not just limited to maps, it is about a mixture of art , science , and technology. As a cartographer, not only you will create maps but use various geodetic surveys and remote sensing systems to measure, analyse, and create different maps for political, cultural or educational purposes.

Bank Probationary Officer (PO)

A career as Bank Probationary Officer (PO) is seen as a promising career opportunity and a white-collar career. Each year aspirants take the Bank PO exam . This career provides plenty of career development and opportunities for a successful banking future. If you have more questions about a career as  Bank Probationary Officer (PO),  what is probationary officer  or how to become a Bank Probationary Officer (PO) then you can read the article and clear all your doubts. 

Operations Manager

Individuals in the operations manager jobs are responsible for ensuring the efficiency of each department to acquire its optimal goal. They plan the use of resources and distribution of materials. The operations manager's job description includes managing budgets, negotiating contracts, and performing administrative tasks.

Finance Executive

A career as a Finance Executive requires one to be responsible for monitoring an organisation's income, investments and expenses to create and evaluate financial reports. His or her role involves performing audits, invoices, and budget preparations. He or she manages accounting activities, bank reconciliations, and payable and receivable accounts.  

Investment Banker

An Investment Banking career involves the invention and generation of capital for other organizations, governments, and other entities. Individuals who opt for a career as Investment Bankers are the head of a team dedicated to raising capital by issuing bonds. Investment bankers are termed as the experts who have their fingers on the pulse of the current financial and investing climate. Students can pursue various Investment Banker courses, such as Banking and Insurance , and  Economics to opt for an Investment Banking career path.

Bank Branch Manager

Bank Branch Managers work in a specific section of banking related to the invention and generation of capital for other organisations, governments, and other entities. Bank Branch Managers work for the organisations and underwrite new debts and equity securities for all type of companies, aid in the sale of securities, as well as help to facilitate mergers and acquisitions, reorganisations, and broker trades for both institutions and private investors.

Treasury analyst career path is often regarded as certified treasury specialist in some business situations, is a finance expert who specifically manages a company or organisation's long-term and short-term financial targets. Treasurer synonym could be a financial officer, which is one of the reputed positions in the corporate world. In a large company, the corporate treasury jobs hold power over the financial decision-making of the total investment and development strategy of the organisation.

Product Manager

A Product Manager is a professional responsible for product planning and marketing. He or she manages the product throughout the Product Life Cycle, gathering and prioritising the product. A product manager job description includes defining the product vision and working closely with team members of other departments to deliver winning products.  

Transportation Planner

A career as Transportation Planner requires technical application of science and technology in engineering, particularly the concepts, equipment and technologies involved in the production of products and services. In fields like land use, infrastructure review, ecological standards and street design, he or she considers issues of health, environment and performance. A Transportation Planner assigns resources for implementing and designing programmes. He or she is responsible for assessing needs, preparing plans and forecasts and compliance with regulations.

Naval Architect

A Naval Architect is a professional who designs, produces and repairs safe and sea-worthy surfaces or underwater structures. A Naval Architect stays involved in creating and designing ships, ferries, submarines and yachts with implementation of various principles such as gravity, ideal hull form, buoyancy and stability. 

Welding Engineer

Welding Engineer Job Description: A Welding Engineer work involves managing welding projects and supervising welding teams. He or she is responsible for reviewing welding procedures, processes and documentation. A career as Welding Engineer involves conducting failure analyses and causes on welding issues. 

Field Surveyor

Are you searching for a Field Surveyor Job Description? A Field Surveyor is a professional responsible for conducting field surveys for various places or geographical conditions. He or she collects the required data and information as per the instructions given by senior officials. 

Highway Engineer

Highway Engineer Job Description:  A Highway Engineer is a civil engineer who specialises in planning and building thousands of miles of roads that support connectivity and allow transportation across the country. He or she ensures that traffic management schemes are effectively planned concerning economic sustainability and successful implementation.

Conservation Architect

A Conservation Architect is a professional responsible for conserving and restoring buildings or monuments having a historic value. He or she applies techniques to document and stabilise the object’s state without any further damage. A Conservation Architect restores the monuments and heritage buildings to bring them back to their original state.

Safety Manager

A Safety Manager is a professional responsible for employee’s safety at work. He or she plans, implements and oversees the company’s employee safety. A Safety Manager ensures compliance and adherence to Occupational Health and Safety (OHS) guidelines.

A Team Leader is a professional responsible for guiding, monitoring and leading the entire group. He or she is responsible for motivating team members by providing a pleasant work environment to them and inspiring positive communication. A Team Leader contributes to the achievement of the organisation’s goals. He or she improves the confidence, product knowledge and communication skills of the team members and empowers them.

Orthotist and Prosthetist

Orthotists and Prosthetists are professionals who provide aid to patients with disabilities. They fix them to artificial limbs (prosthetics) and help them to regain stability. There are times when people lose their limbs in an accident. In some other occasions, they are born without a limb or orthopaedic impairment. Orthotists and prosthetists play a crucial role in their lives with fixing them to assistive devices and provide mobility.

Veterinary Doctor

A veterinary doctor is a medical professional with a degree in veterinary science. The veterinary science qualification is the minimum requirement to become a veterinary doctor. There are numerous veterinary science courses offered by various institutes. He or she is employed at zoos to ensure they are provided with good health facilities and medical care to improve their life expectancy.

Pathologist

A career in pathology in India is filled with several responsibilities as it is a medical branch and affects human lives. The demand for pathologists has been increasing over the past few years as people are getting more aware of different diseases. Not only that, but an increase in population and lifestyle changes have also contributed to the increase in a pathologist’s demand. The pathology careers provide an extremely huge number of opportunities and if you want to be a part of the medical field you can consider being a pathologist. If you want to know more about a career in pathology in India then continue reading this article.

Gynaecologist

Gynaecology can be defined as the study of the female body. The job outlook for gynaecology is excellent since there is evergreen demand for one because of their responsibility of dealing with not only women’s health but also fertility and pregnancy issues. Although most women prefer to have a women obstetrician gynaecologist as their doctor, men also explore a career as a gynaecologist and there are ample amounts of male doctors in the field who are gynaecologists and aid women during delivery and childbirth. 

An oncologist is a specialised doctor responsible for providing medical care to patients diagnosed with cancer. He or she uses several therapies to control the cancer and its effect on the human body such as chemotherapy, immunotherapy, radiation therapy and biopsy. An oncologist designs a treatment plan based on a pathology report after diagnosing the type of cancer and where it is spreading inside the body.

Surgical Technologist

When it comes to an operation theatre, there are several tasks that are to be carried out before as well as after the operation or surgery has taken place. Such tasks are not possible without surgical tech and surgical tech tools. A single surgeon cannot do it all alone. It’s like for a footballer he needs his team’s support to score a goal the same goes for a surgeon. It is here, when a surgical technologist comes into the picture. It is the job of a surgical technologist to prepare the operation theatre with all the required equipment before the surgery. Not only that, once an operation is done it is the job of the surgical technologist to clean all the equipment. One has to fulfil the minimum requirements of surgical tech qualifications. 

Also Read: Career as Nurse

Maxillofacial Surgeon

A Maxillofacial Surgeon is a medical professional who performs facial surgeries that include tooth implant, neck, head or other surgeries such as removal of tumours, cosmetic surgeries and treatment of injuries on the face. 

Surgical Assistant

Surgical assistants are professionals in the service of saving others’ lives. They perform various medical procedures. In a career as a surgical assistant, one works in a team and contributes to the success of operations. Surgical assistants learn new procedures and update their knowledge of new medical technology and equipment. Surgical assistants clean and sterilize the tools used in surgery. In a career as a surgical assistant, individuals perform all the basic duties that allow surgeons to keep their focus on essential technical functions.

For an individual who opts for a career as an actor, the primary responsibility is to completely speak to the character he or she is playing and to persuade the crowd that the character is genuine by connecting with them and bringing them into the story. This applies to significant roles and littler parts, as all roles join to make an effective creation. Here in this article, we will discuss how to become an actor in India, actor exams, actor salary in India, and actor jobs. 

Individuals who opt for a career as acrobats create and direct original routines for themselves, in addition to developing interpretations of existing routines. The work of circus acrobats can be seen in a variety of performance settings, including circus, reality shows, sports events like the Olympics, movies and commercials. Individuals who opt for a career as acrobats must be prepared to face rejections and intermittent periods of work. The creativity of acrobats may extend to other aspects of the performance. For example, acrobats in the circus may work with gym trainers, celebrities or collaborate with other professionals to enhance such performance elements as costume and or maybe at the teaching end of the career.

Video Game Designer

Career as a video game designer is filled with excitement as well as responsibilities. A video game designer is someone who is involved in the process of creating a game from day one. He or she is responsible for fulfilling duties like designing the character of the game, the several levels involved, plot, art and similar other elements. Individuals who opt for a career as a video game designer may also write the codes for the game using different programming languages. Depending on the video game designer job description and experience they may also have to lead a team and do the early testing of the game in order to suggest changes and find loopholes.

Talent Agent

The career as a Talent Agent is filled with responsibilities. A Talent Agent is someone who is involved in the pre-production process of the film. It is a very busy job for a Talent Agent but as and when an individual gains experience and progresses in the career he or she can have people assisting him or her in work. Depending on one’s responsibilities, number of clients and experience he or she may also have to lead a team and work with juniors under him or her in a talent agency. In order to know more about the job of a talent agent continue reading the article.

If you want to know more about talent agent meaning, how to become a Talent Agent, or Talent Agent job description then continue reading this article.

Radio Jockey

Radio Jockey is an exciting, promising career and a great challenge for music lovers. If you are really interested in a career as radio jockey, then it is very important for an RJ to have an automatic, fun, and friendly personality. If you want to get a job done in this field, a strong command of the language and a good voice are always good things. Apart from this, in order to be a good radio jockey, you will also listen to good radio jockeys so that you can understand their style and later make your own by practicing.

A career as radio jockey has a lot to offer to deserving candidates. If you want to know more about a career as radio jockey, and how to become a radio jockey then continue reading the article.

An individual who is pursuing a career as a producer is responsible for managing the business aspects of production. They are involved in each aspect of production from its inception to deception. Famous movie producers review the script, recommend changes and visualise the story. 

They are responsible for overseeing the finance involved in the project and distributing the film for broadcasting on various platforms. A career as a producer is quite fulfilling as well as exhaustive in terms of playing different roles in order for a production to be successful. Famous movie producers are responsible for hiring creative and technical personnel on contract basis.

Fashion Blogger

Fashion bloggers use multiple social media platforms to recommend or share ideas related to fashion. A fashion blogger is a person who writes about fashion, publishes pictures of outfits, jewellery, accessories. Fashion blogger works as a model, journalist, and a stylist in the fashion industry. In current fashion times, these bloggers have crossed into becoming a star in fashion magazines, commercials, or campaigns. 

Photographer

Photography is considered both a science and an art, an artistic means of expression in which the camera replaces the pen. In a career as a photographer, an individual is hired to capture the moments of public and private events, such as press conferences or weddings, or may also work inside a studio, where people go to get their picture clicked. Photography is divided into many streams each generating numerous career opportunities in photography. With the boom in advertising, media, and the fashion industry, photography has emerged as a lucrative and thrilling career option for many Indian youths.

Copy Writer

In a career as a copywriter, one has to consult with the client and understand the brief well. A career as a copywriter has a lot to offer to deserving candidates. Several new mediums of advertising are opening therefore making it a lucrative career choice. Students can pursue various copywriter courses such as Journalism , Advertising , Marketing Management . Here, we have discussed how to become a freelance copywriter, copywriter career path, how to become a copywriter in India, and copywriting career outlook. 

Careers in journalism are filled with excitement as well as responsibilities. One cannot afford to miss out on the details. As it is the small details that provide insights into a story. Depending on those insights a journalist goes about writing a news article. A journalism career can be stressful at times but if you are someone who is passionate about it then it is the right choice for you. If you want to know more about the media field and journalist career then continue reading this article.

For publishing books, newspapers, magazines and digital material, editorial and commercial strategies are set by publishers. Individuals in publishing career paths make choices about the markets their businesses will reach and the type of content that their audience will be served. Individuals in book publisher careers collaborate with editorial staff, designers, authors, and freelance contributors who develop and manage the creation of content.

In a career as a vlogger, one generally works for himself or herself. However, once an individual has gained viewership there are several brands and companies that approach them for paid collaboration. It is one of those fields where an individual can earn well while following his or her passion. Ever since internet cost got reduced the viewership for these types of content has increased on a large scale. Therefore, the career as vlogger has a lot to offer. If you want to know more about the career as vlogger, how to become a vlogger, so on and so forth then continue reading the article. Students can visit Jamia Millia Islamia , Asian College of Journalism , Indian Institute of Mass Communication to pursue journalism degrees.

Individuals in the editor career path is an unsung hero of the news industry who polishes the language of the news stories provided by stringers, reporters, copywriters and content writers and also news agencies. Individuals who opt for a career as an editor make it more persuasive, concise and clear for readers. In this article, we will discuss the details of the editor's career path such as how to become an editor in India, editor salary in India and editor skills and qualities.

Content Writer

Content writing is meant to speak directly with a particular audience, such as customers, potential customers, investors, employees, or other stakeholders. The main aim of professional content writers is to speak to their targeted audience and if it is not then it is not doing its job. There are numerous kinds of the content present on the website and each is different based on the service or the product it is used for.

Individuals who opt for a career as a reporter may often be at work on national holidays and festivities. He or she pitches various story ideas and covers news stories in risky situations. Students can pursue a BMC (Bachelor of Mass Communication) , B.M.M. (Bachelor of Mass Media) , or  MAJMC (MA in Journalism and Mass Communication) to become a reporter. While we sit at home reporters travel to locations to collect information that carries a news value.  

Linguistic meaning is related to language or Linguistics which is the study of languages. A career as a linguistic meaning, a profession that is based on the scientific study of language, and it's a very broad field with many specialities. Famous linguists work in academia, researching and teaching different areas of language, such as phonetics (sounds), syntax (word order) and semantics (meaning). 

Other researchers focus on specialities like computational linguistics, which seeks to better match human and computer language capacities, or applied linguistics, which is concerned with improving language education. Still, others work as language experts for the government, advertising companies, dictionary publishers and various other private enterprises. Some might work from home as freelance linguists. Philologist, phonologist, and dialectician are some of Linguist synonym. Linguists can study French , German , Italian . 

Quality Controller

A quality controller plays a crucial role in an organisation. He or she is responsible for performing quality checks on manufactured products. He or she identifies the defects in a product and rejects the product. 

A quality controller records detailed information about products with defects and sends it to the supervisor or plant manager to take necessary actions to improve the production process.

Production Manager

Production Manager Job Description: A Production Manager is responsible for ensuring smooth running of manufacturing processes in an efficient manner. He or she plans and organises production schedules. The role of Production Manager involves estimation, negotiation on budget and timescales with the clients and managers. 

Resource Links for Online MBA 

Online MBA Colleges

Online MBA Syllabus

Online MBA Admission

Quality Systems Manager

A Quality Systems Manager is a professional responsible for developing strategies, processes, policies, standards and systems concerning the company as well as operations of its supply chain. It includes auditing to ensure compliance. It could also be carried out by a third party. 

Merchandiser

A career as a merchandiser requires one to promote specific products and services of one or different brands, to increase the in-house sales of the store. Merchandising job focuses on enticing the customers to enter the store and hence increasing their chances of buying a product. Although the buyer is the one who selects the lines, it all depends on the merchandiser on how much money a buyer will spend, how many lines will be purchased, and what will be the quantity of those lines. In a career as merchandiser, one is required to closely work with the display staff in order to decide in what way a product would be displayed so that sales can be maximised. In small brands or local retail stores, a merchandiser is responsible for both merchandising and buying. 

Procurement Manager

The procurement Manager is also known as  Purchasing Manager. The role of the Procurement Manager is to source products and services for a company. A Procurement Manager is involved in developing a purchasing strategy, including the company's budget and the supplies as well as the vendors who can provide goods and services to the company. His or her ultimate goal is to bring the right products or services at the right time with cost-effectiveness. 

Production Planner

Individuals who opt for a career as a production planner are professionals who are responsible for ensuring goods manufactured by the employing company are cost-effective and meets quality specifications including ensuring the availability of ready to distribute stock in a timely fashion manner. 

ITSM Manager

ITSM Manager is a professional responsible for heading the ITSM (Information Technology Service Management) or (Information Technology Infrastructure Library) processes. He or she ensures that operation management provides appropriate resource levels for problem resolutions. The ITSM Manager oversees the level of prioritisation for the problems, critical incidents, planned as well as proactive tasks. 

Information Security Manager

Individuals in the information security manager career path involves in overseeing and controlling all aspects of computer security. The IT security manager job description includes planning and carrying out security measures to protect the business data and information from corruption, theft, unauthorised access, and deliberate attack 

Computer Programmer

Careers in computer programming primarily refer to the systematic act of writing code and moreover include wider computer science areas. The word 'programmer' or 'coder' has entered into practice with the growing number of newly self-taught tech enthusiasts. Computer programming careers involve the use of designs created by software developers and engineers and transforming them into commands that can be implemented by computers. These commands result in regular usage of social media sites, word-processing applications and browsers.

Computer System Analyst

Individuals in the computer systems analyst career path study the hardware and applications that are part of an organization's computer systems, as well as how they are used. They collaborate closely with managers and end-users to identify system specifications and business priorities, as well as to assess the efficiency of computer systems and create techniques to boost IT efficiency. Individuals who opt for a career as a computer system analyst support the implementation, modification, and debugging of new systems after they have been installed.

Test Manager

A Test Manager is a professional responsible for planning, coordinating and controlling test activities. He or she develops test processes and strategies to analyse and determine test methods and tools for test activities. The test manager jobs involve documenting tests that have been carried out, analysing and evaluating software quality to determine further recommended procedures. 

Azure Developer

A career as Azure Developer comes with the responsibility of designing and developing cloud-based applications and maintaining software components. He or she possesses an in-depth knowledge of cloud computing and Azure app service. 

Deep Learning Engineer

A Deep Learning Engineer is an IT professional who is responsible for developing and managing data pipelines. He or she is knowledgeable about analyzing and storing data collected from various sources.  A Career as a Deep Learning Engineer needs to help the  data scientists and analysts to create effective data sets.

Applications for Admissions are open.

NEET 2024 Most scoring concepts

NEET 2024 Most scoring concepts

Just Study 32% of the NEET syllabus and Score upto 100% marks

ETS ® TOEFL ®

ETS ® TOEFL ®

Thinking of Studying Abroad? Think the TOEFL® test & make your dreams come true

JEE Main high scoring chapters and topics

JEE Main high scoring chapters and topics

As per latest 2024 syllabus. Study 40% syllabus and score upto 100% marks in JEE

NEET previous year papers with solutions

NEET previous year papers with solutions

Solve NEET previous years question papers & check your preparedness

JEE Main Important Mathematics Formulas

JEE Main Important Mathematics Formulas

As per latest 2024 syllabus. Maths formulas, equations, & theorems of class 11 & 12th chapters

JEE Main Important Physics formulas

JEE Main Important Physics formulas

As per latest 2024 syllabus. Physics formulas, equations, & laws of class 11 & 12th chapters

Everything about Education

Latest updates, Exclusive Content, Webinars and more.

Explore on Careers360

  • Board Exams
  • Top Schools
  • Navodaya Vidyalaya
  • NCERT Solutions for Class 10
  • NCERT Solutions for Class 9
  • NCERT Solutions for Class 8
  • NCERT Solutions for Class 6

NCERT Exemplars

  • NCERT Exemplar
  • NCERT Exemplar Class 9 solutions
  • NCERT Exemplar Class 10 solutions
  • NCERT Exemplar Class 11 Solutions
  • NCERT Exemplar Class 12 Solutions
  • NCERT Books for class 6
  • NCERT Books for class 7
  • NCERT Books for class 8
  • NCERT Books for class 9
  • NCERT Books for Class 10
  • NCERT Books for Class 11
  • NCERT Books for Class 12
  • NCERT Notes for Class 9
  • NCERT Notes for Class 10
  • NCERT Notes for Class 11
  • NCERT Notes for Class 12
  • NCERT Syllabus for Class 6
  • NCERT Syllabus for Class 7
  • NCERT Syllabus for class 8
  • NCERT Syllabus for class 9
  • NCERT Syllabus for Class 10
  • NCERT Syllabus for Class 11
  • NCERT Syllabus for Class 12
  • CBSE Date Sheet
  • CBSE Syllabus
  • CBSE Admit Card
  • CBSE Result
  • CBSE Result Name and State Wise
  • CBSE Passing Marks

CBSE Class 10

  • CBSE Board Class 10th
  • CBSE Class 10 Date Sheet
  • CBSE Class 10 Syllabus
  • CBSE 10th Exam Pattern
  • CBSE Class 10 Answer Key
  • CBSE 10th Admit Card
  • CBSE 10th Result
  • CBSE 10th Toppers
  • CBSE Board Class 12th
  • CBSE Class 12 Date Sheet
  • CBSE Class 12 Admit Card
  • CBSE Class 12 Syllabus
  • CBSE Class 12 Exam Pattern
  • CBSE Class 12 Answer Key
  • CBSE 12th Result
  • CBSE Class 12 Toppers

CISCE Board 10th

  • ICSE 10th time table
  • ICSE 10th Syllabus
  • ICSE 10th exam pattern
  • ICSE 10th Question Papers
  • ICSE 10th Result
  • ICSE 10th Toppers
  • ISC 12th Board
  • ISC 12th Time Table
  • ISC Syllabus
  • ISC 12th Question Papers
  • ISC 12th Result
  • IMO Syllabus
  • IMO Sample Papers
  • IMO Answer Key
  • IEO Syllabus
  • IEO Answer Key
  • NSO Syllabus
  • NSO Sample Papers
  • NSO Answer Key
  • NMMS Application form
  • NMMS Scholarship
  • NMMS Eligibility
  • NMMS Exam Pattern
  • NMMS Admit Card
  • NMMS Question Paper
  • NMMS Answer Key
  • NMMS Syllabus
  • NMMS Result
  • NTSE Application Form
  • NTSE Eligibility Criteria
  • NTSE Exam Pattern
  • NTSE Admit Card
  • NTSE Syllabus
  • NTSE Question Papers
  • NTSE Answer Key
  • NTSE Cutoff
  • NTSE Result

Schools By Medium

  • Malayalam Medium Schools in India
  • Urdu Medium Schools in India
  • Telugu Medium Schools in India
  • Karnataka Board PUE Schools in India
  • Bengali Medium Schools in India
  • Marathi Medium Schools in India

By Ownership

  • Central Government Schools in India
  • Private Schools in India
  • Schools in Delhi
  • Schools in Lucknow
  • Schools in Kolkata
  • Schools in Pune
  • Schools in Bangalore
  • Schools in Chennai
  • Schools in Mumbai
  • Schools in Hyderabad
  • Schools in Gurgaon
  • Schools in Ahmedabad
  • Schools in Uttar Pradesh
  • Schools in Maharashtra
  • Schools in Karnataka
  • Schools in Haryana
  • Schools in Punjab
  • Schools in Andhra Pradesh
  • Schools in Madhya Pradesh
  • Schools in Rajasthan
  • Schools in Tamil Nadu
  • NVS Admit Card
  • Navodaya Result
  • Navodaya Exam Date
  • Navodaya Vidyalaya Admission Class 6
  • JNVST admit card for class 6
  • JNVST class 6 answer key
  • JNVST class 6 Result
  • JNVST Class 6 Exam Pattern
  • Navodaya Vidyalaya Admission
  • JNVST class 9 exam pattern
  • JNVST class 9 answer key
  • JNVST class 9 Result

Download Careers360 App's

Regular exam updates, QnA, Predictors, College Applications & E-books now on your Mobile

student

Cetifications

student

We Appeared in

Economic Times

InfinityLearn logo

पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध

Table of Contents

पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध: प्रदूषण नियंत्रण के लिए नई दिशा की ओर बढ़ते हुए, हमें पर्यावरण संरक्षण के लिए आदर्श तकनीकी और नैतिक मूल्यों को मिलाने का संकल्प बनाना होगा। विशेषज्ञता के साथ, हमें व्यक्तिगत संवेदनशीलता और सामाजिक सहयोग के साथ तकनीकी उपायों का अध्ययन करना होगा ताकि हम एक प्रदूषणमुक्त भविष्य की ओर अग्रसर ह सकें।

Fill Out the Form for Expert Academic Guidance!

Please indicate your interest Live Classes Books Test Series Self Learning

Verify OTP Code (required)

I agree to the terms and conditions and privacy policy .

Fill complete details

Target Exam ---

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की 2022 की रिपोर्ट के अनुसार, 156 शहरों में हवा की गुणवत्ता बहुत खराब रही थी। इसमें तीन शहर थे जिनकी हवा बहुत खराब थी, जिसका मतलब है कि उन शहरों के एयर क्वालिटी इंडेक्स 300 से अधिक था। इसके अलावा, 21 अन्य शहरों की हवा की गुणवत्ता भी खराब श्रेणी में थी। प्रदूषण एक जटिल समस्या है जिसका समाधान विज्ञानिक दृष्टि से होना चाहिए, क्योंकि यह पूरी दुनिया को प्रभावित कर रहा है। प्रदूषण का मतलब है – प्राकृतिक संतुलन में दोष पैदा होना, जिससे वायुमंडल, जल, और खाद्य में दोषिति होती है। प्रदूषण कई प्रकार का होता है, जिसके विस्तार से वर्णन Essay on Pollution in Hindi में किया गया है।

प्रदूषण पर निबंध 100 शब्द (Pollution Essay 100 Words in Hindi)

प्रदूषण पर निबंध (Pollution Essay in Hindi) प्रदूषण आजकल एक गंभीर समस्या बन चुका है। उद्योगीकरण और शहरीकरण की तेजी ने पर्यावरण को प्रदूषित कर दिया है, जिसमें हवा, पानी, और मिट्टी शामिल हैं। वनों की कटाई और औद्योगिकीकरण के कारण, हवा अत्यधिक प्रदूषित हो रही है, जिससे ग्लोबल वार्मिंग बढ़ रही है। आज सभी जल स्रोत अत्यधिक प्रदूषित हैं। कीटनाशकों और उर्वरकों के अत्यधिक उपयोग ने मिट्टी को बुरी तरह प्रदूषित कर दिया है। पटाखों, लाउडस्पीकरों आदि का प्रयोग हमारी सुनने की क्षमता को प्रभावित करता है। प्रदूषण का हमारे स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव पड़ता है। इसके कारण हमें सिरदर्द, ब्रोंकाइटिस, हृदय की समस्याएँ, फेफड़ों के कैंसर, हैजा, टाइफाइड, बहरापन, आदि का सामना करना पड़ता है। प्रदूषण के कारण प्रकृति का संतुलन बिगड़ रहा है। हमें इस मुद्दे को गंभीरता और जागरूकता के साथ देखना होगा।

प्रदूषण पर निबंध 200 शब्द (Pollution Essay 200 Words in Hindi)

प्रदूषण का सीधा संबंध प्रकृति से मानते हैं, लेकिन यह सिर्फ किसी भी एक चीज़ को होने वाली हानि या नुकसान से जुड़ा हुआ नहीं है बल्कि उन सभी प्राकृतिक संसाधनों को खराब करने या व्यर्थ करने से है जो हमें प्रकृति ने बड़े ही सौंदर्य के साथ सौंपे हैं।

यह कहावत हम सबने सुनी और पढ़ी है कि जैसा व्यवहार हम प्रकृति के साथ करेंगे, वैसा ही बदले में हमें प्रकृति से मिलेगा। मिसाल के तौर पर हम कोरोनाकाल के लॉकडाउन के समय को याद कर सकते हैं कि किस प्रकार प्रकृति की सुंदरता देखी गई थी, जब मानव निर्मित सभी चीज़ें (वाहन, फैक्ट्रियाँ, मशीनें आदि) बंद थीं और भारत में प्रदूषण का स्तर कुछ दिनों के लिए काफी कम हो गया था या कहें तो, लगभग शून्य ही हो गया था।

इस उदाहरण से एक बात तो पानी की तरह साफ है कि समय-समय पर हो रहीं प्राकृतिक घटनाओं, आपदाओं, महामारियों आदि के लिए ज़िम्मेदार केवल-और-केवल मनुष्य ही है। जब भी हम प्रकृति या प्राकृतिक संसाधनों की बात करते हैं, तो उनमें वो सभी चीज़ें शामिल हैं जो मनुष्य को ईश्वर या प्रकृति से वरदान के रूप में मिली हैं।

इनमें वायु, जल, पेड़-पौधे, पशु-पक्षी, नदियाँ, वन, पहाड़ आदि चीज़ें शामिल हैं। मनुष्य होने के नाते इन सभी प्राकृतिक चीज़ों और संसाधनों की रक्षा करना हमारा प्रथम कर्तव्य है। प्रकृति हमारी

प्रदूषण पर निबंध 300 शब्द (Pollution Essay 300 Words in Hindi)

बचपन में हम जब भी गर्मी की छुट्टियों में अपने दादी-नानी के घर जाते थे, तो हर जगह हरियाली ही हरियाली फैली होती थी। हरे-भरे बाग-बगिचों में खेलना बहुत अच्छा लगता था। चिड़ियों की चहचहाहट सुनना बहुत अच्छा लगता था। अब वैसा दृश्य कहीं दिखाई नहीं देता।

आजकल के बच्चों के लिए ऐसे दृश्य केवल किताबों तक ही सीमित रह गये हैं। ज़रा सोचिए ऐसा क्यों हुआ। पेड़-पौधे, पशु-पक्षी, मनुष्य, जल, वायु, आदि सभी जैविक और अजैविक घटक मिलकर पर्यावरण का निर्माण करते हैं। सभी का पर्यावरण में विशेष स्थान है।

प्रदूषण का अर्थ (Meaning of Pollution)

प्रदूषण, तत्वों या प्रदूषकों के वातावरण में मिश्रण को कहा जाता है। जब यह प्रदूषक हमारे प्राकृतिक संसाधनों में मिलते हैं, तो इसके कारण कई नकारात्मक प्रभाव उत्पन्न होते हैं। प्रदूषण मुख्य रूप से मानव गतिविधियों द्वारा उत्पन्न होता है और यह हमारे पर्यावरणीय संरचना को प्रभावित करता है। प्रदूषण के द्वारा उत्पन्न होने वाले प्रभावों के कारण मानवों के लिए छोटी-बड़ी बीमारियों से लेकर जीवन के अस्तित्व को खतरे में डालने वाली समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। मानवों ने अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए पेड़ों की अनधिकारी कटाई की है, जिसके कारण पर्यावरण में असंतुलन हुआ है। प्रदूषण इस असंतुलन का मुख्य कारण भी है।

प्रदूषण है क्या ? ( What is Pollution ?)

जब वायु, जल, मृदा, और अन्य प्राकृतिक संसाधनों में अनचाहे तत्व घुलकर उन्हें इस प्रकार के रूप में गंदा कर देते हैं, जो स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डालने लगते हैं, तो उसे प्रदूषण कहा जाता है। प्रदूषण से प्राकृतिक संतुलन पर हानि पहुँचती है और मानव जीवन के लिए एक खतरा पैदा होता है।

मनुष्य की यह जिम्मेदारी बनती है कि उसने जितनी अदरकऱी से प्राकृतिक संसाधनों का उपयोग किया है, जिससे पर्यावरण को हानि पहुँची है, उसे अब उतनी ही अकलमंदी से प्रदूषण की समस्या का समाधान ढूंढ़ना होगा। वनों के अधिक अनिवार्य कटाई भी प्रदूषण के कारकों में शामिल है, लेकिन इसे रोकने के लिए वृक्षारोपण की अधिक प्रक्रिया की आवश्यकता है। ऐसे कई उपाय हैं, जिन्हें अपनाकर प्रदूषण को कम किया जा सकता है।

अगर हमें अपनी आगामी पीढ़ी को एक साफ, सुरक्षित और जीवनदायिनी पर्यावरण देना है, तो हमें इस दिशा में कठोर कदम उठाने होंगे। प्रदूषण को नियंत्रित करना हमारे देश के साथ-साथ पूरे विश्व के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है, ताकि पूरी पृथ्वी पर जीवन का संरक्षण सुनिश्चित किया जा सके। यही से हम सभी के लिए जीवन की सुरक्षा और पर्यावरण का संरक्षण संभव होगा।

प्रदूषण पर निबंध 500 शब्द (Pollution Essay 500 Words in Hindi)

इस दुनिया में भूमि, वायु, जल, और ध्वनि जैसे तत्वों का संतुलन महत्वपूर्ण है। यदि इनका संतुलन बिगड़ जाता है, तो पर्यावरण में असंतुलन बढ़ सकता है, और यही प्रदूषण का मुख्य कारण होता है। इस असंतुलन से फसलों, पेड़ों और अन्य चीजों पर भी असर पड़ता है।

इसके अलावा, हमारे द्वारा फेंके गए कचरे और कूड़े का भी पर्यावरण पर बुरा प्रभाव पड़ता है, और यह भी प्रदूषण का मुख्य कारण बनता है। इसलिए हम कह सकते हैं कि “प्रदूषण” एक ऐसा अवांछित परिवर्तन होता है जिससे मानवों और अन्य जीवों पर बुरा प्रभाव पड़ता है, और पर्यावरण की प्राकृतिक गुणवत्ता और उपयोगिता को नष्ट किया जाता है।

वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) क्या है? (What is Air Quality Index (AQI)?)

वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) एक महत्वपूर्ण मापक है जिसे सरकारी विभाग वायु प्रदूषण की स्तिथि को जांचने के लिए उपयोग करते हैं, ताकि लोग अपनी वायु गुणवत्ता को समझ सकें। AQI के बढ़ जाने से स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव हो सकते हैं। यह सूचकांक लोगों को बताता है कि स्थानीय वायु गुणवत्ता उनके स्वास्थ्य पर कैसे प्रभाव डाल सकती है। AQI को पांच प्रमुख वायु प्रदूषकों की मॉनिटरिंग के लिए उपयोग किया जाता है, जिसमें ग्राउंड लेवल ओज़ोन, पार्टिकुलेट मैटर, कार्बन मोनोऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड, और नाइट्रोजन डाइऑक्साइड शामिल हैं।

  • जमीनी स्तर की ओजोन (ग्राउंड लेवल ओज़ोन)
  • कण प्रदूषण/पार्टिकुलेट मैटर (PM2.5/pm 10)
  • कार्बन मोनोऑक्साइड
  • सल्फर डाइऑक्साइड
  • नाइट्रोजन डाइऑक्साइड

प्रदूषण के प्रकार

प्रदूषण चार प्रकार का होता है, जो नीचे उल्लिखित है –

  • वायु प्रदूषण (Air Pollution)
  • ध्वनि प्रदूषण (Pollution Essay)
  • जल प्रदूषण (Water Pollution)
  • मृदा प्रदूषण (Soil Pollution)

प्रदूषण के विभिन्न प्रकारों के बारे में जानें:

वायु प्रदूषण: वायु प्रदूषण मुख्य रूप से वाहनों से गैस के उत्सर्जन के कारण होता है। इसके अलावा, कारखानों, उद्योगों, प्लास्टिक और पत्तियों के जहरीले पदार्थों को खुले में जलाने और रेफ्रीजरेशन उद्योग के सीएफ़सी से वायु प्रदूषण में वृद्धि होती है।

ध्वनि प्रदूषण: सड़कों पर बढ़ी वाहनों की संख्या और ध्वनि प्रदूषण में भारी योगदान करते हैं। यह शहरी क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए खतरनाक है और तनाव और चिंता के कारण हो सकता है।

जल प्रदूषण: कचरे को नदियों और समुद्रों में डालने के कारण जल प्रदूषण होता है। यह समुद्री जीवों के लिए हानिकारक है और पीने योग्य पानी की कमी का कारण बन सकता है।

मृदा प्रदूषण: कृषि और उद्योगों में रासायनिक उपायोग के कारण मिट्टी दूषित होती है, जिससे कृषि और प्रजनन में समस्याएँ होती हैं।

विशेष जानकारी: परमाणु युग में रेडियोधर्मी पदार्थों के उपयोग से रेडियोधर्मी प्रदूषण बढ़ा है, जिसके कारण तनाव और तंत्रिका रोग जैसी समस्याएँ उत्पन्न हो सकती हैं।

ग्लोबल वार्मिंग (Global Warming)

ग्लोबल वार्मिंग (Global Warming) जलवायु परिवर्तन का मुख्य कारण है। यह गर्मी को पृथ्वी के चारों ओर फैलाने वाले प्रदूषण के कारण होता है, जिसमें मनुष्य द्वारा जीवाश्म ईंधन जलाना, प्लास्टिक जलाना, वाहनों से निकलने वाली हानिकारक गैसेस, और जंगलों के जलने का शामिल होता है। यह प्रदूषण गर्मी को बढ़ावा देता है, जो ग्लोबल वार्मिंग को बढ़ा देता है। कार्बन डाइऑक्साइड जैसे हानिकारक गैसों का स्तर भी खतरनाक रूप से बढ़ गया है, जिसके परिणामस्वरूप आने वाली पीढ़ियाँ ग्लोबल वार्मिंग के प्रभावों का सामना करेंगी।

हालांकि विभिन्न शहरों के अधिकारी प्रदूषण के मुद्दे पर अंकुश लगाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं, लेकिन ऐसे में हम सभी नागरिकों और आम लोगों का भी यह कर्तव्य है कि हम इस प्रक्रिया में अपना योगदान दें। सभी प्रकार के प्रदूषण को रोकने के कुछ महत्वपूर्ण उपाय निम्नलिखित हैं –

पटाखों का इस्तेमाल बंद करें: त्योहार मनाते समय पटाखों का इस्तेमाल न करें। यह ध्वनि और प्रकाश प्रदूषण का कारण बनता है और हमारे स्वास्थ्य पर भी दुश्मनीकारक प्रभाव डालता है।

वाहनों का प्रयोग सीमित करें: वाहन प्रदूषण का एक प्रमुख कारण है। वाहनों का प्रयोग कम से कम करें और सार्वजनिक परिवहन का प्रयास करें।

अपने आस-पास साफ-सफाई रखें: हमें अपने घर के आस-पास क्षेत्र को साफ-सुथरा रखना हमारी जिम्मेदारी है। कचड़ा कूड़ा फेंकने की बजाय, हमें कूड़ेदान में फेंकना चाहिए।

रिसाइकल और पुन: उपयोग करें: कई गैर-बायोडिग्रेडेबल उत्पाद हमारे पर्यावरण को नुकसान पहुंचाते हैं, इन्हें ठीक से डिकम्पोज करें या रिसाइकल के लिए भेजें।

पेड़ लगाएं : पेड़ों की कटाई वातावरणिक प्रदूषण में वृद्धि का कारण बन रही है, इसलिए हमें अधिक पेड़ लगाने और उनकी देखभाल करने का प्रयास करना चाहिए।

प्रदूषण एक महत्वपूर्ण मुद्दा है, और हमें इसे समाधान के लिए साथ मिलकर काम करना होगा, ताकि हम सभी और आने वाली पीढ़ियाँ, इस ग्रह पर सुरक्षित रूप से रह सकें।

प्रदूषण निबंध 10 पंक्तियाँ (Pollution Essay 10 Lines in Hindi)

  • प्रदूषण विवादित प्राकृतिक संसाधनों को शामिल करने की प्रक्रिया है।
  • प्रदूषण के मुख्य प्रकार वायु प्रदूषण, जल प्रदूषण और भूमि प्रदूषण हैं।
  • प्राकृतिक प्रकोपों के साथ-साथ मानव गतिविधियाँ, दोनों प्रदूषण के लिए जिम्मेदार हैं।
  • प्रदूषण के प्राकृतिक कारण बाढ़, जंगलों के जलने और ज्वालामुखी जैसी घटनाएं हैं।
  • प्रदूषण एक ग्लोबल समस्या है, राष्ट्रीय नहीं।
  • प्रदूषण को रोकने के लिए पुन: उपयोग करना, कम करना और पुनर्चक्रण सबसे अच्छे उपाय हैं।
  • अम्ल वर्षा और ग्लोबल वार्मिंग प्रदूषण के परिणाम हैं।
  • प्रदूषण हमेशा जानवरों और इंसानों पर नकारात्मक प्रभाव डालता है।
  • प्रदूषित हवा और पानी इंसानों और जानवरों में कई बीमारियों का कारण बनते हैं।
  • हम पर्यावरण के अनुकूल संसाधनों का उपयोग करके प्रदूषण को रोक सकते हैं, जैसे कि सौर पैनल।

पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध FAQs

हिंदी में प्रदूषण पर निबंध कैसे लिखें.

प्रदूषण पर निबंध लिखने के लिए, आप प्रदूषण के प्रकार, कारण, प्रभाव, और निवारण के उपायों पर चर्चा कर सकते हैं।

प्रदूषण की समस्या पर निबंध कैसे लिखें?

प्रदूषण की समस्या पर निबंध लिखने के लिए, आपको इसके कारण, प्रभाव, और समाधान के बारे में विस्तार से लिखना होगा।

प्रदूषण का मुख्य कारण क्या है?

प्रदूषण का मुख्य कारण है वाहनों, उद्योगों, और अन्य जैविक और अजैविक कारकों से निकलने वाले विषाणु, धूल, ध्वनि, और अन्य जलवायु प्रदूषक।

प्रदूषण का हम पर क्या प्रभाव पड़ता है?

प्रदूषण हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डाल सकता है, जैसे की डायरिया, ब्रॉन्काइटिस, और अन्य बीमारियाँ। इसके अलावा, यह पर्यावरण को भी हानि पहुंचाता है।

प्रदूषण के बारे में आप कैसे लिखते हैं?

मैं प्रदूषण के खतरों, उसके प्रकारों, और निवारण के उपायों के बारे में लिखता हूँ।

प्रदूषण को 100 शब्दों में क्या कहते हैं?

प्रदूषण एक ऐसी समस्या है जिसमें वायु, पानी, और भूमि के प्रदूषक वातावरण को हानि पहुंचाते हैं। यह स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए खतरा पैदा करता है।

प्रदूषण का निष्कर्ष क्या है?

प्रदूषण को रोकने के लिए हमें सभी मिलकर काम करना होगा। हमें वायु, जल, और भूमि प्रदूषण को कम करने के लिए सावधानी से उपायों पर विचार करना होगा।

Related content

Call Infinity Learn

Talk to our academic expert!

Language --- English Hindi Marathi Tamil Telugu Malayalam

Get access to free Mock Test and Master Class

Register to Get Free Mock Test and Study Material

Offer Ends in 5:00

CameraIcon

मेरा देश भारत विषय पर 200 शब्दों का निबंध लिखिए।

मेरा देश भारत भूमिका - मेरा देश भारत है तथा हमें अपने भारतीय होने पर गर्व है। भारत वर्ष को सोने की चिड़िया कहते हैं। यहाँ विभिन्नता में भी एकता है। इस देश में तरह-तहर की बोलियाँ तथा भाषाएँ बोली जाती हैं। एक देश होने के बावजूद भी यहाँ लगभग हर जाति तथा धर्म के लोग रहते हैं फिर भी इनमें भाईचारा है। यह भारत वर्ष की एकता का प्रतीक है। ऐतिहासिकता - यहाँ अनेक महापुरूषों का जन्म हुआ है। यहाँ राम जैसे मर्यादा पुरुषोत्तम का जन्म हुआ है, जिन्होंने धर्म पूर्ण शासन कर न्याय को कायम रखा। तो वहीं कृष्ण जैसे महाप्रतापी राजा भी हुए। इसी देश में महात्मा गाँधी का भी जन्म हुआ जिन्होंने समाज को अहिंसा का पाठ पढ़ाया। इसका प्रभाव आज भी यहाँ के जन जीवन में देखने को मिलता है। आज भी यहाँ के लोग धर्म तथा नीति से बँधे हुए हैं। भारतवासी आतिथ्य सत्कार करना अपना धर्म समझते हैं। भौगौलिक सीमाएँ - भारतवर्ष उत्तर में कश्मीर से लेकर दक्षिण में कन्याकुमारी, पूर्व में असम से लेकर पश्चिम में गुजरात तक फैला हुआ है। उत्तर में हिमालय पर्वत भारत माता के सिर पर मुकुट के समान सुशोभित है। यहाँ नदी को भी देवी की संज्ञा दी गई है। गंगा नदी की देवी के रुप में पूजा होती है। महत्व - दुनिया के प्रगतिशील देशों में भारत प्रथम स्थान पर है। दुनिया के सात अजूबों में पहला अजूबा यहीं पर है - ताजमहल, जिसे शाहजहाँ ने अपनी बेग़म मुमताज़ की याद में बनवाया था। भारतवर्ष में विभिन्नता में भी एकता है। हर क्षेत्र से यह एक महत्वपूर्ण देश है। भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा है। इसमें तीन रंग है - केसरिया, सफ़ेद, हरा तथा बीच में अशोक चक्र सुशोभित है। हमारा राष्ट्रीय गान जन-गन-मन है, जिसके लेखक रविन्द्र नाथ ठाकुर हैं।.

flag

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर (50-60 शब्दों में ) लिखिए −

देश को वैज्ञानिक दृष्टि और चिंतन प्रदान करने में सर चंद्रशेखर वेंकट रामन् के महत्वपूर्ण योगदान पर प्रकाश डालिए।

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर (25-30) शब्दों में लिखिए −

महादेव भाई के लिखे नोट के विषय में गांधीजी क्या कहते थे ?

thumbnail

  • Privacy Policy
  • Terms and Conditions

ReadHindiEssay - Hindi Me Sabhi Nibandh!

पर्यावरण पर निबंध 200 शब्द - Paryavaran par nibandh 200 words आसान शब्दों में

नमस्कार, आज इस लेख में हम आपके लिए लेकर आए हैं पर्यावरण पर निबंध 200 शब्द में (paryavaran par nibandh 200 shabd mein) अगर आप 200 शब्दों में paryavaran essay खोज रहे हैं तो यह लेख आपके लिए जिसमें आपको पर्यावरण की बहुमूल्य जानकारी मिलेगी।

पर्यावरण पर निबंध 200 शब्द - Paryavaran par nibandh 200 words

निबंध 1: पर्यावरण पर निबंध 200 शब्दों में.

जो पूरी दुनिया है वह संतुलन से चलता है, सौरमंडल के ग्रह अपने अक्ष पर घूमते हैं, रोज सूरज निकलता व् अस्त होता है, सब सुबह सूर्योदय के समय उठते व् सूर्यास्त के बाद सोते हैं, यह सब घटना प्राकृतिक है, अगर इनमें फेरबदल किया जाए तो संतुलन बिगड़ जायेगा, रात्रि आती है नींद के लिए अगर उस व्यक्त व्यक्ति सोए ही नहीं तो उसके सेहत पर असर पड़ेगा। हमारा पर्यावन भी ऐसा ही है अगर इसका संतुलन डगमगाया तो न सिर्फ पर्यावरण बल्कि मानव को भी हानि पहुंचेगा। 

हमारे आस-पास पेड़-पौधे नजर आते हैं जिनमें से कुछ को लोगों ने लगाया है और कई पेड़ सालों से वहीं हैं, जिस वृक्ष को मानव ने रोपा है, वह केवल उस पर ध्यान देता है, लेकिन जिस तरह हम खुद के लगाए पौधे की देखभाल करते हैं उसी तरह सभी वृक्ष की देखभाल करनी होगी, हर वृक्ष हमारे पर्यावरण को संतुलित बनाए रखने में अपना योगदान देते हैं। वृक्ष मानव के लिए अनिवार्य है, हम जो सांस लेते हैं उसके लिए शुद्ध ऑक्सीजन पेड़ पौधों से मिलती है, किन्तु मनुष्य अपने स्वार्थ के चलते वृक्षों की कटाई कर पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रहा है। प्रकृतिप्रद दुनिया स्वयं सजी हुई है जिसे जहां होना चाहिए वह वहां है। जल, वायु, वृक्ष, पहाड़, घांस ये सब मिलकर संतुलित पर्यावरण बनाते हैं, इस संतुलन को बनाए रखना मनुष्य की जिम्मेदारी है।

निबंध 2: वाहनों से पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध 200 शब्द

प्राकृतिक संसाधनों की देखभाल इंसानों की जिम्मेदारी है किंतु आज का मनुष्य तकनीकी उपकरणों पर इतना आश्रित हो चुका है की एक किलोमीटर जाने के लिए वाहन चलता है और उससे निकलने वाले धुएं से वायुमंडल को प्रदूषित करता है, शहर का ऐसा कोई गली नहीं होगा जहां दिनभर में सैंकड़ों गाड़ियों न दौड़ती हो, पेट्रोल वाली गाड़ियों से पॉल्यूशन फैलता है जो पर्यावरण प्रदूषण करता है।

उपाय: प्रदूषण रोकने का उपाय यह हो सकता है की हम वाहनों का उपयोग कम दूरी तय करने के लिए न करें, अगर एक 1 से 2 किलोमीटर तय करना हो तो साइकिल उचित विकल्प होगा, बाजार नजदीक है तो पैदल या साइकिल पर जा सकते हैं। ज्यादा धूंवा छोड़ने वाली गाड़ी कम चलाना होगा, उचित समय पर वाहनों की सर्विसिंग अवश्य करानी चाहिए इससे गाड़ी से अनावश्यक धुँआ नहीं निकलेगा जो पर्यारवण के लिए अच्छा होगा। 

बड़े महानगरों में पुराने गाड़ी के चलने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है क्योंकि ये वायु प्रदूषण के लिए अधिक जिम्मेदार होते हैं, राजधानी दिल्ली में वाहनों के चलते पॉल्यूशन बढ़ जाती है इसलिए आवश्यकता पड़ने पर ही गाड़ी चलाना चाहिए। अब तो वाहनों के चलने से हो रहे प्रदूषण को कम करने के लिए इलेक्ट्रिक वाहन आने लगे हैं इससे पॉल्यूशन कम किया जा सकता है।

निबंध 3: कारखानों से पर्यावरण को नुकसान

प्रत्येक तकनीकी उपकरणों और सामानों को कारखानों में मशीनों द्वारा बनाया जाता है इससे कार्य को तेजी से किया जा सकता है किंतु इससे हमारे वायुमंडल पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है जो निम्नलिखित है:

  • मृदा प्रदूषण: जिस जगह पर फैक्ट्री लगी हो वहां की भूमि खराब होने लगती और उसकी उर्वरा शक्ति नष्ट हो जाती है।
  • जल प्रदूषण: कल-कारखानों से निकलने वाली अपशिष्ट पदार्थों को जल में विसर्जित कर दिया जाता जो जल को दूषित करता है।
  • वायु प्रदूषण: हवा प्रदूषण का मुख्य कारण कल कारखानों के चिमनियों से निकलने वाले जहरीली हवाएं हैं, जो हमारे वायुमंडल में धुलकर उसे अशुद्ध कर देता है।
  • मानव स्वास्थ्य पर प्रभाव: कारखानों के गैस से वायुमंडल तो दूषित होता है साथ ही कारखानों में काम करने वाले श्रमिकों के शरीर में स्वाँस के माध्यम से फैक्ट्री का दूषित वायु प्रवेश कर जाता है इससे स्वास से जुड़ी रोग होने की सम्भावना बढ़ जाती है। 

समाधान –

  • कारखानों के गंदे अपशिष्ट पदार्थों को जल में प्रवाहित करने के बजाए उसे भूमि में दफन करना चाहिए इससे वह स्वतः अपघटित हो जाएगा। 
  • फैक्ट्री से निकलने वाले गैस को नहीं रोका जा सकता किन्तु शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों से दूर कारखानों का निर्माण करके लोगों में इसके हानिकारक प्रभाव को कम किया जा सकता है।
  • स्वास्थ्य ही जीवन है पर निबंध हिंदी में
  • विद्यार्थी जीवन और अनुशासन पर निबंध
  • विद्यालय की प्रतिदिन की प्रक्रिया पर निबंध
  • बेरोजगारी पर निबंध हिंदी में  
  • मोबाइल फोन पर निबंध  
  • हिंदी में निबंध कैसे लिखा जाता है?
  • बसंत पंचमी पर निबंध
  • गर्मी की एक शाम पर निबंध हिंदी में  
  • पेड़ों की संरक्षण में युवाओं की भूमिका
  • पॉलिथीन पर निबंध इन हिंदी - प्लास्टिक प्रदूषण पर निबंध

निबंध 4: वनों की कटाई से पर्यावरण पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव

  • जब कच्चे पेड़ की डालियों को, वनों के वृक्ष को काटा जाता है तब इससे मौसम पर प्रभाव पड़ता है।
  • ऐसे इलाके जहां वन नहीं वहां पर वर्षा भी कम होती और भूमि बंजर हो जाता।
  • वनों की कटाई से वन कम हो रहे जिससे भूमि क्षरण हो रहा और उर्वरा शक्ति कम हो रही है।
  • अगर इसी तरह दुनिया के लोग जंगल की अंधाधुंध कटाई करेंगे तो हरियाली रेगिस्तान में बदल जायेगा।
  • जहां वृक्ष नहीं, वहां वर्षा नहीं, और जहां वर्षा ही नहीं होगी वहां पेड़ पौधों कैसे उगेंगे और मानव को शुद्ध ऑक्सीजन कैसे मिलेगा।
  • अगर वन नहीं रहेंगे तो पृथ्वी में कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा बढ़ेगी और मानव स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ेगा।
  • वनों की कटाई से वन्य प्राणी बेघर हो जायेंगे।
  • वातावरण बदल जायेगा, पृथ्वी तावें की तरह तपने लगेगी।
  • ग्लोबल वार्मिंग से स्वास्थ्य समस्याएं शुरू हो जाएगी।
  • जंगल कटते रहे तो लोग पानी के लिए तरसेंगे।

Related Posts

Post a comment, कोई टिप्पणी नहीं.

Please do not enter any spam link in the comment box.

Join our Telegram channel

Join our Telegram channel

  • Animals Essay
  • Birds Essay
  • Hindi Essay
  • Indian festivals
  • Sports Essay

Popular Essays

Search here, important pages, recent posts, popular posts.

पौष्टिक आहार पर निबंध - Paushtik Aahar Par Nibandh in Hindi

  • Privacy policy

Hindi Nibandh.in

Hindi Nibandh.in

संयुक्त परिवार पर निबंध | joint family hindi essay 200-500 words.

joint family hindi essay

100 Words - 150 Words 

संयुक्त परिवार हमारे समाज का आधार है । यह एक साथ रहने का सुंदर अनुभव प्रदान करता है । सभी सदस्यों के बीच नजदीकी और सम्मानभाव के संबंध होते हैं , जो समृद्धि और समृद्धि का कारण बनते हैं ।  

  संयुक्त परिवार में संवार्य ज़िम्मेदारी , खुशियां और दुख , सभी बांटे जाते हैं । विभिन्न पीढ़ियों के बीच बढ़ती प्रेम भावना अपने सदस्यों के लिए एक आशीर्वाद सा होती है ।  

  संयुक्त परिवार वैशिष्ट्य , संस्कृति और परंपरा का ध्येय रखता है । यह विभिन्न समस्याओं का सामना करने में मदद करता है और सदस्यों के आत्मविश्वास को बढ़ाता है । संयुक्त परिवार समाज की एकता और सद्भावना का प्रतीक है ।  

200 Words - 250 Words

संयुक्त परिवार भारतीय संस्कृति में एक प्राचीन पद्धति है जिसमें विभिन्न पीढ़ियों के सदस्य एक साथ रहते हैं। यह परंपरागत परिवार व्यवस्था साझेदारी, समरसता और समरसता की एक अच्छी मिसाल है। इसमें दादा-दादी, नाना-नानी, पिता, मां, चाचा-चाची, मामा-मामी, भाई, बहन और उनके बच्चे सभी एक ही छत के नीचे रहते हैं।  

संयुक्त परिवार में सदस्यों के बीच गहरा बंधन होता है। एक दूसरे के साथ समय बिताना, साथ मिलकर खाना खाना और खुशियों और दुखों को साझा करना इसे एक खास अनुभव बनाता है। संयुक्त परिवार में बड़े वयस्कों का सम्मान होता है और वे अनुभवशील उन्नति के साथ अपना मार्ग दिखाते हैं।

इस परंपरागत पद्धति के साथ-साथ कुछ चुनौतियां भी हैं, जैसे कि विभिन्न विचारधाराओं के साथ मिलजुलकर रहना और समान सोच नहीं होने पर मतभेद होना। हालांकि, सभी सदस्य एक दूसरे की बात सुनने के लिए तैयार होते हैं और समस्याओं को समाधान करने के लिए एकजुट होते हैं।  

संयुक्त परिवार एक समृद्ध और समरसता भरा अनुभव प्रदान करता है जो आज के व्यस्त और भागदौड़ भरे जीवन में एक आधार सा बनता है। इसमें एक-दूसरे का साथ देने के लिए प्रेम और समर्थन होता है, जो हर परिवार को संतुष्टि और समृद्धि की दिशा में आगे बढ़ने में मदद करता है।  

परिवार हर समाज का आधार होता है और विभिन्न सदस्यों के साथ एक साथ रहने का एक विशेष प्रकार का संगठन, जिसे संयुक्त परिवार कहा जाता है। यह एक पुरानी परंपरा है जो हमारे देश में विभिन्न राज्यों और संस्कृतियों में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती आई है।

संयुक्त परिवार एक विशेष रूप से भारतीय संस्कृति में प्रतिस्थापित परंपरा है, जो समृद्धि, सामाजिक समरसता और सम्मान को बढ़ावा देती है। यह निबंध संयुक्त परिवार के लाभ, उसकी महत्वपूर्ण गुण, और विभिन्न चुनौतियों के साथ जुड़े विषयों पर प्रकाश डालेगा।  

संयुक्त परिवार के लाभों में सबसे महत्वपूर्ण है एकता और समरसता का आनंद उठाने की क्षमता। इसमें बड़े और छोटे सदस्य सभी को एक साथ रहने का मौका मिलता है और इससे परिवार के सदस्यों में अच्छी समझदारी विकसित होती है। सभी सदस्यों को मिलकर प्रॉब्लम्स को सामने से उठाने और समस्याओं का सामना करने की क्षमता विकसित होती है, जो उन्हें अपने जीवन में आगे बढ़ने में मदद करती है। एक बड़े परिवार में रहने से सभी को विभिन्न विषयों पर ज्ञान और अनुभव का साझा करने का अवसर मिलता है, जिससे उनकी विकास और सीखने की क्षमता में सुधार होता है।  

संयुक्त परिवार के एक और महत्वपूर्ण लाभ है आर्थिक समरसता। बड़े परिवार में रहने से विभिन्न आर्थिक संसाधनों को साझा करने की आवश्यकता होती है, जो सभी सदस्यों को आर्थिक रूप से समर्थ बनाती है। आर्थिक समरसता के कारण, यह परिवार के सदस्यों को आपसी सम्बन्धों को मजबूत बनाता है और आर्थिक समस्याओं को सामने से उठाने की क्षमता प्रदान करता है। विभिन्न पीढ़ियों के अनुभवों का समूह होने के कारण, यह समझाने में भी मदद करता है कि परिवार के सदस्यों को आर्थिक प्रबंधन में कैसे सही निर्णय लेने होते हैं।  

संयुक्त परिवार में रहने से समाजिक समरसता और विशाल समुदाय के भाव को अनुभव करने का अवसर भी मिलता है। सभी सदस्य अलग-अलग वर्ग, जाति, धर्म और भाषा से संबद्ध होते हैं, और इससे समाज में विभिन्न संस्कृतियों के साथ मिलजुलकर रहने का मौका मिलता है। यह भावना, ताकत और समझदारी का आभास कराती है और समाज में विविधता को समृद्ध करती है। संयुक्त परिवार के सदस्य अपने समूह के प्रति अपने लोगों के साथ गहरा बंधन बनाते हैं और इससे एक अधिक समरसता भावना का विकास होता है।  

यहाँ तक कि धार्मिक और सांस्कृतिक आयाम भी संयुक्त परिवार के महत्व को बढ़ाते हैं। परिवार के लोग एक-दूसरे के साथ धार्मिक और सांस्कृतिक आयोजनों में भाग लेते हैं और इससे परिवार के सदस्यों के बीच धार्मिक एवं सांस्कृतिक समरसता और भावना बनी रहती है। इससे परिवार का एकजुट होने का आनंद मिलता है और सभी को आपसी सम्मान और आपसी समर्थन के साथ रहने का अवसर मिलता है।  

हालांकि, संयुक्त परिवार के अधिकांश लाभों के साथ, इसमें कुछ चुनौतियां भी होती हैं। एक बड़े परिवार में रहने से कई बार संबंधों में भ्रम होता है, और कई बार विभिन्न मानसिक तनाव उत्पन्न हो सकता है। सभी सदस्यों के बीच समझौते करने और सहमति पर पहुंचने में समय और मेहनत की आवश्यकता होती है। विभिन्न गलतफहमियों के कारण, कई बार संयुक्त परिवार में विवाद हो सकते हैं और इससे परिवार का वातावरण क्षयित हो सकता है।  

समारोह और अवसरों के समय, बड़े परिवार का प्रबंधन भी चुनौतीपूर्ण हो सकता है। इसमें सभी सदस्यों के साथ मिलवट बैठाने की कला और विशेषता के हिसाब से योजना बनाना मुश्किल हो सकता है।  

संयुक्त परिवार भारतीय संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और इसके लाभ और चुनौतियों का सामना करने की क्षमता हमारे समाज के आधारभूत सिद्धांतों को प्रदर्शित करती है। इसे समृद्ध, समरसता और सम्मान का प्रतीक माना जाता है, जो हमारे समाज को समृद्ध और सुखी बनाए रखता है। हालांकि, संयुक्त परिवार के सभी सदस्यों के सहयोग और समर्थन की आवश्यकता होती है, ताकि यह परंपरा हमारे भविष्य में भी बनी रह सके।  

Select Category

Select Category

Categories/श्रेणियाँ

  • 10 पंक्ति 2
  • 10 Lines in Hindi 2
  • 100 Words 90
  • 150 Words 82
  • 250 Words 90
  • 300 Words 55
  • 400 words 26
  • 500 words 74
  • त्योहारों पर निबंध 10
  • परिवार पर निबंध 1
  • पाठशाला 1
  • विज्ञान 1
  • essay in hindi for class 10 16
  • essay in hindi for class 9 16
  • Festival Essay In Hindi 11
  • freedom fighter essay in hindi 13
  • Freedom Fighters 2

निबंध के लिए अनुरोध

निबंध के लिए अनुरोध करने के लिए कृपया संपर्क फ़ॉर्म पर जाएं

Social Plugin

in your language!

Popular Posts

नारी शिक्षा पर निबंध | Nari Shiksha Par Nibandh 100-500 Words

नारी शिक्षा पर निबंध | Nari Shiksha Par Nibandh 100-500 Words

समय का सदुपयोग | Samay Ka Sadupyog Nibandh

समय का सदुपयोग | Samay Ka Sadupyog Nibandh

महंगाई पर निबंध | Mehangai Par Nibandh | 200-500 Words

महंगाई पर निबंध | Mehangai Par Nibandh | 200-500 Words

पेड़ की आत्मकथा पर निबंध | Autobiography of a Tree Hindi Essay 200-500 Words

पेड़ की आत्मकथा पर निबंध | Autobiography of a Tree Hindi Essay 200-500 Words

जल प्रदूषण हिंदी निबंध | Water Pollution Hindi Essay 100-500 Words

जल प्रदूषण हिंदी निबंध | Water Pollution Hindi Essay 100-500 Words

Menu footer widget.

  • Privacy Policy

200 words essay in hindi

25,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today

Here’s your new year gift, one app for all your, study abroad needs, start your journey, track your progress, grow with the community and so much more.

200 words essay in hindi

Verification Code

An OTP has been sent to your registered mobile no. Please verify

200 words essay in hindi

Thanks for your comment !

Our team will review it before it's shown to our readers.

200 words essay in hindi

  • Essays in Hindi /

Essay on Digital India in Hindi : डिजिटल इंडिया पर निबंध 100, 200 और 600 शब्दों में 

' src=

  • Updated on  
  • सितम्बर 11, 2023

Essay on Digital India in Hindi

डिजिटल इंडिया ग्रामीण क्षेत्रों में हाई-स्पीड इंटरनेट नेटवर्क प्रदान करने के लिए भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक पहल थी। डिजिटल इंडिया मिशन को 1 जुलाई 2015 को मेक इन इंडिया, भारतमाला, सागरमाला, स्टार्टअप इंडिया, भारतनेट और स्टैंडअप इंडिया सहित अन्य सरकारी योजनाओं के लाभार्थी के रूप लॉन्च किया गया था। डिजिटाइज़ेशन समय की मांग है। आईये जानें कुछ डिजिटल इंडिया पर निबंध (Essay on Digital India in Hindi) के कुछ सैंपल निबंध।  

This Blog Includes:

Essay on digital india in hindi 100 शब्दों में  , essay on digital india in hindi 200 शब्दों में, प्रस्तावना , डिजिटल इंडिया कार्यक्रम का विस्तार, डिजिटल इंडिया लक्ष्य , निष्कर्ष , डिजिटल इंडिया पर 10 लाइन्स , डिजिटल इंडिया स्लोगन .

100 शब्दों में डिजिटल इंडिया पर निबंध कुछ इस प्रकार है –

“डिजिटल इंडिया” एक महत्वपूर्ण नेतृत्वकारी पहल है, जिसका उद्देश्य भारत को डिजिटल प्लेटफार्म पर ले जाना है। इस पहल के तहत, सरकार ने डिजिटल सुविधाएँ प्रदान करने, डिजिटल शिक्षा को प्रोत्साहित करने और डिजिटल सर्विसेज को पहुंचाने के लिए अनेक कदम उठाए हैं। इससे नागरिकों को आसानी से विभिन्न सरकारी सेवाओं और जानकारी का उपयोग करने का मौका मिलता है। यह भारत को एक डिजिटल युग में आगे बढ़ने में मदद कर रहा है और साथ ही देश के विकास को गति दे रहा है। “डिजिटल इंडिया” का महत्व आज की तकनीकी दुनिया में बढ़ता जा रहा है और हमारे देश के साथ ही हम सभी के लिए भी एक मजबूत भविष्य बना रहा है। 

200 शब्दों में डिजिटल इंडिया पर निबंध कुछ इस प्रकार है –

“डिजिटल इंडिया” एक महत्वपूर्ण सरकारी पहल है जो भारत को डिजिटल युग में लाने का प्रयास कर रही है। भारत सरकार द्वारा डिजिटल इंडिया अभियान 1 जुलाई 2015 को शुरू किया गया था। इसका उद्देश्य भारतीय नागरिकों को इंटरनेट और डिजिटल प्रौद्योगिकी के जरिए सरकारी सेवाओं तक पहुंचना है।

“डिजिटल इंडिया” के तहत बड़े ही परिश्रम से डिजिटल सुविधाएँ प्रदान की जा रही हैं, जैसे कि जनधन योजना, आधार, डिजिटल रोजगार और डिजिटल विद्या। इससे गांवों और शहरों के लोग आसानी से सरकारी सेवाओं का उपयोग कर सकते हैं, जो समृद्धि और सुविधा की दिशा में महत्वपूर्ण है।

“डिजिटल इंडिया” के माध्यम से भारत में डिजिटल शिक्षा को भी प्रोत्साहित किया जा रहा है, जिससे तकनीकी ज्ञान और कौशलों का संवर्धन हो रहा है। इससे देश का विकास और सामाजिक न्याय में सुधार हो रहा है।

समापक रूप से, “डिजिटल इंडिया” भारत को ग्लोबल तकनीकी नागरिक बनाने की दिशा में कदम बढ़ा रहा है और देश के विकास को सुनिश्चित रूप से गति दे रहा है। इसका महत्व आजकल की तकनीकी दुनिया में और भी बढ़ रहा है और हमारे देश के लिए एक सशक्त भविष्य बनाने में मदद कर रहा है।

Essay on Digital India in Hindi 600 शब्दों में 

600 शब्दों में डिजिटल इंडिया पर निबंध कुछ इस प्रकार है –

भारत 2047 तक विकसित राष्ट्र बनने के लक्ष्य को लेकर आगे बढ़ रहा है। किसी भी देश के लिए डिजिटल अर्थव्यवस्था की मजबूती आज के वक्त में प्राथमिकता वाला मुद्दा है. डिजिटल अर्थव्यवस्था को मजबूत करके ही भारत विकसित राष्ट्र के लक्ष्य को हासिल कर सकता है। 

डिजिटल अर्थव्यवस्था की दिशा में भारत ने 8 साल पहले एक ऐसा फैसला लिया था, जिसकी बदौलत हम आज वैश्विक अर्थव्यवस्था के चमकते सितारे बन चुके हैं। एक जुलाई 2015 को देश में डिजिटल इंडिया कार्यक्रम की शुरुआत की गई थी। इस अभियान को और भी मजबूती देने की जरूरत है। इसी पहलू को ध्यान में रखकर भारत सरकार ने डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार का फैसला किया है। 

केंद्रीय कैबिनेट ने 16 अगस्त को डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार मंजूरी दे दी। इस पर 14, 903 करोड़ रुपये खर्च होंगे. डिजिटल इंडिया विस्तार के तहत पहले से जारी कार्यों को आगे बढ़ाया जाएगा। कुछ नए पहल भी होंगे।  बजट खर्च को वित्त वर्ष 2021-22 से 2025-26 तक पांच साल के लिए स्वीकार किया गया है। 

डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार का फैसला कुछ लाभ को रखकर किया गया है.  डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार के तहत कुछ लक्ष्य तय किए गए हैं. ये इस प्रकार हैं:

  • फ्यूचर स्किल प्राइम कार्यक्रम के तहत 6.25 लाख आईटी पेशेवरों को आधुनिक टेक्नोलॉजी के हिसाब से प्रशिक्षित कर उनके स्किल को बेहतर किया जाएगा। 
  • सूचना सुरक्षा और शिक्षा जागरूकता चरण (ISEA) कार्यक्रम के तहत 2.65 लाख लोगों को सूचना सुरक्षा के क्षेत्र में ट्रेनिंग दी जाएगी। 
  • राष्ट्रीय ज्ञान नेटवर्क (NKN) के आधुनिकीकरण के तहत इसमें 1,787 शिक्षण संस्थानों को जोड़ा जाएगा। 
  • डिजीलॉकर के तहत डिजिटल दस्तावेज सत्यापन की सुविधा अब  सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के साथ दूसरे संगठनों के लिए भी होगी। 
  • यूनिफाइड मोबाइल एप्लिकेशन फॉर न्यू एज गवर्नेंस (UMANG) ऐप पर फिलहाल 1,700 से ज्यादा सेवाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं।  अब इस निःशुल्क मोबाइल ऐप उमंग पर इनके अलावा 540 अतिरिक्त सेवाएं भी मुहैया कराई जाएंगी। 
  • डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार के तहत  टियर 2/3 शहरों में 1,200 स्टार्टअप्स को  वित्तीय मदद दी जाएगी। 
  • तीन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस उत्कृष्टता केंद्र बनाए जाएंगे, जो स्वास्थ्य, कृषि और टिकाऊ शहरों की ज़रूरतों पर आधारित होंगे। 
  • साइबर-जागरूकता पाठ्यक्रम चलाकर 12 करोड़ कॉलेज छात्रों को साइबर सुरक्षा को लेकर जागरूक किया जाएगा। 
  • साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में नई पहल शुरू की जाएगी. इसके तहत उपकरणों के विकास और राष्ट्रीय साइबर समन्वय केंद्र के साथ 200 से अधिक साइटों का एकीकरण किया जाएगा। 
  • राष्ट्रीय सुपर कंप्यूटर मिशन के तहत फिलहाल 18 सुपर कम्प्यूटर काम कर रहे हैं। डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार के तहत अब इस मिशन में 9 और सुपर कंप्यूटर जुड़ जाएंगे. भारत सरकार ने मार्च, 2015 में राष्ट्रीय सुपर कंप्यूटर मिशन के तहत 4,500 करोड़ रुपये की लागत से 2022 तक 70 सुपर कंप्यूटर स्थापित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। 
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए बहु-भाषा अनुवाद उपकरण ‘भाषिणी’  को सभी 22 अनुसूची और 8 भाषाओं में शुरू किया जाएगा। फिलहाल ये 10 भाषाओं में उपलब्ध है। 

भारत में फ्यूचर डिजिटल टेक का विस्तार हो, इसमें स्पेस, मैपिंग, ड्रोन, गेमिंग और एनिमेशन की भूमिका काफी ज्यादा रहने वाली है। यही कारण है कि केंद्र सरकार इन क्षेत्रों में इनोवेशन को लगातार बढ़ावा दे रही है. इसके लिए नीतिगत कदम के साथ आर्थिक सहायता भी मुहैया कराया जा रहा है। IN-SPACe और नई ड्रोन पॉलिसी जैसे कदमों से अगले 10 साल में भारत के टेक पोटेंशियल को नई ऊर्जा मिलने की भरपूर संभावना है। डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के विस्तार में इन बातों का भी ख्याल रखा गया है। 

Essay on Digital India in Hindi

  • “डिजिटल इंडिया” भारत सरकार की महत्वपूर्ण पहल है। 
  • यह भारत को तकनीकी विकास की ओर अग्रसर करने का प्रयास कर रही है। 
  • इसका उद्देश्य भारत को डिजिटल और तकनीकी युग में ले जाना है।
  • डिजिटल इंडिया के अंतर्गत, सरकार ने इंटरनेट कनेक्टिविटी को बढ़ावा दिया है। 
  • इस पहल से गांवों और शहरों के लोग डिजिटल सेवाओं और जानकारी का आसानी से उपयोग कर सकते हैं।
  • इस पहल के तहत, आधार, जनधन योजना, डिजिटल बैंकिंग, और डिजिटल पेमेंट्स जैसी डिजिटल सेवाएँ भी प्रदान की जा रही हैं।
  • डिजिटल इंडिया ने भारतीय शिक्षा प्रणाली में भी तकनीकी सुधार किया है और डिजिटल शिक्षा को प्रोत्साहित किया है। 
  • इस पहल से भारत के नागरिकों को आर्थिक सुरक्षा में सुधार हुआ है और उन्हें अधिक सुविधाएँ मिल रही हैं।
  • “डिजिटल इंडिया” भारत को तकनीकी दुनिया में गर्वित स्थिति दिलाने का माध्यम बन चुका है और देश के विकास को सुदृढ़ करने में महत्वपूर्ण योगदान कर रहा है।
  • डिजिटल इंडिया का महत्त्व आजकल की तकनीकी दुनिया में और भी बढ़ रहा है और हमारे देश के लिए एक सशक्त भविष्य बनाने में मदद कर रहा है।
  • “डिजिटल इंडिया, डिजिटल भविष्य!”
  • “डिजिटल इंडिया: तकनीकी सुविधा सभी के लिए!”
  • “बदल रहा है भारत, डिजिटल इंडिया के साथ!”
  • “डिजिटल इंडिया, समृद्धि की ओर कदम बढ़ाता है!”
  • “स्मार्ट इंडिया, डिजिटल इंडिया!”
  • “डिजिटल इंडिया: तकनीकी क्रांति का प्रतीक!”
  • “जुड़ो और बढ़ो, डिजिटल इंडिया के साथ!”
  • “आओ, हम सभी बनाएं डिजिटल इंडिया!”
  • “डिजिटल इंडिया, हमारी पहचान!”
  • “तकनीक का जादू, डिजिटल इंडिया के साथ है!”

डिजिटल इंडिया भारत सरकार का एक पहल है जिसका मुख्य उद्देश्य डिजिटल सूचना प्रौद्योगिकी का प्रयोग करके भारत को आगे बढ़ाना है। इसका उद्देश्य डिजिटल अद्यतन तकनीकी और सभी नागरिकों को डिजिटल जीवन के साथ मिलाने का है।

डिजिटल इंडिया के तहत कई मुख्य योजनाएँ हैं, जैसे कि Digital India Platform, BharatNet, e-Governance, Digital Locker, e-Hospital, e-Sign, और अन्य। ये योजनाएँ इलेक्ट्रॉनिक सरकार की दिशा में कई उपायों के साथ सरकार की सेवाओं को डिजिटल रूप से पहुँचाने का काम करती हैं।

BharatNet भारत सरकार की एक योजना है जिसका उद्देश्य गांवों और शहरों को उच्च गति वाले इंटरनेट कनेक्टिविटी से जोड़ना है। इसके तहत फाइबर ऑप्टिक केबल और वायरलेस तकनीक का प्रयोग किया जाता है ताकि अधिक लोग डिजिटल जीवन का आनंद ले सकें।

Digital Locker एक डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म है जो नागरिकों को उनके महत्वपूर्ण दस्तावेज़ (जैसे कि पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी, आदि) को डिजिटल रूप में सुरक्षित रखने की सुविधा प्रदान करता है।

e-Governance सरकारी सेवाओं को इलेक्ट्रॉनिक तरीके से प्रदान करने की प्रक्रिया को संदर्भित करता है। इसका मुख्य उद्देश्य सरकारी सेवाओं को नागरिकों के लिए अधिक पहुँचने और ट्रांसपैरेंट बनाना है।

आप डिजिटल इंडिया के अधिकारी वेबसाइट पर जा कर अपना आवेदन जमा कर सकते हैं और वहां से इसके विभिन्न योजनाओं और सेवाओं का उपयोग कर सकते हैं। आप अपने स्थानीय सरकारी निकायों से भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

यह था डिजिटल इंडिया पर निबंध, Essay on Digital India in Hindi पर हमारा ब्लॉग। इसी तरह के अन्य निबंध से सम्बंधित ब्लॉग्स पढ़ने के लिए Leverage Edu के साथ बनें रहें।

' src=

विशाखा सिंह

A voracious reader with degrees in literature and journalism. Always learning something new and adopting the personalities of the protagonist of the recently watched movies.

प्रातिक्रिया दे जवाब रद्द करें

अगली बार जब मैं टिप्पणी करूँ, तो इस ब्राउज़र में मेरा नाम, ईमेल और वेबसाइट सहेजें।

Contact no. *

200 words essay in hindi

Leaving already?

8 Universities with higher ROI than IITs and IIMs

Grab this one-time opportunity to download this ebook

200 words essay in hindi

How would you describe this article ?

Please rate this article

We would like to hear more.

Connect With Us

20,000+ students realised their study abroad dream with us. take the first step today..

200 words essay in hindi

Resend OTP in

200 words essay in hindi

Need help with?

Study abroad.

UK, Canada, US & More

IELTS, GRE, GMAT & More

Scholarship, Loans & Forex

Country Preference

New Zealand

Which English test are you planning to take?

Which academic test are you planning to take.

Not Sure yet

When are you planning to take the exam?

Already booked my exam slot

Within 2 Months

Want to learn about the test

Which Degree do you wish to pursue?

When do you want to start studying abroad.

September 2023

January 2024

What is your budget to study abroad?

  • School & Boards
  • College Admission
  • Govt Jobs Alert & Prep
  • Current Affairs
  • GK & Aptitude
  • articles in hindi

गाँधी जयंती पर निबंध:  Gandhi Jayanti per Nibandh Hindi Me [2023]

Gandhi jayanti essay in hindi: 2 अक्टूबर भारतीयों और दुनिया भर के लोगों के लिए एक विशेष अवसर है। भारत में, हम इस दिन को गांधी जयंती के रूप में मनाते हैं जबकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसे 'अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस' (international day of non violence) के रूप में मनाया जाता है। इस आर्टिकल में school students के लिए गांधी जयंती पर 100, 200 और 500 शब्दों में निबंध दिया गया है।.

Pragya Sagar

गांधी जयंती पर निबंध कैसे लिखें?

  • एक अच्छा निबंध लिखने का रहस्य आसान है: इसे संक्षिप्त, सरल रखें।
  • अपने निबंध को तीन भागों में बाँटें: परिचय, मुख्य भाग और निष्कर्ष।
  • अपने निबंध की शुरुआत महात्मा गांधी quote या slogan से करें।
  • पहले पैराग्राफ में महात्मा गांधी और गांधी जयंती समारोह का परिचय दें।
  • गांधी जी के जीवन और कार्य पर विस्तार से प्रकाश डालें।
  • गांधी जयंती मनाने के महत्व के बारे में बात करते हुए समापन करें।

गांधी जयंती जीवन परिचय

  • मोहनदास करमचंद गाँधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को पोरबंदर, गुजरात के एक सामान्य परिवार में हुआ था। 
  • उनके पिता का नाम करमचंद गाँधी एवं उनकी माता का नाम पुतलीबाई था। 
  • माता पुतलीबाई धार्मिक स्वभाव की थीं एवं पिता करमचंद बहुत सज्जन थे और इसका गांधीजी के व्यक्तित्व पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ा| 
  • गाँधीजी ने प्राथमिक और उच्च शिक्षा गुजरात में प्राप्त की। 
  • बापू बचपन में एक साधारण छात्र थे| 
  • स्वभाव से गांधीजी अत्यधिक शर्मीले एवं संकोची थे।
  • उन्होंने अपने असाधारण कार्यों एवं अहिंसावादी विचारों से केवल भारत देश की नहीं बल्कि पूरे विश्व की सोच बदल दी। 
  • उनके जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में 2 अक्टूबर को विषा शांति दिवस मनाया जाता है| 

गांधी जी द्वारा बताई गई कुछ प्रसिद्ध सूक्तियां

  • "ईमानदार मतभेद आम तौर पर प्रगति के स्‍वस्‍थ संकेत हैं।"
  • "आजादी का कोई अर्थ नहीं है यदि इसमें गलतियां करने की आजादी शामिल न हों।"
  • "उस प्रकार जिएं कि आपको कल मर जाना है। सीखें उस प्रकार जैसे आपको सदा जीवित रहना हैं।"
  • "अहिंसा सबसे बड़ा कर्तव्‍य है। यदि हम इसका पूरा पालन नहीं कर सकते हैं तो हमें इसकी भावना को अवश्‍य समझना चाहिए और जहां तक संभव हो हिंसा से दूर रहकर मानवता का पालन करना चाहिए।"
  • "बेहतर है कि हिंसा की जाए, यदि यह हिंसा हमारे दिल में हैं, बजाए इसके कि नपुंसकता को ढकने के लिए अहिंसा का शोर मचाया जाए।"
  • "आपको मानवता में विश्‍वास नहीं खोना चाहिए। मानवता एक समुद्र है, यदि समुद्र की कुछ बूंदें सूख जाती है तो समुद्र मैला नहीं होता।"
  • "व्‍यक्ति को अपनी बुद्धिमानी के बारे में पूरा भरोसा रखना बुद्धिमानी नहीं है। यह अच्‍छी बात है कि याद रखा जाए कि सबसे मजबूत भी कमजोर हो सकता है और बुद्धिमान भी गलती कर सकता है।"

100 शब्दों में गाँधी जयंती पर निबंध: Essay on Gandhi Jayanti in 100 Words

हर साल 2 अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती भारत में गाँधी जयंती के रूप में मनाई जाती है. ईस्ट इंडिया कंपनी के शासन को समाप्त करने के लिए लड़ाई लड़ने में बापू के योगदान को याद करने के लिए यह दिन पूरे देश में बड़े शौक के साथ मनाया जाता है।

200 शब्दों में गाँधी जयंती पर निबंध: Gandhi Jayanti Essay in English 200 Words

2 अक्टूबर को भारत में महात्मा गांधी की जन्मजयंती मनाई जाती है, जिन्हें अधिकांश विश्व में "गांधी" के रूप में जाना जाता है। उन्होंने अहिंसा का प्रचार किया और दुनिया को यह सिखाया कि शब्दों की ताकत से बुराइयों को अच्छाइयों में बदला जा सकता है। यह दिन भारत में गांधी जयंती के रूप में मनाया जाता है और विश्वभर में 'अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस' के रूप में मान्यता प्राप्त है, क्योंकि उन्होंने अहिंसावादी स्वतंत्रता संग्राम का प्रमुख योगदान दिया।

500 शब्दों में गाँधी जयंती पर निबंध: Essay on Gandhi Jayanti in 500 Words

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती मनाने के लिए भारत हर साल 2 अक्टूबर को गांधी जयंती मनाता है। ईस्ट इंडिया कंपनी के शासन को समाप्त करने और भारत के आम लोगों की उनके अधिकारों, खुशी और जीवन के लिए लड़ाई लड़ने में बापू के योगदान को याद करने के लिए यह दिन पूरे देश में बड़े शौक और भक्ति के साथ मनाया जाता है।

2 अक्टूबर 2023 को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 154वीं जयंती समारोह है। उन्हें यह उपाधि एक अन्य प्रमुख भारतीय स्वतंत्रता सेनानी, नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा दी गई थी। गांधी जयंती भारत में हासिल की गई महान उपलब्धियों, गांधी द्वारा भारतीय लोगों के साथ लड़ी गई बड़ी लड़ाइयों और बुराई पर अच्छाई का प्रतिबिंब है। गांधीजी ने न केवल भारत को ईस्ट इंडिया कंपनी के दुष्ट शासन से मुक्त कराया, बल्कि उन्होंने भारतीय समाज के सामाजिक मुद्दों के खिलाफ भी लड़ाई लड़ी। उन्होंने हमें आत्मनिर्भरता, साहस, अहिंसा, सादगी, महिला सशक्तिकरण और शिक्षा की शक्ति सिखाई।

महात्मा गांधी की जयंती मनाने के लिए डाकघर, बैंक, स्कूल और अन्य सभी महत्वपूर्ण स्थान दिन बंद रखे जाते हैं। इस दिन शराब और मांस का सेवन भी बापू के सम्मान में वर्जित है. मूर्तियों, सड़कों और बापू के जीवन से संबंधित महत्वपूर्ण स्थानों, जैसे साबरमती आश्रम, राजघाट, इत्यादि को फूलों से सजाया जाता है। उनका पसंदीदा भजन, रघुपति राघव राजा राम स्कूल असेंबली और देश भर में जहां भी गांधी जयंती मनाई जाती है, वहां बजाया जाता है।

भारत के ऐतिहासिक अतीत और क्रांतिकारी आंदोलनों को आकार देने में महात्मा गांधी की महत्वपूर्ण भूमिका को देखते हुए, गांधी जयंती को भारत में एक त्योहार के रूप में मनाया जाता है। यह भव्य उत्सव देश के सम्मानित नेताओं और स्वतंत्रता सेनानियों को प्रमुख महत्व देने और उनसे सर्वश्रेष्ठ प्राप्त करने के लिए अतीत के संघर्षों का सम्मान करने में भारतीयों की खुशी और भक्ति का प्रतीक है।

गांधीजी एक प्रमुख और प्रशंसित अंतर्राष्ट्रीय व्यक्तित्व थे, इसलिए संयुक्त राष्ट्र ने गांधी के महत्वपूर्ण दर्शन और अहिंसक सिद्धांत को चिह्नित करने के लिए 2 अक्टूबर को 'अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस' के रूप में घोषित किया है। भारत सरकार इस शुभ अवसर पर देश में गांधी से संबंधित स्थानों पर स्मारक सेवाओं और श्रद्धांजलि का आयोजन करती है। देश के उन नागरिकों को पुरस्कार और बैज प्रदान किए जाते हैं जिन्होंने राष्ट्र के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

देश भर के स्कूल विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करते हैं जैसे निबंध प्रतियोगिताएं, भाषण प्रतियोगिताएं, कविता प्रतियोगिताएं, नाटक,  पोस्टर बनाने की प्रतियोगिताएं, ड्राइंग और पेंटिंग प्रतियोगिताएं, स्वच्छता या वृक्षारोपण अभियान, आदि। इन सभी गतिविधियों का उद्देश्य महात्मा गांधी के बारे में ज्ञान प्रदान करना और भारत को ब्रिटिश शासन से मुक्त कराने में भारत के स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्षों के बारे में सिखाना है।

आप जागरण जोश पर सरकारी नौकरी , रिजल्ट , स्कूल , सीबीएसई और अन्य राज्य परीक्षा बोर्ड के सभी लेटेस्ट जानकारियों के लिए ऐप डाउनलोड करें।

  • गांधी जयंती सरल शब्दों में क्या है? + हर साल 2 अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती भारत में गाँधी जयंती के रूप में मनाई जाती है.
  • गांधी जयंती पर निबंध कैसे लिखें? + एक अच्छा निबंध लिखने का रहस्य आसान है: इसे संक्षिप्त, सरल रखें। अपने निबंध को तीन भागों में बाँटें: परिचय, मुख्य भाग और निष्कर्ष। अपने निबंध की शुरुआत महात्मा गांधी quote या slogan से करें।
  • रुक जाना नहीं एडमिट कार्ड 2024
  • बिहार टीचर आंसर की 2023
  • बिहार पुलिस एसआई एडमिट कार्ड 2023
  • ISRO असिस्टेंट एडमिट कार्ड 2023
  • एमपीपीएससी एडमिट कार्ड 2023

Related Stories

बाल दिवस पर भाषण: Children’s Day Speech in Hindi

बाल दिवस पर कविताएं: Children’s Day Poems in Hindi

दि‍वाली पर हिंदी में कविताएँ: Diwali Poems in Hindi [2023]

Trending Categories

Latest education news.

You need to have extra-sharp eyes to find the woman’s husband near the lake in 8 seconds.

UP Board Class 10 Exam Date 2024: Check UP Board Class 10 Time Table, Date Sheet @upmsp.edu.in

ICSE Date Sheet 2024: ICSE Class 10 Exam Dates, Time Table Soon at cisce.org Download PDF

AFCAT Syllabus: यहाँ देखें एएफसीएटी पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न

ISRO Assistant Cutoff 2023: Category-wise Expected and Previous Year Cutoff

दिल्ली का सबसे लंबा पुल कौन सा है, जानें

Kerala University Result 2023 OUT: Direct Link to Download UG and PG Markesheet at exams.keralauniversity.ac.in

Current Affairs Quiz In Hindi: 07 दिसंबर 2023- तेलंगाना के नए मुख्यमंत्री

CBSE Class 10 Science Question Paper 2023 PDF with Answer Key

AP Board Date Sheet 2024: Andhra Pradesh Board 10th, 11th and 12th Exam Schedule PDF

BPSC TRE 2.0 2023 Question Paper (7 Dec): डाउनलोड करें सेट A, B, C और D के लिए बिहार टीचर पेपर पीडीएफ

Bihar B.Ed Primary Teachers Appointment Canceled: Patna High Court Invalidated Appointments.

ISRO Assistant Previous Year Question Paper: PDF Download

Fast Percentage Calculations in Mind Using Mental Maths

MPSC Recruitment 2023 Notification For 765 Assistant Professor Vacancies, Apply Online

Simple and Easy Tricks to Remember Trigonometric Formulas and Table

MPPSC Admit Card 2023: Download Link for MP PCS Call Letter to Release Tomorrow

Only People With Keen Eyesight Can Spot The Hidden Animal In 11 Seconds!

BPSC TRE 2 Question Paper 2023: Download Bihar Teacher 7 Dec Papers for SET A B C D

Gemini AI: गूगल ने लांच किया अपना सबसे बड़ा AI मॉडल Gemini, क्या यह Chat GPT से है बेहतर?

IMAGES

  1. हिंदी दिवस पर निबंध/Hindi Diwas par Nibandh Writing

    200 words essay in hindi

  2. दीपावली पर 200

    200 words essay in hindi

  3. 👍 200 words essay. 200 words essay on summer vacation questions and answers in hindi. 2019-02-05

    200 words essay in hindi

  4. 10 tips to write a great 200-word essay

    200 words essay in hindi

  5. 👍 200 words essay. 200 words essay on summer vacation questions and answers in hindi. 2019-02-05

    200 words essay in hindi

  6. Best Way To Write Essay In Hindi

    200 words essay in hindi

VIDEO

  1. हमारा देश। Hindi writing practice through paragraph for beginners and kids/Hindi learning

  2. Learn English in Hindi : 5 Essay Writing Topics

  3. 5 Lines on Chandrayaan-3 : The Successful Moon Dream of India Easy Simple 10 Lines Speech Essay kids

  4. (1) Hindi writing practice through paragraph for beginners and kids/ हिन्दी के शब्दों को लिखना।

  5. सम्राट बाबर। Hindi writing practice through paragraph for beginners and kids

  6. Essay on Diwali #essay#paragraph#Diwali#trends#viral

COMMENTS

  1. How Long Is a 500-Word Essay?

    A 500-word essay averages two double-spaced pages. The length of a document depends on the paper and margin sizes as well as the general text formatting.

  2. How Long Is a 200 Word Essay?

    An essay containing 200 words is limited in length, requiring between three and five paragraphs depending on the sentence structure and vocabulary used. An essay is a short piece of writing about a particular topic.

  3. How Many Pages Typed Is a 500-Word Essay?

    A 500-word essay is approximately one page single-spaced, or two pages double-spaced. This approximation assumes a common, 12-point font with 1-inch margins on standard printing paper.

  4. 200- 400 Words Hindi Essays, Notes, Articles, Debates, Paragraphs

    अक्टूबर माह के प्रमुख दिवस (Important Days and Dates in October Month) अगस्त माह के प्रमुख दिवस (Important Days and Dates in August M...

  5. ‎हिन्दी निबंध

    यहाँ विभिन्न विषयों पर ‎हिन्दी निबंध (Hindi Essay) प्राप्त करें जो आपके बच्चे और कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 और 12 के विद्यार्थियों

  6. Essay in Hindi)

    हिंदी निबंध (Hindi Nibandh/ Essay in Hindi) - हिंदी निबंध की तैयारी उम्दा होने पर न केवल ज्ञान का दायरा विकसित होता है बल्कि

  7. पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध: Essay on Pollution

    प्रदूषण पर निबंध 200 शब्द (Pollution Essay 200 Words in Hindi). प्रदूषण का सीधा संबंध प्रकृति से मानते हैं, लेकिन यह सिर्फ किसी भी एक चीज़ को

  8. मेरा देश भारत विषय पर 200 शब्दों का निबंध लिखिए

    भारतवर्ष में विभिन्नता में भी एकता है। हर क्षेत्र से यह एक महत्वपूर्ण देश है। भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा है। इसमें तीन रंग है -

  9. पर्यावरण पर निबंध 200 शब्द

    पर्यावरण पर निबंध 200 शब्द - Paryavaran par nibandh 200 words आसान शब्दों में. 200-words-essay, Hindi Essay. नमस्कार, आज इस लेख में

  10. मेले पर निबन्ध

    मेला एक मनोहारी और रंगीन अनुभव होता है जिसमें सभी उम्र के लोग शामिल हो सकते हैं। यह लोगों को एक-दूसरे से मिलवाने, नई चीजें

  11. संयुक्त परिवार पर निबंध

    संयुक्त परिवार एक समृद्ध और समरसता भरा अनुभव प्रदान करता है जो आज के व्यस्त और भागदौड़ भरे जीवन में एक आधार सा

  12. Essay on Digital India in Hindi : डिजिटल इंडिया पर निबंध 100, 200 और

    Essay on Digital India in Hindi : डिजिटल इंडिया पर 10 लाइन्स, डिजिटल इंडिया पर निबंध 100, 200 और 600 शब्दों में पढ़ें इस ब्लॉग

  13. हिंदी दिवस पर निबंध हिन्दी में

    हिंदी दिवस (Hindi diwas par nibandh in 200 words) राष्ट्रीय महत्व का दिन है। प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को मनाया जाता है, यह वह

  14. Gandhi Jayanti Essay in Hindi 2023: महात्मा गाँधी जयंती पर निबंध हिंदी में

    200 शब्दों में गाँधी जयंती पर निबंध: Gandhi Jayanti Essay in English 200 Words ... 2 अक्टूबर को भारत में महात्मा गांधी की जन्मजयंती